1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. dhanbad
  5. robbery flat guards and family held hostage dacoits also took away jewelry worth 40 lakhs kept for the daughters wedding grj

झारखंड के धनबाद में डकैती, फ्लैट के गार्ड व परिजनों को बंधक बनाकर गहने ले गये डकैत

धनबाद में डकैतों ने दो फ्लैट में डकैती की. इस दौरान वे गार्ड व परिजनों को बंधकर बनाकर गहने समेत अन्य सामान ले गये. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand News : डकैती के बाद मौके पर पहुंची पुलिस
Jharkhand News : डकैती के बाद मौके पर पहुंची पुलिस
प्रभात खबर

Jharkhand News, धनबाद न्यूज (नीरज अंबष्ट) : झारखंड के धनबाद जिले के धनबाद थाना क्षेत्र के हीरापुर दुर्गा मंदिर रोड स्थित अभया अपार्टमेंट के दो फ्लैट में शुक्रवार की देर रात डकैतों ने धावा बोल दिया. डकैतों ने रेलवे के रिटायर्ड स्टेशन मास्टर विरेंद्र कुमार और उनके बगल के फ्लैट में रहने वाले रनेंद्र नाथ सेन के घर में डकैती की घटना को अंजाम दिया. पीड़ित परिजनों ने 100 नंबर डायल कर पुलिस को घटना जानकारी दी और धनबाद थाना प्रभारी विनय कुमार सहित अन्य पुलिस पदाधिकारी ने मौके पर पहुंच कर मामले की जांच की.

बताया जा रहा है कि छह से सात की संख्या में डकैत आये थे. रात्रि डेढ़ बजे के आसपास अभया अपार्टमेंट के बेसमेंट में गेट फांद कर अंदर घुसे. अंदर जाते ही गार्ड बाहर में चौकी लगाकर सोया हुआ था. उसे उठाया और उसके हाथ पैर को बांध दिया. उसका मोबाइल छीना और सीम कार्ड व बैट्री अलग कर मोबाइल फेंक दिया. पहले तल्ले पर रहने वाले रनेंद्र नाथ सेन के फ्लैट के पास पहुंचा और उसके फ्लैट के मुख्य दरवाजा की कुंडी इस तरह से तोड़ा कि उन्हें पता तक नहीं चला. इस दौरान उनका भतीजा सागर सेन भी मौजूद था. सीधे रनेंद्र के पास पहुंचा और उसके मुंह में पिस्टल डाल सटा दी. और उसके भतीजे को उठाया और उसे भी पिस्टल दिखाया और दोनों को चुप रहने को कहा. दोनों के हाथ पैर नाइलोन की पतली बैंड से हाथ और पैर बांध दिये और उसे लॉक कर दिया. मुंह में भी उसे बैंड से बांध दिया. घर में रखे 65 हजार के सोने चांदी के जेवर, 700 नगद व एसबीआइ का कार्ड, दो अंगुठी और तीन घड़ी ले ली. रनेंद्र कोलकाता में रहते हैं और एक कंस्ट्रक्शन कंपनी में काम करते हैं. दो दिन पहले ही अपने भतीजा सागर सेन के पास आये थे. सागर कोलकाता में एमबीए की पढ़ाई करता है.

रनेंद्र नाथ सेन के बगल में रेलवे के रिटायर्ड स्टेशन मास्टर विरेंद्र कुमार का फ्लैट है. विरेंद्र दो दिन पहले ही अपने किसी परिजन के घर मधुपुर गये हुए थे. पत्नी सुनीता देवी घर में अकेली सोई हुई थीं. उसके फ्लैट के गेट को भी डकैतों ने बहुत आसानी से तोड़ दिया और अंदर घुस गये. दरवाजा टूटने के बाद उन्हें लगा कि उनके पति आ गये क्या, तो उन्होंने जैसे ही लाइट जलायी तो देखा कि छह से सात की संख्या में डकैत घुस गये हैं. इन्हें चुप रहने को कहा गया और उनके दुपट्टे से उनका पैर बांध दिया और नाइलोन के बैंड से हाथ बांध कर बैठा दिया. डकैतों ने महिला से पूछा कि अभी कुछ दिन पहले ही तुम्हारे पति रिटायर्ड हुए हैं. पैसे कहां रखी हो. बेटा बेटी नौकरी करता है न, तो उसका भी पैसा होगा. इसके बाद जिस कमरे में वह सोई थी उसी कमरे में एक आलमारी रखा हुआ था. उस आलमारी को आसानी से तोड़ा और उसमें रखे लगभग 40 लाख से ज्यादा के जेवर डकैत ले लिये. उसी में पूजा और अन्य कार्य के लिए रखा हुआ 50 हजार रुपया भी ले लिया.

डकैतों को लगा कि फ्रीज में भी कुछ लोग जेवर छुपा कर रखते हैं. उसके बाद कई बार फ्रीज को खोल-खोल कर देख रहे थे, लेकिन उसे कुछ नहीं मिला. उसमें रखी मिठाई खाई और पीने का रखा जार को एक चौकी पर रख कर उससे पानी पी रहे थे. सुनीता देवी से डकैत लगातार और रूपये पैसे की जानकारी मांग रहा थे, लेकिन इन्होंने बताया कि जो था सब ले लिये हो. पूरी घटना को अंजाम देने के बाद डकैत निकल गये. पीड़िता के दोनों बच्चे बेंगलुरू में रह कर नौकरी कर रहे हैं वहीं पड़ोसियों ने बताया कि बेटी की शादी होनी थी और उसी के लिए जेवर लिया था. जिसे डकैत ले गये.

दोनों फ्लैट में डकैती की घटना को अंजाम देने के बाद डकैत पार्किंग में लगी दो बाइक व एक स्कूटी भी अपने साथ ले गये. तीनों गाड़ी का लॉक तोड़ दिया और लगभग साढ़े तीन बजे गाड़ी लेकर निकल गये. गार्ड ने बताया कि दोनों बाइक पर तीन-तीन लोग व एक स्कूटी में अकेले बैठा हुआ था. तीनों गाड़ी ले जाने के बाद डकैतों ने उसे हील कॉलोनी स्थित कटपुल के पास छोड़ दिया. जहां से पुलिस ने तीनों गाड़ियों को बरामद कर लिया है.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें