1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. garhwa
  5. for 11 years the dream of making panchayats digital is incomplete network service not yet reached 26 panchayats of garhwa smj

11 साल से पंचायतों को डिजिटल बनाने का सपना अधूरा, गढ़वा के 26 पंचायतों में अब तक नहीं पहुंची नेटवर्क सेवा

गढ़वा के कई पंचायतों में आज भी नेट सेवा का इंतजार है. जिले के 185 में से 159 ग्राम पंचायत भवनों तक भूमिगत ऑप्टिकल फाइबर बिछाकर तैयार कर दी गयी है. इसके बावजूद लोगों को लाभ नहीं मिल रहा है. वहीं, 26 पंचायतों में अभी तक केबल भी नहीं पहुंचा है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand news: गढ़वा के रमकंडा प्रखंड कार्यालय में लगाया गया सर्विस टावर.
Jharkhand news: गढ़वा के रमकंडा प्रखंड कार्यालय में लगाया गया सर्विस टावर.
प्रभात खबर.

Jharkhand news: झारखंड के सूचना प्रौधौगिकी (आईटी) विभाग के माध्यम से पंचायतों में लागू केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी भारत नेट परियोजना का कार्य 11 साल बीत जाने के बाद भी गढ़वा जिले में पूरा नहीं हो सका है. इससे जिले के 189 में से 185 (4 शहरी पंचायतों में नेट सेवा उपलब्ध) ग्राम पंचायतों में अब तक नेट सेवा शुरू नहीं हो सकी है. भारत ब्रॉडबैंड नेटवर्क (बीबीएनएल) की 29 नवंबर, 2021 तक की रिपोर्ट के अनुसार इस परियोजना के दो चरणों में बीबीएनएल के माध्यम से जिले के 185 में से 159 ग्राम पंचायत भवनों तक भूमिगत ऑप्टिकल फाइबर बिछाकर भारत नेट सेवा की सर्विस तैयार कर दी गयी है. यानी 26 पंचायतों में अभी तक केबल भी नहीं पहुंचा है.

नेट सेवा चालू पर नहीं मिल रहा लाभ

रिपोर्ट के अनुसार, 53 पंचायतों में सर्विस चालू कर दी गयी है, पर संबंधित पंचायत के मुखिया एवं ग्रामीण इसे गलत बता रहे हैं. इनमें बड़गड़ प्रखंड के 3 पंचायतों में सर्विस चालू है. इसके अलावा भंडरिया प्रखंड के 4, भवनाथपुर प्रखंड के 9, केतार प्रखंड के 7, कांडी के 16, डंडई प्रखंड के 9, धुरकी प्रखंड के 5, सगमा प्रखंड के 5, गढ़वा प्रखंड के 22, डंडा प्रखंड के 3, खरौंधी प्रखंड के 2, बरडीहा प्रखंड के 6, मझिआंव प्रखंड के 9, मेराल प्रखंड के 20, बंशीधर नगर प्रखंड के 12, रमकंडा प्रखंड के 7, विशुनपुरा प्रखंड के 5, रमना प्रखंड के 10 एवं रंका प्रखंड के 7 ग्राम पंचायत में सर्विस तैयार कर दी गयी है. वहीं, रिपोर्ट के अनुसार गढ़वा, नगरउंटारी, केतार, कांडी, बड़गड़, भंडरिया, भवनाथपुर, रंका सहित अन्य प्रखंडों के 53 पंचायतों में नेट सेवा की सर्विस चालू कर दी गयी है. इसके बावजूद इसका लाभ ग्रामीणों को नही मिल रहा है.

अब तक यहां नहीं पहुंची नेट सेवा

जिले के चिनिया प्रखंड कार्यालय और 7 पंचायतों के अलावे बड़गड़ प्रखंड के मदगड़ी (च), भंडरिया का बिजका और फकिराडीह, धुरकी का खाला, खुटिया, रकसी, खरौंधी का अरंगी, करिवाडीह, कूपा, मझिगंवा, राजी, सुंडी, रमना का गम्हरिया, रंका के चुटिया, चुतरु, दूधवल, कटरा, खरडीहा और सिरोईखुर्द पंचायत तक सर्विस नहीं पहुंचाया गया है.

क्या है भारत नेट सेवा

भारत सरकार के दूरसंचार मंत्रालय ने वर्ष 2014-15 में ब्रॉडबैंड कार्यक्रम शुरू किया था. इसके तहत देशभर के 2.50 लाख ग्राम पंचायतों में 100 एमबीपीएस की स्पीड से नेट कनेक्टिविटी की सुविधा उपलब्ध कराने की योजना है. राज्य के सभी जिलों में इस योजना को पूरा करने के लिए दो चरणों में काम कराया गया है. दूसरे चरण के कार्य में गढ़वा जिले के 185 पंचायतों में नेट कनेक्टिविटी का कार्य किया जाना है. मेक इन इंडिया कार्यक्रम के तहत ई-हेल्थ, ई-गवर्नेस, ई-एजुकेशन के अंतर्गत स्कूल, आंगनबाड़ी, पंचायत भवन, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, राशन दुकान सहित डाकघर को नेट सेवा की सुविधा से जोड़ा जाना है, ताकि लोगों का कार्य आसानी से हो सके. इस सस्ते ब्रॉडबैंड सेवा उपलब्ध कराने की इस योजना को भारत सरकार ने 2015 में नाम बदलकर भारत नेट रखा है.

पंचायत प्रतिनिधि और ग्रामीणों की राय

इस संबंध में बड़गड़ प्रखंड के मुखिया प्रभा कुजूर, ललिता बाखला और बालदेव टोप्पो ने संयुक्त रूप से बताया कि उनके पंचायत भवनों तक ऑप्टिकल फाइबर बिछाकर काम किया गया है. लेकिन, आज तक यह नेटसेवा की सर्विस शुरु नहीं हो पायी है. इसके कारण ग्रामीणों को प्रखंड मुख्यालय के दुकानों तक ऑनलाइन कार्य के लिए जाना पड़ता है.

ग्रामीणों को नेट सेवा का नहीं मिल रहा लाभ

वहीं, बिश्रामपुर पंचायत भवन में पांच माह पहले लगाया गया नेट सर्विस चालू नहीं है. मुखिया सुधीर कुजूर ने इसे टेक्निकल गड़बड़ी के कारण अब तक शुरू नहीं होने की बात कही. नेट सेवा शुरू नहीं होने से इसका लाभ पंचायत को नहीं मिल रहा है. इसके अलावा भवनाथपुर प्रखंड के अरसली दक्षिणी और उत्तरी, पंडरिया, सिंदुरिया एवं चपरी पंचायत में करीब 8 महीने से कनेक्टिविटी सर्विस काम नहीं कर रही है. संबंधित पंचायतों के मुखिया गोपाल यादव, प्रेमशिला देवी, राजेश प्रसाद गुप्ता, रामसूरत राम ने बताया कि यहां सर्विस लगने के बाद अभी तक इसे शुरू नहीं किया गया है. इसकी शिकायत करने पर यहां कंपनी के लोग पहुंचे थे. इसके बावजूद चालू नहीं होने से इसका लाभ ग्रामीणों को नहीं मिल रहा है.

नेट सेवा उपलब्ध नहीं होने से सरकारी कार्य में पड़ रहा असर

केतार के लोहरगाड़ा पंचायत भवन में नेट कनेक्टिविटी का सामान रख दिया गया है. उसे अब तक नहीं लगाया गया. वहीं, अन्य पंचायतों के मुखिया चंद्रदेव उरांव, अलका देवी, चंपा देवी और संगीता देवी ने बताया कि पंचायत भवन में लगे इस सर्विस से कैसे काम होगा, उन्हें इसकी जानकारी नहीं है. महीनों पहले इसे सिर्फ लगाकर छोड़ दिया गया है. यही स्थिति भंडरिया प्रखंड के जनेवा व करचाली पंचायत की है.

रिपोर्ट: विनोद पाठक/मुकेश तिवारी, गढ़वा.

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें