1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. hazaribagh
  5. jharkhand news jmm leaders postponed syndicate meeting at vinoba bhave university nomination not done for 11 months smj

विनोबा भावे यूनिवर्सिटी में सिंडिकेट बैठक को JMM नेताओं ने कराया स्थगित, 11 महीने से नहीं हुआ मनोनयन

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news : विनोबा भावे यूनिवर्सिटी, हजारीबाग में सिंडिकेट का पद खाली होने से नहीं हुई बैठक.
Jharkhand news : विनोबा भावे यूनिवर्सिटी, हजारीबाग में सिंडिकेट का पद खाली होने से नहीं हुई बैठक.
फाइल फोटो.

Jharkhand News, Hazaribagh News, हजारीबाग : विनोबा भावे यूनिवर्सिटी, हजारीबाग सिंडिकेट की बैठक JMM नेताओं ने स्थगित करा दिया. यूनिवर्सिटी में गुरुवार को सिंडिकेट की बैठक होना था. झामुमो नेता कमल नयन सिंह समेत कई नेता यूनिवर्सिटी पहुंचकर सिंडिकेट बैठक स्थगित करने की मांग किया. कुलपति डॉ मुकुल नारायण देव को ज्ञापन सौंपकर मांग किया कि झारखंड सरकार और राज्यपाल द्वारा नामित सिंडिकेट सदस्य की नियुक्ति होने तक बैठक को स्थगित किया जाये. JMM नेताओं की मांग पर यूनिवर्सिटी ने सिंडिकेट बैठक को अगले आदेश तक स्थगित कर दिया.

क्या है मामला

विनोबा भावे यूनिवर्सिटी में 24 फरवरी, 2020 से 7 सिंडिकेट का पद खाली है. झारखंड सरकार को 5 सिंडिकेट सदस्य और राज्यपाल को 4 सिंडिकेट सदस्य मनोनीत करना है. पिछले 11 माह से सिंडिकेट सदस्य का मनोनयन नहीं हुआ है. इसी को आधार बना कर JMM नेताओं ने सिंडिकेट की बैठक को स्थगित करने की मांग कुलपति डॉ मुकुल नारायण से की थी.

सिंडिकेट बैठक रद्द होने से कई काम रुके

विनोबा भावे यूनिवर्सिटी में 5 साल बाद नैक की टीम मई- जून माह में आनेवाली है. इसको लेकर यूनिवर्सिटी को कई निर्णय लेना है. शिक्षक- शिक्षिकेतर कर्मियों को लेकर राज्य सरकार को प्रस्ताव भेजना है. यूनिवर्सिटी परीक्षा कैलेंडर, इंजीनियरिंग लॉ कॉलेज एवं कई व्यावसायिक संस्थानों के नामांकन पर निर्णय होना था. एकेडमिक काउंसिल द्वारा पारित नये पाठ्यक्रम को लागू करने का निर्णय होना था. बैठक स्थगित होने से सभी कार्य रूक गये हैं.

बैठक लगातार स्थगित होने से यूनिवर्सिटी के कामकाज पर पड़ेगा असर : कुलपति

इस संबंध में कुलपति डॉ मुकुल नारायण देव ने कहा कि झामुमो नेताओं से कहा गया है कि सरकार से शीघ्र सिंडिकेट सदस्य मनोनीत कराये. बैठक लगातार स्थगित होने से यूनिवर्सिटी का कामकाज पर असर पडेगा. इससे छात्रों को भी भारी नुकसान का सामना करना पड़ेगा.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें