1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. hazaribagh
  5. jharkhand news elephant gave birth to a child in the murli pahar of barkagaon in hazaribagh the ranger said villagers avoid coming to this area for the time being smj

बड़कागांव के मुरली पहाड़ में हथिनी ने बच्चे को दिया जन्म,रेंजर बोले- ग्रामीण फिलहाल इस क्षेत्र में आने से बचें

हजारीबाग जिला अंतर्गत बड़कागांव के मुरली पहाड़ स्थित नाला के पास हथिनी ने बच्चे को जन्म दिया. नवजात की सुरक्षा के लिए 12 हाथियों का झुंड यहां जमा है. रेंजर छोटे लाल साव ने ग्रामीणों को इस क्षेत्र में आने से सावधानी बरतने की अपील की है. वर्ना हाथियों का झुंड उसे नुकसान पहुंचा सकता है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
हजारीबाग के बड़कागांव स्थित मुरली पहाड़ के पास हथिनी ने बच्चे को दिया जन्म.
हजारीबाग के बड़कागांव स्थित मुरली पहाड़ के पास हथिनी ने बच्चे को दिया जन्म.
प्रभात खबर.

Jharkhand News (संजय सागर, बड़कागांव, हजारीबाग) : हजारीबाग जिला अंतर्गत बड़कागांव वन क्षेत्र के नापोकलां पंचायत के मुरली पहाड़ के पास एक हथिनी ने बच्चे को जन्म दी है. नवजात हाथी के बच्चे एवं उसकी मां को चारों ओर से सुरक्षा के घेरे में 12 हाथी लगे हुए हैं. इस संबंध में रेंजर छोटे लाल साव ने बताया एक हथिनी ने एक बच्चे को जन्म दिया है. यह वन क्षेत्र के लिए खुशी की बात है. वहीं, ग्रामीण दो बच्चों के जन्म की बात कह रहे हैं.

रेंजर श्री साव ने कहा कि जब हमलोगों को सूचना मिली कि नापोकलां क्षेत्र में हाथियों ने दस्तक दी है, तो गत 11 अक्टूबर के शाम में गये, तो हाथी के बच्चे की रोने की आवाज आयी. उसी से हमलोगों पता लगा कि यह हाथी का प्रसव पीड़ा है और बड़कागांव वन क्षेत्र के लिए बड़े सौभाग्य की बात है हथिनी ने बच्चे को जन्म दिया है.

उन्होंने बताया कि हाथी अपने बच्चा को जन्म देने के बाद पूरा सुरक्षा पर ध्यान देता है. उसके साथ झुंड में जितने भी हाथी हैं, सभी चारों ओर से घेरे हुए है. ऐसी परिस्थिति में किसी भी व्यक्ति को उनके आस- पास जाना खतरा हो सकता है. उन्होंने ग्रामीणों से आग्रह किया है कि जिस क्षेत्र में हाथी रुके हुए हैं, वहां कोई नहीं जाये क्योंकि अपने बच्चों की बचाव के लिए हाथी का झुंड नुकसान भी पहुंचा सकता है.

रेंजर श्री साव ने बताया कि प्रसव पीड़ा के बाद नॉर्मल होने में हथिनी को कुछ दिन लगेगा. जब हथिनी नॉर्मल हो जायेगी, तभी वहां से हाथी हटेंगे. ग्रामीणों के अनुसार, एक हथिनी ने दो बच्चे को जन्म दिया है. जंगल जाने के दौरान ग्रामीणों ने देखा. हाथियों की चिंघाड़ से वे सभी वहां से भाग गये थे.

मुरली पहाड़ के नाला के पास जमे हैं हाथी

मुखिया प्रतिनिधि चंद्रिका साव ने बताया कि मुरली पहाड़ के नाला के पास हाथी जमे हुए हैं. वहां एक हथिनी बच्चे को जन्म दिया है. वह बच्चा हाथियों के बीच में है. हाथी उस स्थान पर 3 दिनों से जमे हुए हैं. मालूम हो कि एक माह पहले भी बड़कागांव में ही एक हथिनी ने एक बच्चे को जन्म दी थी. उस समय भी हाथी इसको जंगल में 7 दिनों तक जमे हुए थे.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें