1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. gumla news chief justice reached tanginath dham said its development is not matter of concern rgj

Gumla: जस्टिस एसएन पाठक पहुंचे टांगीनाथ धाम, कहा इसका विकास नहीं होना चिंता की बात

झारखंड उच्च न्यायालय के जस्टिस एसएन पाठक गुमला स्थित टांगीनाथ धाम पहुंचे. जहां उन्होंने कहा कि यह काफी पौराणिक स्थल है. इसका अब तक विकास नहीं होना चिंता का विषय है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand News : टांगीनाथ धाम में पूजा-अर्चना करते जस्टिस एसएन पाठक
Jharkhand News : टांगीनाथ धाम में पूजा-अर्चना करते जस्टिस एसएन पाठक
फोटो : प्रभात खबर

Gumla News : झारखंड उच्च न्यायालय के जस्टिस एसएन पाठक गुमला स्थित टांगीनाथ धाम पहुंचे. जहां पहुंचने से पहले सर्किट हाउस में गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया. मुख्य पुजारी बैगा रामकृपाल द्वारा पूजा-अर्चना कराया गया. टांगीनाथ के शिव और दुर्गा मंदिर में मत्था टेका और पूजा अर्चना कर झारखंड वासियों के लिए सुख, शांति और समृद्धि का कामना की. इसके बाद जस्टिस एसएन पाठक ने धाम स्थित पौराणिक मूर्तियों, धाम तक की खराब सड़क, परशुराम की गड़ा त्रिशूल, शिव मंदि सहित इधर उधर बिखरे पड़े हुए मूर्तियों के बारे में जानकारी लेते हुए कहा कि यह एक प्राचीन धार्मिक स्थल है. इसका विकास नहीं होना चिंता का विषय है.

पर्यटन स्थल के रूप में हो विकसित

उन्होंने कहा कि इस स्थल पर बहुत पुराने शिव मंदिर में शिवलिंग और कई मूर्तियां विराजमान है. इसके साथ ही भगवान परशुराम की फरसा साक्षात विराजमान है जो हजारों वर्ष पुरानी है. यहां की सबसे दुखद बात यह है कि इसके विकास के लिए किसी का ध्यान नहीं है. सड़क की स्थिति बहुत खराब है. धाम परिसर में बिखरे मूर्तियों का रख रखाव का कोई व्यवस्था नहीं है. यहां का प्राकृतिक छटा बहुत खूबसूरत है. यहां एक टूरिज्म की स्थापना होनी चाहिए. इस धाम के विकास के लिए बहुत सी जगह है. उन्होंने कहा कि धाम परिसर में खुदाई से बहुत से सोने चांदी के जेवरात मिली है जो थाने के मालखाने में पड़ा हुआ है. उसे थाना प्रभारी मनीष कुमार से जानकारी लेते हुए त्वरित कार्रवाई करते हुए मंदिर को सौंपने की बाते कही. जिससे धाम के विकास के लिए कुछ कार्रवाई किया जा सके. उन्होंने मंदिर के मुख्य पुजारी से धाम परिसर में गाड़ा त्रिशूल, बगल में बंद गडढे, ढोल, पानी व्यवस्था के बारे में जानकारी ली. मुख्य पुजारी द्वारा सभी का किस्सा विस्तृत रूप से बताया गया.

न्यायाधीश ने पूछा : क्या कभी यहां सीएम या सांसद पूजा करने आये थे

मंदिर भ्रमण के द्वारा न्यायाधीश श्री पाठक ने पुजारी व लोगों से पूछा कि सीएम और सांसद यहां पूजा पाठ करने आये थे क्या? इस पर मुख्य पुजारी ने बताया कि पूर्व सीएम रघुवर दास को एक बार आमंत्रित किया गया था. परंतु वे नहीं आये. उनकी पत्नी आयी थी जो धाम की स्थिति और जर्जर सड़क को देखा था और समिति के लोगों को धाम के विकास के लिए सीएम के पास बात रखने की बाते कही थीं. आगे उन्होंने कहा कि मैं इस संबंध में सीएम हेमंत सोरेन से बात कर एक बार टांगीनाथ धाम बुलाने का प्रयास करूंगा और यहां और सड़क की स्थिति के बारे में जानकारी दूंगा और आश्वासन देते हुए कहा कि एक महीने के अंदर दुबारा आऊंगा तो सीएम को यहां लाने का कोशिश करूंगा. स्थानीय सांसद यहां आते हैं तो उनके सामने मांग रखे की टांगीनाथ धाम जाने वाली सड़क बने. यह आपका हक, अधिकार है. आप उनसे लूट कर अपना हक अधिकार ले सकते हैं. आप अपने हक और अधिकार के लिए जागो और अपने हक अधिकार को जानो. यह एक रमणीक पौराणिक मंदिर है. इसका विकास होना चाहिए. इसके लिए मैं गुमला डीसी, एसपी से बात करूंगा. मौके पर बीडीओ एकता वर्मा, सीओ शिवपूजन तिवारी को धाम के बारे में विस्तृत रूप से लिखित रिपोर्ट बनाकर भेजने को कहा गया. ताकि इस धाम की कीमत को जाना जा सके. मौके पर प्राथमिक जिला न्यायधीश, इंस्पेक्टर बैजू उरांव, थानेदार सहित कई लोग उपस्थित थे.

रिपोर्ट : जगरनाथ पासवान

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें