1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. garhwa
  5. chief minister pashudhan vikas yojana interest decreased due to reduction in grant beneficiaries refused to take cow grant reduced from 90 percent to 50 percent grj

मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना : अनुदान में कटौती से घटी रुचि, लाभुकों ने गाय लेने से किया इनकार, कही ये बात

मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना (Chief Minister Pashudhan Vikas Yojna) के तहत दो गायों को 1.40 लाख रूपये (बीमा कराने की राशि को मिलाकर) में खरीदना है़ इसमें से लाभुकों (beneficiaries) को 70 हजार रूपये का अंशदान लगाना है़, जबकि 70 हजार रूपये का अनुदान (grant) राज्य सरकार देगी.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
अनुदान घटने से गाय लेने में रुचि नहीं ले रहे लाभुक
अनुदान घटने से गाय लेने में रुचि नहीं ले रहे लाभुक
प्रभात खबर

Chief Minister Pashudhan Vikas Yojna News, गढ़वा न्यूज (पीयूष तिवारी) : झारखंड सरकार की ओर से अनुदान की राशि में कटौती किये जाने एवं संवेदक से ही खरीदने की पाबंदी के बाद गव्य विकास विभाग की योजना का लाभ लेने के प्रति लोगों की रूचि घट गयी है, जबकि पहले इसका लाभ लेने के लिये लाभुकों के बीच होड़ मची रहती थी़ मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना में पहले दो गायों के लिये 90 प्रतिशत तक अनुदान दिया जाता था, लेकिन अब अनुदान की राशि घटाते हुये 50 प्रतिशत कर दी गयी है़

इसी तरह की स्थिति पांच गाय व 10 गाय की खरीद पर भी है़ इन दोनों योजनाओ के लिये पहले 50 प्रतिशत तक का अनुदान मिला करता था, लेकिन अब इसमें भी कटौती करते हुये 25-25 प्रतिशत अनुदान की राशि कर दी गयी है़ अनुदान के बाद की शेष राशि लाभुक को लगानी है़ राज्यस्तर से ही संवेदक का चयन कर लिया गया है और लाभुकों को उसी संवेदक से गाय की खरीद करनी मजबूरी बन गयी है़ इन कारणों की वजह से जिन लाभुकों का चयन इन योजनाओं के लिये किया गया है, वे विभाग की ओर से खाते में राशि भेजे जाने के बावजूद गाय खरीदने के प्रति नकारात्मक रूख अख्तियार किये हुये है़ं परिणामस्वरूप गढ़वा जिले में कई पशु मेला लगाने के बाद भी मात्र 10 प्रतिशत लक्ष्य ही प्राप्त हो सका है़

इसमें एक और दिलचस्प पहलू यह है कि लाभुक के अंशदान और सरकार के अनुदान की राशि को मिलाकर जो रकम बन रही है वह गाय की कीमत से काफी ज्यादा है़ उदाहरणस्वरूप मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना के तहत दो गायों को 1.40 लाख रूपये (बीमा कराने की राशि को मिलाकर) में खरीदना है़ इसमें से लाभुक को 70 हजार रूपये का अंशदान लगाना है़, जबकि 70 हजार रूपये का अनुदान राज्य सरकार देगी़ यहां गौरतलब यह भी है कि इस 1.40 लाख रूपये से आठ से 10 लीटर दूध देनेवाली गाय का क्रय करना है़, लेकिन गढ़वा जिले में इससे आधी कीमत पर ही इतनी दूध देनेवाली दो गाय लाभुकों को आसानी से मिल रही है़ ऐसे में यदि लाभुक अपना 70 हजार रूपये लगा देता है, तो दो गाय लेने के लिये उसे सरकारी अनुदान की जरूरत ही नहीं पड़ेगी़, जबकि बिना अंशदान लगाये अनुदान की राशि भी नहीं मिलेगी़ लाभुकों का कहना है कि यदि उनके पास 70 हजार रूपये रहते, तो वे विभाग के पास क्यों जाते़

मुख्यमंत्री पशुधन विकास योजना के तहत साल 2020-21 में दो गायों का लाभ लेने के लिये 178 लाभुकों का चयन किया गया था़ इसके लाभुकों के खाते में प्रथम किस्त के रूप में एक-एक गाय खरीदने के लिये करीब 35 हजार रूपये भेज दिये गये है़ं, लेकिन इस बीच गढ़वा एवं रमना में पशु मेला का आयोजन किया गया़ लेकिन मात्र 23 लाभुकों ने ही गाय की खरीद की़ इसी तरह पांच गायों के लिये 45 लाभुकों का चयन किया गया था, इसमें से मात्र तीन ने ही गाय का क्रय किया, जबकि 10 गायों के लिये 12 चयनीत लाभुकों में से एक ने भी गाय नहीं खरीदा.

इस संबंध में जिला गव्य विकास पदाधिकारी धनिक लाल मंडल ने बताया कि लाभुक गाय की खरीद कर लें, इसके लिये उपायुक्त से अनुमति लेकर मेला लगाया गया है़ आगे भी लाभुकों के लिये पशु मेले का आयोजन किया जायेगा़

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें