1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. dumka
  5. jharkhand by election the war of words in dumka bermo by election broken borders politics was broken srn

Jharkhand By Election 2020 : दुमका-बेरमो उपचुनाव में चल रही जुबानी जंग, टूट रही सीमाएं, तल्ख हुई राजनीति

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
दुमका-बेरमो उपचुनाव में भाजपा झामुमो के बीच जुबानी जंग
दुमका-बेरमो उपचुनाव में भाजपा झामुमो के बीच जुबानी जंग
प्रतीकात्मक तस्वीर

दुमका : दुमका-बेरमो उपचुनाव को लेकर राजनीतिक तल्ख हुई है़ चुनावी मैदान में यूपीए-एनडीए के नेताओं के बीच जुबानी जंग तेज है़ बयानबाजी दलों की दीवार तोड़ व्यक्तिगत स्तर पर पहुंच गयी है़ सीमाएं टूट रही है़ं पिछले दिनों पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास के बयान पर झामुमो तेवर में आया, तो उधर पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने भी पलटवार किया़.

भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी के बयान पर भी झामुमो हमलावर हुआ़ बाबूलाल मरांडी पर व्यक्तिगत हमले किये़ यूपीए-एनडीए के बीच चुनावी रोमांच मुद्दों से भटक का व्यक्तिगत छींटाकशी तक पहुंच गयी है़ वहीं भाजपा चुनाव आयोग भी पहुंची़

अब उपचुनाव में जनता बतायेगी किसका निकलेगा जनाजा : झामुमो

झारखंड मुक्ति मोर्चा ने भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी का एक वीडियो जारी कर उनके बयान पर आपत्ति जतायी है. पार्टी कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत करते हुए झामुमो के केंद्रीय महासचिव सह प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि भाजपा नेता चुनाव में मुद्दे छोड़ कर अमर्यादित भाषा का प्रयोग कर रहे हैं.

पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास के बाद अब बाबूलाल मरांडी ने आपत्तिजनक बातें कही है. बाबूलाल मरांडी एक चुनावी सभा में दिशोम गुरु शिबू सोरेन का जनाजा निकालने की बात कर रहे हैं और खुद को शिबू सोरेन का आशिक बता रहे हैं. तीन नवंबर को संताल परगना व दुमका की जनता बतायेगी कि किसका जनाजा निकलेगा.

श्री भट्टाचार्य ने कहा कि बाबूलाल की आशिकी किसी से छिपी हुई नहीं है. राज्य की जनता उनकी आशिकी के चर्चे से वाकिफ है. बाबूलाल की भाजपा से आशिकी, जनता देख भी रही है. 2014 के चुनाव में उन्होंने अपने पार्टी के छह विधायकों को भाजपा भेज कर इसका परिचय भी दिया था. 2019 में वह खुद को भी नहीं रोक पाये. बाबूलाल मरांडी ने राज धनवार के लोगों के साथ धोखा किया है. ऐसे में भाजपा का डूबना तय है.

जेटेट अभ्यर्थियों का आंदोलन पूर्ववर्ती सरकार का प्रतिफल

जेटेट अभ्यर्थियों के आंदोलन के संबंध में पूछे जाने पर श्री भट्टाचार्य ने कहा कि यह पूर्ववर्ती भाजपा सरकार का प्रतिफल है. भाजपा सरकार ने ठोस कार्ययोजना बनाकर समस्याओं का समाधान नहीं किया. हेमंत सरकार झूठे आश्वासन देने पर विश्वास नहीं रखती है. आंदोलनकारियों की न्यायोचित मांग सरकार पूरा करेगी.

अभी सरकार के पास चार साल का कार्यकाल बचा हुआ है. आंदोलनकारी धैर्य रखें. कोरोना महामारी से मुकाबला करते हुए सरकार धीरे-धीरे नियुक्ति की प्रक्रिया शुरू कर रही है. बजट में भी प्रावधान किए गये हैं. निर्धारित अवधि में जनता से किये गये वायदे पूरा करने को लेकर सरकार प्रतिबद्ध है.

झामुमो को मिर्ची लगी तो क्या करूं जांच की धमकी से डर नहीं : रघुवर

रांची .दुमका-बेरमो उपचुनाव में सियासी पारा चढ़ा हुआ है़ इधर भाजपा-झामुमो में भी बयानों के तीर चल रहे है़ं झामुमो द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास के कार्यकाल की जांच कराने के बयान पर राजनीति गरम है़ पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने पलटवार करते हुए कहा है कि झामुमो नेताओं को एक शब्द पर मिर्ची लग गयी, लेकिन इसके लिए मैं क्या करूं.

मैं दोषी कैसे हू़ं लोकसभा चुनाव में कांग्रेस-झामुमो समेत समूचा विपक्ष प्रधानमंत्री को सार्वजनिक मंचों से चोर कहता रहा़ यदि चोर शब्द संसदीय तो चोट्टा असंसदीय कैसे है़ वह भी मैंने अपने कार्यकर्ताओं से कहा था कि सरकार के भ्रष्टाचार को जनता के सामने ले जाये़ं.

मैैंं जांच की धमकी से डरने वाला नहीं :

श्री दास ने कहा कि झामुमो कुछ मामलों की जांच कराने की धमकी दे रहा है़ लेकिन मैं इससे डरने वाला नहीं हूं. जो जांच करनी है कराओ, परंतु यह तो बताओ कि कोयला-बालू का अवैध उत्खनन हो रहा है ं्र नही़ं पैसे लेकर ट्रांसफर-पोस्टिंग हो रही है या नही़ं इस सरकार के 10 महीने के कार्यकाल में डेढ़ हजार से ज्यादा बलात्कार की घटनाएं हुई है या नही़ं यह सब सवाल सीता जी (सीता सोरेन, झामुमो के प्रथम परिवार की पुत्र वधू) ने उठाया है़ सीता जी को तो गलत नहीं कह रहे हैं, लेकिन रघुवर दास पर खीज उतार रहे है़ं

भाजपा ने चुनाव आयोग से झामुमो की शिकायत की

रांची . भाजपा नेताओं का दल बुधवार को चुनाव आयोग पहुंचा़ दुमका-बेरमो उपचुनाव में झामुमो की बयानबाजी को लेकर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से शिकायत की़ भाजपा नेताओं की शिकायत थी कि झामुमो के प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने भाजपा नेताओं के बारे में गंदे व अपमानजनक शब्द का प्रयोग किया है़ यह आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन है़

भाजपा नेताओं ने झामुमो नेता के बयान वाला वीडियो चुनाव आयोग को सौंपा. इधर पार्टी के महामंत्री आदित्य साहू ने कहा कि झामुमो नेताओं का बड़बोलापन शर्मनाक है़ संवाददाता सम्मेलन के दौरान सुप्रियो भट्टाचार्य ने शब्दों की मर्यादा से परे होकर अपनी बात रखी़ असंसदीय और आपत्तिजनक शब्दों से लोकतंत्र की मर्यादाएं आहत होती है़ किसी पार्टी के विषय मे असंसदीय भाषा का प्रयोग करना शर्मनाक बात है़

श्री साहू ने कहा कि आयोग, झामुमो प्रवक्ता के अमर्यादित भाषा का प्रयोग करने के खिलाफ तत्काल संज्ञान ले़ उन्होंने बताया कि शिकायत की एक प्रति मुख्य चुनाव आयोग, दिल्ली को भी भेजी गयी है़ प्रतिनिधिमंडल में महामंत्री श्री साहू के अलावा मीडिया प्रभारी शिवपूजन पाठक और सुधीर श्रीवास्तव शामिल थे़

आपसे ऐसे ही जवाब की अपेक्षा थी : झामुमो

रांची. झामुमो ने पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास के उस बयान पर पलटवार किया है. पार्टी की ओर से ट्वीट कर कहा गया है कि आपसे ऐसे ही जवाब की अपेक्षा थी. हम झारखंडियों को अपशब्द कह कर आपने अपनी सोच दिखा दी है. भाजपा समेत बाबूलाल ने आपका समर्थन कर इतनी ताकत दे दी कि अब आप बिना किसी लाजो शर्म के हम झारखंडियों को मिर्ची लगने की बात कहने लगे.

रघुवर जी जिन झारखंडियों ने आपको पांच साल सिर आंखों पर बैठाया, उन्हें आप अपशब्द और मिर्च लगने की बात कह रहे हैं. पार्टी ने सवाल किया है कि क्या भाजपा में राष्ट्रीय स्तर पर नेता का चयन इसी आधार पर होता है कि कौन, कितना गरीब और वंचितों को अपशब्द कह रहा है? प्रदेश भाजपा के नेता झारखंडियों का यह अपमान कैसे सह रहे हैं.

?झारखंडियों को अपशब्द कहने वाले प्रदेश भाजपा के इन घमंडी नेता के गड़बड़झाले का पिटारा बहुत बड़ा है. झारखंडियों को लूटने वाले, उन्हें अपशब्द कहने वाले ठग भाजपाइयों का पाप का घड़ा हर दिन छलक रहा है.

भाजपा सरकार ने पारंपरिक कानूनों के साथ की थी छेड़छाड़: चंपई सोरेन

अनुसूचित जाति-जनजाति, पिछड़ा वर्ग व कल्याण मंत्री चंपई सोरेन ने बुधवार को मसलिया के चित्रसैनी, बेलियाजोर, गोलपुर, गोड़माला व हथियापाथर के बादलपाड़ा पहुंच कर झामुमो प्रत्याशी बसंत सोरेन के पक्ष में जनसंपर्क किया.

मंत्री श्री सोरेन ने कहा :

मुख्यमंत्री रहते हुए रघुवर दास ने सारे नियम-कानून को ताक में रखकर सीएनटी-एसपीटी एक्ट तथा भूमि अधिग्रहण बिल के साथ छेड़छाड़ कर यहां की जनता के साथ धोखा देने का काम किया था. जबकि शिबू सोरेन तथा हेमंत सोरेन के नेतृत्व में जन आंदोलन चलाकर भाजपा के रघुवर दास सरकार द्वारा पारित काला कानून को रोका गया.

अनाप-शनाप बोल रहे हैं भाजपा नेता :

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सह वित्त व खाद्य आपूर्ति मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने कहा कि केंद्र सरकार ने कोरोना काल में देश के मजदूर, किसान एवं गरीब जनता को अपनी गलत नीतियों के कारण गंभीर संकट में डाल दिया है.

इस उपचुनाव में भी भाजपा के नेता हताशा में अनाप-शनाप बयानबाजी कर रहे हैं. डॉ उरांव ने यह बातें बुधवार को दुमका जाने के क्रम में बेरमो कंट्रोल रूम के कार्यों की समीक्षा के क्रम में कही. इस दौरान कृषि मंत्री बादल पत्रलेख, केशव महतो कमलेश, मानस सिन्हा आदि मौजूद थे.

बंधु ने बेरमो में अभियान चलाया

पूर्व शिक्षा मंत्री व मांडर विधायक बंधु तिर्की ने बेरमो उपचुनाव में चुनावी अभियान चलाया़ विधायक श्री तिर्की ने जरीडीह प्रखंड के तांतरी, तुपकाडीह, तोताडीह, परसाडीह, कुम्हारडीह समेत जैनामोड़, चिलगड्डा सहित कई इलाकों में अभियान चलाया़ चुनावी अभियान में श्री तिर्की ने कहा कि भाजपा ठगों की पार्टी है़ बस झूठे वादे कर जनता को बरगलाने का काम करती है़

posted by : sameer oraon

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें