1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. hazaribagh
  5. hazaribaghs mazharuddin injured in stone pelting 2 groups died during treatment 4 including mukhiya arrested smj

दो गुटों के बीच संघर्ष में घायल हजारीबाग के मजहरुद्दीन की इलाज के दौरान हुई मौत, मुखिया सहित 4 गिरफ्तार

हजारीबाग के चयकला में दो गुटों के बीच हुए संघर्ष में घायल एक व्यक्ति की मौत इलाज के दौरान हो गयी. इलाज रांची में चल रहा था. मामूली विवाद के कारण दो गुटों के बीच जमकर पत्थरबाजी हुई थी. इस मामले में पुलिस ने मुखिया समेत 4 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Jharkhand news: दो गुटों के बीच संघर्ष में मजहरुद्दीन की मौत मामले में मुखिया सफालद्दीन गिरफ्तार.
Jharkhand news: दो गुटों के बीच संघर्ष में मजहरुद्दीन की मौत मामले में मुखिया सफालद्दीन गिरफ्तार.
प्रभात खबर.

Jharkhand crime news: हजारीबाग जिले के चौपारण प्रखंड स्थित चयकला पंचायत क्षेत्र में पिछले दिनों दो गुटों के बीच हुए संघर्ष में गंभीर रूप से घायल मजहरुद्दीन शाह (50 वर्ष) की मौत इलाज के दौरान 26 जनवरी को रांची में हो गयी. मौत की खबर क्षेत्र में आग की तरह फैल गयी. पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए आरोपी मुखिया मो सफाउद्दिन उर्फ सफाल, मो जफर इकबाल उर्फ बुल्लू, मो समर इकबाल उर्फ गागा और मो अदनान उर्फ मैना को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

क्या है मामला

मामूली विवाद को लेकर मजहरुद्दीन शाह एवं वहालउद्दीन के बीच झगड़ा हुआ था. बात बढ़ते-बढ़ते दोनों तरफ से पत्थरबाजी होने लगी. घटना में दोनों पक्ष से दर्जन भर लोग घायल हुए. घायलों का इलाज सामुदायिक अस्पताल में हुआ. इलाज के बाद गंभीर रूप से घायल मजहरुद्दीन शाह को बेहतर इलाज के लिए रांची रेफर कर दिया गया. जहां इलाज के दौरान मजहरुद्दीन शाह की मौत हो गयी.

घटना के बाद अलग-अलग मामला हुआ दर्ज

इस घटना के बाद एक पक्ष के आवेदन पर मुखिया सफालउद्दीन निजामी सहित 30 लोगों को नामजद आरोपी बनाया गया. वहीं, दूसरे पक्ष के आवेदन पर 5 लोगों को नामजद एवं 50 अज्ञात लोग पर मामला दर्ज हुआ. थाना प्रभारी स्वप्न कुमार महतो ने बताया कि दोनों तरफ से मामला दर्ज हुआ है. इस मामले में 4 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है.

कैसे बढ़ा विवाद

एक माह पूर्व नाली में बच्चे के गिर जाने को लेकर विवाद हुआ था. उस समय भी दोनों तरफ से जमकर पत्थरबाजी हुई थी. मामला को शांत करने के लिए दो एएसआई के नेतृत्व में पुलिस बल गांव पहुंची थी. जिसमें एक पक्ष के लोगों ने पुलिस को ही निशाना बनाया था. पथराव के कारण पुलिस वाहन तो क्षतिग्रस्त हुई, वहीं एएसआई गणेश हांसदा एवं अजय कुमार मिश्रा सहित 9 पुलिसकर्मी चोटिल हो गये. घायल पुलिसकर्मियों का इलाज सामुदायिक अस्पताल में हुआ. शायद उस समय पुलिस पत्थरबाजों पर शिकंजा कसी होती, तो विवाद इतना विकराल रूप नहीं लेता. घटना के बाद ग्रामीणों में काफी गुस्सा है.

रिपोर्ट : अजय ठाकुर, चौपारण, हजारीबाग.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें