1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. giridih
  5. jharkhand news addiction to free fire game killed innocent of giridih weeds spread in the village as soon as the dead body reached smj

Jharkhand News : फ्री फायर गेम की लत ने गिरिडीह के नाबालिग की ली जान, शव पहुंचते ही गांव में पसरा सन्नाटा

फ्री फेयर गेम ने गिरिडीह के पालमो निवासी नाबालिग रामविलास पासवान की जान ले ली है. लगातार गेम खेलने के कारण सर में दर्द उठा और कुछ समय बाद ही उसकी मौत कोलकाता में हो गयी. कोलकाता से शव के गांव आने पर पूरे गांव में सन्नाटा पसर गया.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
नाबालिग रामविलास पासवान का शव गांव पहुंचते ही ग्रामीणों की उमड़ी भीड़.
नाबालिग रामविलास पासवान का शव गांव पहुंचते ही ग्रामीणों की उमड़ी भीड़.
प्रभात खबर.

Jharkhand News (हीरोडीह, गिरिडीह) : झारखंड के गिरिडीह जिला अंतर्गत जमुआ प्रखंड क्षेत्र में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आयी है. जहां बैन गेम फ्री फायर की लत के कारण एक मासूम की जान बुधवार की देर रात कोलकाता में चली गयी. उक्त मासूम की पहचान हीरोडीह थाना क्षेत्र पालमो निवासी सिबन पासवान के 15 वर्षीय पुत्र रामविलास पासवान के रूप में हुई है. इधर, घटना के बाद गुरुवार को मासूम का शव गांव पहुंचते ही परिवार में कोहराम मच गया.

घटना के संबंध में बताया गया कि रामविलास अपने पिता के साथ कोलकाता (हाथी बगान) में रहकर पढाई-लिखाई कर रहा था. लॉकडाउन के समय कोलकाता से अपने घर वापस आया था. इस बीच लंबे समय के बाद वह एक सप्ताह पूर्व ही कोलकाता गया था. तभी बीते बुधवार की शाम अचानक उसके सर में दर्द होने लगा. तब युवक ने यह जानकारी अपने पिता को दी. जिसके बाद परिजनों ने रामविलास के स्थिति को देखते हुए आनन-फानन में बेहतर इलाज के आसपास के अस्पताल ले गये. जहां कुछ देर पर ही उसकी मौत हो गयी.

रामविलास का शव पहुंचते ही पालमो गांव में मातमी सन्नाटा पसर गया. वहीं, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था. परिवार के सदस्य उसी घटना के बाद शव आने का इंतजार कर रहे थे. गुरुवार को शव उसके गांव पहुंचते ही ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पड़ी. वाहन से शव उतरता देख परिजनों के चीत्कार से पूरा माहौल गमगीन हो गया. पुत्र के शव के अंतिम दर्शन के इंतजार में बैठी ऐना देवी के आंखों से आंसू थमने का नाम नहीं ले रहा था. महिलाएं उसे समझा रही थी पर किसी कि कोई बात सुनने को तैयार नहीं थी. शव देख उसकी मां रोते-रोते मूर्च्छित होकर गिर रही थी.

इधर, इस घटना के बाद माले नेता अशोक पासवान, विजय पांडेय, स्थानीय मुखिया नंदकिशोर रजक, भाजपा नेता अशोक पासवान, डाॅ अशोक वर्मा, दशरथ वर्मा, प्रदीप सिंह, रामानंद सिंह, गोविंद सिंह, श्रीकांत सिंह, राकेश सिंह आदि लोगों ने शोक व्यक्त किया.

बच्चों को गेम की लत से बचाएं

खोरीमहुआ SDM धीरेंद्र कुमार सिंह, SDPO मुकेश महतो व जमुआ चिकित्सा पदाधिकारी डाॅ राजेश दुबे ने संयुक्त रूप से लोगों से अपील करते हुए कहा कि अभिभावक अपने बच्चों को गेम की लत से बचायें और उनका ध्यान रखें. सोशल मीडिया के जरिए बढ़ते अपराध की रोकथाम के लिए नई मुहिम चलायेंगे. वहीं, माता-पिता को भी इस और ध्यान देना चाहिए.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें