1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. dhanbad
  5. jharia inspector suspended in lathicharge case order to conduct departmental action smj

लाठी चलाने वाले झरिया इंस्पेक्टर पर चला विभागीय डंडा, बोकारो IG ने किया सस्पेंड

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
 न्याय मांग रहे मृतक के परिजनों पर लाठी बरसाने के मामले में झरिया इंस्पेक्टर पीके सिंह सस्पेंड.
न्याय मांग रहे मृतक के परिजनों पर लाठी बरसाने के मामले में झरिया इंस्पेक्टर पीके सिंह सस्पेंड.
फाइल फोटो.

Jharkhand News (धनबाद), रिपोर्ट- नीरज अंबष्ठ : आरके ट्रांसपोर्ट में मृतक मोहित कुमार के परिजनों पर लाठी चलाने वाले झरिया थाना प्रभारी पीके सिंह पर विभागीय डंडा चल गया है. शुक्रवार को बोकारो IG प्रिया दूबे ने झरिया थाना प्रभारी सह इंस्पेक्टर पीके सिंह को सस्पेंड कर दी और उस पर विभागीय कार्रवाई चलाने का आदेश जारी किया है. गुरुवार को धनबाद SSP असीम विक्रांत मिंज ने सिंदरी SDPO अजीत कुमार सिन्हा के जांच रिपोर्ट के बाद विभागीय कार्रवाई शुरू की थी. इस कार्रवाई के बाद पीड़ित परिवार की पीड़ा थोड़ी कम हुई है.

सीएम के आदेश के बाद रेस हुई पुलिस

बुधवार को ऐना आरके ट्रांसपोर्ट में काम करने वाले मृतक मोहित कुमार के शव के साथ उसके परिजन मुआवजा के अलावा घटना के दिन की जानकारी एवं न्याय मांगने के लिए पहुंचे थे. घटनास्थल पर जाने के बाद स्थिति समान्य थी, लेकिन झरिया थाना प्रभारी पीके सिंह जैसे ही दल-बल के साथ घटनास्थल पहुंचे उसके बाद वहां का माहौल बदल गया. वह आरके ट्रांसपोर्ट के लठैत के रूप में उतरे और न्याय मांगने पहुंचे लोगों पर लाठियों की बरसात शुरू कर दी. आधा दर्जन से ज्यादा लोग घायल हो गये.

घटनास्थल पर मौजूद लोगों ने इसका वीडियो बनाया और इसे सोशल मीडिया में वायरल कर दिया. कुछ पीड़ित परिवार के लोगों ने ट्विटर के माध्यम से सीएम हेमंत सोरेन और परिवहन मंत्री चंपई सोरेन को टैग किया. दोनों ने थाना प्रभारी पर कार्रवाई के आदेश दिये और उसके बाद पहले SSP असीम विक्रांत मिंज ने विभागीय कार्रवाई का आदेश दिया और शुक्रवार को बोकारो IG प्रिया दूबे उसे सस्पेंड कर दी.

आरोप सिद्ध, हुई कार्रवाई : IG

बोकारो की जोनल IG प्रिया दूबे ने बताया कि झरिया आरके ट्रांसपोर्ट में हुई घटना की पूरी जांच की गयी. प्रारंभिक जांच में झरिया थाना प्रभारी पीके सिंह पर लगाये गये आरोप सही पाये गये और उनके इस कार्य से पुलिस की छवि धूमिल हुई है और वहां लाठी चलाने की कोई जरूरत नहीं थी. इस कारण पीके सिंह को सस्पेंड किया गया है.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें