1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. garhwa
  5. garhwa police revealed shepherd murder case 2 accused arrested from up know the whole matter smj

गड़ेरिया हत्याकांड का गढ़वा पुलिस ने किया खुलासा, UP से दो आरोपी गिरफ्तार, जानें पूरा मामला

गढ़वा के गड़ेरिया हत्याकांड का पुलिस ने खुलासा किया है. इस मामले में 9 लोगों ने मिलकर भेड़ पालक एक भाई की हत्या और एक को गंभीर रूप से घायल कर दिया था. वहीं, कई भेड़ों को महोबा की मंडल में बेच दिया. इस मामले में पुलिस ने दो आराेपी को यूपी से गिरफ्तार किया है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news: गड़ेरिया हत्या मामले में दो आरोपियों की गिरफ्तारी की जानकारी देते गढ़वा एसडीपीओ.
Jharkhand news: गड़ेरिया हत्या मामले में दो आरोपियों की गिरफ्तारी की जानकारी देते गढ़वा एसडीपीओ.
प्रभात खबर.

Jharkhand Crime News: गढ़वा पुलिस ने मंगलवार को मझिआंव थाना क्षेत्र अंतर्गत करकट्टा गांव में भेड़ पालक सरयू पाल हत्याकांड का खुलासा किया है. इस मामले में शामिल दो आरोपी को उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जिले के बरगढ़ गांव निवासी लल्लू खान का पुत्र यासत खान उर्फ वली एवं लल्लू खान का पुत्र वासत खान उर्फ बबली को गिरफ्तार किया है. पुलिस ने इसके पास से बाइक, तीन मोबाइल, एक चाकू एवं खून लगा हुआ दो बांस की लाठी बरामद किया है. इस बात की जानकारी एसडीपीओ अवध कुमार यादव ने पत्रकारों को दी.

क्या है मामला

एसडीपीओ ने बताया कि कांडी थाना क्षेत्र के पखनाहा गांव में गत 22 मार्च को सरयू पाल की हत्या कर दी गयी थी, जबकि उसके भाई प्रभु पाल को गंभीर रूप से घायल कर दिया था. साथ ही अपराधियों ने 38 भेड़ की हत्या कर मौके पर फेंक दिया था. इस घटना के बाद एसपी अंजनी कुमार झा के निर्देश पर उनके नेतृत्व में एक विशेष टीम का गठन किया गया था. इसके बाद विशेष टीम ने एक आरोपी को गिरफ्तार किया. इससे पूछताछ के बाद परत-दर-परत पूरी कहानी का खुलासा हुआ.

गिरफ्तार दोनों आरोपियों ने स्वीकारी अपनी संलिप्तता

विशेष टीम ने इस मामले में यासत खान एवं उसके भाई वासत खान को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार आरोपियों के पास से घटना में प्रयुक्त मोबाइल, सीम कार्ड, चाकू और एक बाइक बरामद किया है. पूछताछ में गिरफ्तार आरोपियों ने इस कांड में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है. उन्होंने बताया कि घटना के संबंध में मंझिआंव थाने में 23 मार्च को प्राथमिकी दर्ज कराया गया था.

यूपी के आपराधिक गिरोह ने दिया था घटना को अंजाम

घटना के खुलासा के क्रम में यह बात सामने आयी कि इस घटना को अंजाम देने के लिए उतर प्रदेश के आपराधिक सरगना द्वारा एक सुनियोजित योजना के तहत 22 मार्च को गढ़वा के डंडा थाना एवं कांडी थाना अंतर्गत लमारी कला में स्थित ईंट भट्ठा में काम करने वाले एवं भेड़ व्यापारी सहित कुल 9 व्यक्ति लमारी कला स्थित ईंट भट्ठा पर रात के समय एकत्रित हुए थे एवं रात में सभी अपराधी पिकअप वैन से लमारीकला-भरतपहाड़ी होते हुए कांडी थाना के गोसांग गांव पहुंचे. यहां पहुंच कर इन अपराधियों ने सरयू पाल एवं उसके भाई प्रभु पाल पर हमला कर भेड़ को हांकते हुए पिकअप वैन की तरफ ले जाने लगे.

कई भेड़ों को महोबा मंडी में बेचा

एसडीपीओ ने बताया कि भेड़ को ले जाने के दौरान जब भेड़ मसूर खेत में पहुंचे, तो सभी भेड़ मसूर खेत को चरने लगे. तब अपराधियों ने गुस्से में 30-40 भेड़ों को मसूर के खेत में ही मार दिया गया, जबकि करीब 150 भेड़ों को पिकअप वैन में लोड कर ले जाने लगे. उन्होंने बताया कि इसी क्रम में कुछ और भेड़ जो पीटने से मर चुके थे, उसे केतार थाना स्थित भगवान घाटी में अपराधियों ने फेंक दिया. इसके बाद शेष सभी भेड़ों को उतर प्रदेश के महोबा जिला के मंडी में पहुंचा दिया गया. एसडीपीओ ने बताया कि इस कांड में संलिप्त अन्य अपराधकर्मियों की पहचान कर ली गयी है. उसकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है.

छापेमारी दल में ये थे शामिल

छापामारी टीम में गढ़वा एसडीपीओ अवध कुमार यादव के अलावा मझिआंव पुलिस निरीक्षक संजय खाखा, मझिआंव थाना प्रभारी कमलेश कुमार महतो, कांडी थाना प्रभारी फैज रब्बानी, पुलिस अवर निरीक्षक स्वामी रंजन ओझा, रंजन कुमार सिंह, विकास कुमार, पंकज सिंदुरिया, आरक्षी शशिकांत कुमार सिंह, अविनाश कुमार तिवारी, संतोष कुमार मेहता एवं मझिआंव थाना के सशस्त्र बल के जवान शामिल थे.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें