1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. hazaribagh
  5. grand mother and grand daughter dies of suffocation in hazaribagh 3 women injured smj

हजारीबाग के बड़कागांव में दादी-पाेती की दम घुटने से मौत, 3 महिलाएं घायल, जानें हादसे के कारण

हजारीबाग के बड़कागांव प्रखंड क्षेत्र के ऊपर डाड़ी गांव में दम घुटने से दादी-पोती की मौत हो गयी, जबकि 3 महिलाएं घायल हो गये. हादसा घर में कोयले चूल्हे जलाने के कारण दम घुटने से है. इधर, घायल महिलाओं में दो का हजारीबाग और एक का रांची में इलाज चल रहा है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Jharkhand news: बड़कागांव स्थित ऊपर डाड़ी गांव के इसी घर में दम घुटने से दादी-पोती की हुई मौत.
Jharkhand news: बड़कागांव स्थित ऊपर डाड़ी गांव के इसी घर में दम घुटने से दादी-पोती की हुई मौत.
प्रभात खबर.

Jharkhand news: हजारीबाग जिला अंतर्गत बड़कागांव प्रखंड मुख्यालय से 14 किलोमीटर दूर स्थित डाड़ीकला ओपी क्षेत्र के ऊपर डाड़ी गांव में लालदेव महतो के घर में कोयला चूल्हा के गैस से दम घुटने से दादी-पोती की मौत हो गई, जबकि 3 महिलाएं घायल हो गयी. घायलों में से 2 का इलाज हजारीबाग के जनता हॉस्पिटल में हो रही है, वहीं एक महिला को रांची रेफर कर दिया गया है.

इस हादसे में 75 वर्षीय दादी नेमन माेसोमात (पति कालहा महतो) और तीन वर्षीय पोती आदित्या कुमार शामिल है. आदित्य कुमारी भीम प्रकाश महतो की पुत्री थी जबकि घायलों में लालदेव महतो की पत्नी 45 वर्षीय रूपम देवी, भीम प्रकाश महतो की पत्नी 24 वर्षीय पूनम देवी एवं दिलीप महतो की 21 वर्षीय पुत्री बबीता कुमारी जिंदगी और मौत से जूझ रही है.

कैसे हुई घटना

मृतक के परिजन भीम प्रकाश महतो ने बताया कि त्रिवेणी सैनिक कंपनी द्वारा ऊपर डाड़ी गांव में ओबी कार्य को लेकर घर को खाली कराया जा रहा है. इसीलिए दूसरे स्थान में नया घर बना रहे थे. फिलहाल झोपड़ीनुमा घर में रह रहे थे. 28 दिसंबर की रात खाना खाकर सभी सो गये जबकि घर की अन्य महिलाएं एक ही झोपड़ी में सोने चली गयी. जिस झोपड़ी में महिलाएं सो रही थी, वहीं पर ठंड से बचने के लिए कोयले का चूल्हा जला रखी थी.

भीम ने बताया कि 29 दिसंबर की सुबह जब महिलाओं को उठाने के लिए गया. उठाने के लिए कई बार आवाज लगायी गयी, लेकिन किसी के आवाज नहीं देने पर दरवाजा तोड़कर देखा, तो घर की महिलाएं बेहोश पड़ी हुई थी. वहीं, दादी-पोती अचेत अवस्था में थी. सभी को तत्काल हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने दादी-पोती को मृत घोषित किया, वहीं अन्य घायलों को इलाज शुरू किया. इस दौरान घायल एक महिला को परिजन रांची ले गये.

एक साथ उठी दादी-पोती की अर्थी

ऊपर डाड़ी में दादी नेमन मोसोमात और पोती आदित्य कुमारी की अर्थी जब एक साथ उठी, तो सारा गांव गमगीन हो गया. हर लोगों के आंखों में आंसू छलक रहे थे. दोनों का अंतिम संस्कार लावण्या आहारा श्मशान घाट में की गयी. मुखाग्नि लालदेव महतो ने दिया.

गांव पहुंचे आजसू कार्यकर्ता

बड़कागांव आजसू पार्टी के कार्यकर्ता गांव पहुंचकर मृतक के परिजनों को ढाढस दिया. वहीं, आजसू पार्टी के केंद्रीय महासचिव रोशन लाल चौधरी रांची में हॉस्पिटल पहुंचकर घायल महिला के इलाज करने में मदद की. मौके पर आजसू कार्यकर्ताओं ने कहा कि मृतक के परिजनों के लिए आजसू पार्टी हमेशा खड़ा है.

मौके पर मुख्य रूप से मुखिया गुलाबो देवी, आजसू पार्टी के केंद्रीय सदस्य संदीप कुशवाहा, प्रखंड अध्यक्ष गौतम वर्मा, प्रखंड सचिव मनोज दांगी, प्रवक्ता तपेश्वर कुमार तापस, अर्जुन कुमार, रंजीत महतो, राजेश, ललन सिन्हा,मोहन महतो, कुलदीप महतो, कालेश्वर महतो, कृष्णा राम, लखन महतो, संतोष महतो उपस्थित थे.

रिपोर्ट : संजय सागर, बड़कागांव, हजारीबाग.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें