1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. hazaribagh
  5. 40 migrant laborers returned to hazaribagh from red zone increased concern for administration know what is the reason

रेड जोन से हजारीबाग लौटे 40 प्रवासी मजदूरों ने बढ़ायी प्रशासन की चिंता, जानिए क्या है वजह ?

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
हजारीबाग के उपायुक्त भुवनेश प्रताप सिंह अन्य अधिकारियों के साथ प्रेस वार्ता करते.
हजारीबाग के उपायुक्त भुवनेश प्रताप सिंह अन्य अधिकारियों के साथ प्रेस वार्ता करते.
प्रभात खबर

हजारीबाग : हजारीबाग के उपायुक्त भुवनेश प्रताप सिंह ने चिंता जाहिर करते हुए कहा है कि पिछले दिनों हजारीबाग लौटे 40 प्रवासी मजदूर बगैर जांच कराए अपने घर चले गये हैं. इनकी तलाश की जा रही है. इसमें से एक भी पॉजिटिव केस निकलने पर परेशानी बढ़ सकती है. जिले के लिए आनेवाला समय चुनौतीपूर्ण है. कोरोना की लड़ाई के लिए मई का अगला सप्ताह सबसे महत्वपूर्ण और संकट से गुजरनेवाला हो सकता है. हजारीबाग जिले में प्रतिदिन डेढ़ हजार प्रवासी मजदूरों के आने की संभावना है. इनमें काफी प्रवासी मजदूर रेड जोन से आ रहे हैं. यह जानकारी उपायुक्त ने प्रेस वार्ता में दी.

रेड जोन से आये 40 मजदूरों की तलाश

उपायुक्त ने कहा कि शनिवार को कोडरमा रेलवे स्टेशन पर विशेष ट्रेन से 1500 मजदूर उतरे, जिनमें 1236 प्रवासी हजारीबाग के हैं. सभी मजदूरों को लाने के लिए जिला प्रशासन की ओर से बस सेवा दी गयी. अब तक 15 हजार प्रवासी मजदूर हजारीबाग जिले में रेड जोन से आ चुके हैं. पिछले दिनों रेड जोन से करीब 40 प्रवासी मजदूर हजारीबाग के विभिन्न प्रखंडों के गांवों में बगैर जांच के प्रवेश कर गये हैं, जो चिंता का विषय है. ये प्रवासी मजदूर बगैर स्क्रीनिंग के गांव में रह रहे हैं. पुलिस को निर्देश दिया गया है कि इन मजदूरों की पहचान कर स्क्रीनिंग व स्वाब सैंपल लिये जायें, ताकि अन्य को भी खतरे से बचाया जा सके. यदि इनमें से एक भी पॉजिटिव पाया गया तो स्थिति कंट्रोल से बाहर हो जायेगी.

22 मई को सात नये केस

उपायुक्त ने कहा कि जिले में 22 मई को सात नये कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव पायी गयी है. ये प्रवासी मुंबइ से बस, ट्रक और इनोवा वाहन से हजारीबाग पहुंचे हैं. इनमें चौपारण के तीन, सदर प्रखंड के दो, इचाक और पदमा प्रखंड के एक-एक व्यक्ति हैं. इन मजदूरों के चौपारण स्थित चोरदाहा बॉर्डर और हजारीबाग के संत कोलंबस मैदान में स्क्रीनिंग और सैंपल लिये गये. चार प्रवासी मजदूरों को सिलवार स्थित पॉलिटेक्निक कॉलेज और तीन को बरही स्थित उपकारा में कोरेंटिन किया गया था. संक्रमितों के संपर्क विवरणी के आधार पर लगभग 150 लोगों की पहचान कर सैंपल लेने का कार्य हो रहा है. एचएमसीएच में कोविड-19 की जांच शुरू हो गयी है. प्रभारी चिकित्सक डॉ संजय कुमार सिन्हा ने बताया कि हजारीबाग मेडिकल कॉलेज में कोविड-19 की जांच ट्रूनेट मशीन से शनिवार से शुरू हो गयी. मशीन के लगने से कोविड-19 की जांच में गति आयेगी. इससे प्रतिदिन 40 मरीजों के सैंपल की जांच की जायेगी. बाकी सैंपल जांच के लिए बाहर रिम्स व जमशेदपुर में भेजे जायेंगे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें