1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. hazaribagh
  5. exclusive photographs of soil erosion 25 acres of land washed away in river current in hazaribagh district of jharkhand during ruckus in rajya sabha and vidhan sabha 10 wells wasted loss worth crores to farmers mth

Exclusive Photo: झारखंड में नदी में समा गयी किसानों की 25 एकड़ जमीन, करोड़ों का नुकसान

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
हजारीबाग जिला के बादम पंचायत में बड़ा भू-भाग कटकर नदी में समा गया.
हजारीबाग जिला के बादम पंचायत में बड़ा भू-भाग कटकर नदी में समा गया.
Sanjay Sagar

बड़कागांव (संजय सागर) : संसद और विधानसभा में कृषि बिल और किसानों के हितों के नाम पर हंगामा होता रहा और झारखंड में एक नदी किसानों की 25 एकड़ जमीन लील गयी. कई किसानों की खड़ी फसल के साथ बड़ा खेत का बड़ा खंड नदी में समा गया. करोड़ों के नुकसान का अनुमान है.

हाल के दिनों में हुई भारी बारिश के कारण हजारीबाग जिला के बड़कागांव प्रखंड के बादम पंचायत स्थित हेटली नदी के किनारे पानी की तेज धार के कारण लगभग 20-25 एकड़ जमीन व 10 कुआं बह गये. नदी किनारे जिन किसानों की खेत थी, उसमें लगी फसल भी नदी की धार में समा गयी.

बताया जा रहा है कि नदी के इस रौद्र रूप की वजह से किसानों को करोड़ों का नुकसान हुआ है. फसल लगी जमीन बह जाने से किसानों की कमर टूट गयी है. किसानों के समक्ष आर्थिक समस्या उत्पन्न हो गयी है.

पंचायत समिति सदस्य के प्रतिनिधि राजा खान का कहना है कि नदी की तट पर अगर गार्डवाल रहता, तो जमीन नहीं बहती. उन्होंने नदी के तट पर गार्डवाल का निर्माण कराने की मांग की. कहा कि गार्डवाल बन जाने के बाद जमीन और आसपास के इलाके के लोगों के घर भी सुरक्षित रहेंगे.

सिंचाई के लिए बने कई कुआं भी हो गये हैं बर्बाद.
सिंचाई के लिए बने कई कुआं भी हो गये हैं बर्बाद.
Sanjay Sagar

बड़कागांव के अंचल अधिकारी वैभव कुमार सिंह ने इस संबंध में कहा कि नदी की तेज धार से जमीन बह जाने का मामला अब तक उनके पास नहीं पहुंचा है. न ही किसी किसान ने ऐसा कोई आवेदन दिया है. इसके बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है.

इन किसानों की जमीन बही

चंद्रिका महतो, राजा खान, मो अब्दुल्ला ने बताया कि इस नदी तट पर गार्डवाल नहीं रहने के कारण 20-25 एकड़ जमीन बह गयी. जगदेव महतो की 2 एकड़ जमीन, भेखलाल महतो की 2 एकड़, चंद्रिका महतो की 1 एकड़, हुसैनी चौधरी की 1 एकड़, जगदीश राम की 20 कट्ठा, मो सादिक की 2 एकड़, रजा-उल-हक की 2 एकड़, मोहम्मद खालिद की 1 एकड़, बनवारी साव की 5 कट्ठा, प्रमोद महतो की 2 कट्ठा, इंदर नाथ महतो की 5 कट्ठा समेत दर्जनों किसान की जमीन बह गयी.

खड़ी फसल के साथ किसानों के खेत का हुआ कटाव.
खड़ी फसल के साथ किसानों के खेत का हुआ कटाव.
Sanjay Sagar

श्मशान को बचाने की गुहार

इतना ही नहीं, इस इलाके में खेतों के पास 10 कुएं भी थे, जो नदी की धार में बह गये. इस नदी के तट पर श्मशान घाट भी है. यहां के लोगों ने इस श्मशान घाट को सुरक्षित करने की मांग प्रशासन से की है.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें