1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. giridih
  5. mob lynching in jharkhand is not stopping after the enactment of act youth dies due to beating of villagers in giridih srn

कानून बनने के बाद भी झारखंड में नहीं थम रहा मॉब लिचिंग, गिरिडीह में ग्रामीणों की पिटाई से युवक की मौत

झारखंड के गिरिडीह में ग्रामीणों की पिटाई से युवक की मौत हो गयी है, ये एक सप्ताह पहले की है जब सोहराय पर्व के दिन जब उन्होंने अपने निजी जमीन पर नाचने गाने से मना किया तो लोगों ने उसकी पिटाई कर दी. जिससे उनकी मौत इलाज के दौरान हो गयी.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
झारखंड में मॉब लिचिंग
झारखंड में मॉब लिचिंग
Symbolic Pic

गिरिडीह : तिसरी प्रखंड के सलगाडीह गांव में एक युवक की पीट-पीट कर हत्या करने मामला सामने आया है. यह घटना एक सप्ताह पूर्व की है. पिटाई से घायल युवक की मौत शुक्रवार की सुबह में हो गयी. मृतक की शिनाख्त सलगाडीह गांव निवासी तालो मुर्मू के पुत्र जय मुर्मू (40 वर्ष) के रूप में हुई है.

तिसरी थाना पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया है. मृतक की पत्नी के आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार लोगों में ग्राम प्रमुख संजीत मुर्मू और उसका पुत्र शामिल है. यह जानकारी इंस्पेक्टर परमेश्वर लियांगी ने दी.

क्या है आवेदन में :

मृतक की पत्नी निर्मला मरांडी ने आवेदन में कहा है कि 11 जनवरी को गांव में सोहराय पर्व मनाया जा रहा था. इसी दौरान गांव के ग्राम प्रमुख संजीत मुर्मू के नेतृत्व में कुछ लोग उनकी निजी जमीन पर गाते-बजाते हुए पहुंचे और नाच-गान करने लगे. इसका उनके पति ने विरोध किया.

इस पर उनके पति को संजुल मुर्मू उर्फ संजीत, रमेश मुर्मू और उसकी पत्नी, चंदवा मुर्मू और उसकी पत्नी, सांझला मुर्मू व बंसी मरांडी सहित 20-25 लोगों ने दौड़ा-दौड़ा कर पीटा . इसके बाद वे लोग उनके पति को अपने साथ ले गये और एक दिन तक भूखा-प्यासा रखा. इस दौरान भी उनकी जमकर पिटाई की गयी और फिर अगले दिन 12 जनवरी को उन्हें जख्मी हालत में घर में लाकर फेंक दिया.

इसके बाद उनके पति की तबीयत बिगड़ती गयी और शुक्रवार की सुबह उनकी मौत हो गयी. निर्मला ने कहा कि उनके पति की मौत ग्रामीणों की पिटाई के कारण ही हुई है. पत्नी ने बताया कि वह लोग घटना के बाद थाना और स्थानीय ग्राम पंचायत प्रधान के पास भी गये थे, लेकिन किसी ने उनकी बात नहीं सुनी.

मजदूरी कर करता था पालन-पोषण :

मृतक जय की पत्नी निर्मला ने बताया कि उनके पति घर के एकमात्र कमाऊ सदस्य थे. उनकी मौत के बाद घर की स्थिति और खराब हो गयी है. घर में अभी 80 वर्षीय पिता-तालो मुर्मू, मां, बहन मिली मुर्मू सहित दो छोटे-छोटे बच्चे हैं.

Posted By : Sameer Oraon

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें