1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. dhanbad
  5. inflation in jharkhand 2021 inflation drove people out of oil people upset due to increase in prices of food items know how many percent increase in the price of food items srn

Inflation In Jharkhand 2021 : महंगाई ने लोगों का निकाला तेल, खाने पीने की वस्तु के दाम बढ़ने से परेशान हुए लोग, जानें खाद्य पदार्थों के दाम कितने प्रतिशत बढ़ा

By Sameer Oraon
Updated Date
खाने पीने की वस्तु के दाम बढ़ने से परेशान लोग
खाने पीने की वस्तु के दाम बढ़ने से परेशान लोग
सांकेतिक तस्वीर

Jharkhand News, Dhanbad News, current inflation rate in jharkhand 2021 धनबाद : एक तरफ बढ़ती महंगाई, तो दूसरी तरफ कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले. दोनों ही वजहों से आम आदमी चिंतित है. महंगाई के चलते हर आम-ओ-खास की मुश्किलें बढ़ गयी हैं. सच कहा जाये तो महंगाई ने आम आदमी का दम निकाल रखा है. खाने-पीने से लेकर हर तरह के वस्तुओं के दाम आसमान छू रहे हैं. ज्यादा असर रसोई के बजट पर पड़ा है. इस बात की शिकायत मिल रही है कि शहर के थोक बाजार से माल लाकर उसे खुदरा बाजार में ऊंचे दामों पर बेचा जा रहा है.

महंगाई ने अपने दांत और पैने कर दिये हैं. निशाना बना है किराना बाजार. 15 दिनों पहले जिस सलोनी तेल की कीमत 138 रुपये लीटर थी, आज 145 रुपये हो गय है. इसी तरह सनफ्लॉवर रिफाइन 160 से छलांग लगाकर 170 रुपये लीटर हो गया है. तेल के दाम में छह से 10 रुपये तक की बढ़ोतरी हुई है. अरहर दाल 90 रुपया किलो थी, अभी 100 रुपये किलो बिक रही है.

दरअसल, दाल की कीमतों में 10-10 रुपये प्रति किलो का इजाफ हुआ है. अगर आप किराना की दुकान पर सामान खरीदने जायेंगे, तो दाम सुन कर चौंक जायेंगे. एक पखवारा के भीतर विभिन्न वस्तुओं के दामों में बेतहाशा वृद्धि दर्ज की गयी है. बढ़ती महंगाई से हर तबका परेशान है.

खासकर मध्यमवर्गीय परिवार सबसे ज्यादा प्रभावित है. कोविड महामारी से लोग अब भी जूझ रहे हैं. अब महंगाई के तड़का ने बजट बिगाड़ दिया है. सिर पर होली है. बच्चों को पढ़ाने के लिहाज से भी यह खर्च का महीना है. ऐसे में आम आदमी का दम निकलता महसूस हो रहा है.

कीमत बढ़ने से बिक्री प्रभावित :

नौकरीपेशा लोग पहले ही से कोरोना के चलते मुश्किलों का सामना कर रहे हैं. कारोबारियों के कारोबार पर असर पड़ा. आम आदमी की मुश्किलें पहले से ही बढ़ी हुई थीं. अब दाल, तेल और अन्य वस्तुओं की दर में हुई बढ़ोतरी ने मुश्किलें और बढ़ा दी हैं. दलहन, तेलहन व किराना के हर आइटम के दाम में उछाल है.

महंगाई बढ़ने से घर का बजट गड़बड़ हो गया है. तेलहन में सबसे अधिक उछाल है. खाद्यान्न के दाम बढ़ने से इस बार कोयलांचल के लोगों की होली फीकी हो सकती है. कारोबारियों की मानें तो कीमत बढ़ने से बिक्री प्रभावित हो गयी है. होली का पर्व है और पकवान बनाने के आइटम में उछाल है. उड़द दाल में 10 रुपये व बेसन में आठ रुपये किलो की उछाल है. जो लोग महीने में तीन लीटर सरसों तेल का इस्तेमाल करते थे, अब दो लीटर में ही काम चला रहे हैं. जो स्थिति है, महंगाई और बढ़ेगी.

एक पखवारा के भीतर सरसों तेल की कीमतों में 10 रुपये तक का उछाल

कीमत पर एक नजर

सामग्री 15 दिन पहले आज का भाव

सलोनी तेल 138 145

हाथी तेल 140 146

इंजन तेल 148 155

पतंजलि तेल 145 150

सनफ्लॉवर तेल 160 170

फॉरच्यून तेल 142 150

सफोला गोल्ड तेल 150 160

गोलकी 500 550

जीरा 180 200

पोस्तो 1200 1500

काबली चना 80 90

उड़द दाल 100 110

बेसन 90 100

अरहर दाल 90 100

मसूर दाल 68 70

(नोट : पुराना बाजार से रविवार को रिटेल दुकान से ली गयी कीमत. कीमत रुपये/लीटर-किलो है)

तेलहन की फसल थोड़ी कमजोर थी. एक्साइज ड्यूटी बढ़ने के कारण भी दाम बढ़ा है. अप्रैल से नयी फसल बाजार में आयेगी. तब सरसों तेल व रिफाइन के दाम में गिरावट आयेगी.

विकास कंधवे, महासचिव, जिला चेंबर

सरकार समर्थन मूल्य पर दलहन खरीद रही है. इस कारण दलहन का भाव तेज है. नयी फसल मंडी में आने के बाद दलहन के भाव कम होंगे.

प्रवीण गोयल, थोक विक्रेता

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें