1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. dhanbad
  5. cm hemant soren takes cognizance in jharia police lathi charge case administrative investigation started know the whole matter smj

झरिया पुलिस के लाठीचार्ज मामले में CM हेमंत सोरेन ने लिया संज्ञान, प्रशासनिक जांच हुई शुरू, जानें पूरा मामला

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
आऊटसोर्सिंग कंपनी में झरिया पुलिस द्वारा किये गये लाठीचार्ज मामले की प्रशासनिक जांच करते अधिकारी.
आऊटसोर्सिंग कंपनी में झरिया पुलिस द्वारा किये गये लाठीचार्ज मामले की प्रशासनिक जांच करते अधिकारी.
प्रभात खबर.

Jharkhand News (बस्ताकोला- धनबाद), रिपोर्ट- बबन झा/गुड्डू वर्मा : BCCL के ऐना आरके ट्रांसपोर्ट आऊटसोर्सिंग कंपनी में झरिया पुलिस द्वारा किये गये लाठीचार्ज की प्रशासनिक जांच शुरू हो गयी है. सीएम हेमंत सोरेन के आदेश पर गुरुवार (एक अप्रैल, 2021) को SDM सुरेंद्र कुमार एवं सिंदरी के SDPO अजीत सिन्हा ने मामले की अलग-अलग तहकीकात की.

न्याय और मुआवजा मांग रहे लोगों पर झरिया थाना इंस्पेक्टर पीके सिंह ने जमकर बरसायी लाठियां.
न्याय और मुआवजा मांग रहे लोगों पर झरिया थाना इंस्पेक्टर पीके सिंह ने जमकर बरसायी लाठियां.
ट्विटर.

मालूम हो कि आऊटसोर्सिंग कार्यरत कर्मी मोहित कुमार की हत्या के बाद बुधवार को मुआवजा और घटना के संबंध में जानकारी मांग रहे मृतक के परिजनों पर झरिया थाना इंस्पेक्टर पीके सिंह के द्वारा लाठीचार्ज किया गया है. इस संबंध में सिंदरी DSP ने परियोजना में कार्यरत आउटसोर्सिंग कंपनी प्रबंधन से मृतक कर्मी के विषय में जानकारी मांगी. इस दौरान बोरागढ़ ओपी प्रभारी सौरभ चौबे से घटना के विषय में क्रमवार जानकारी लिया. DSP ने आउटसोर्सिंग कंपनी के निजी सुरक्षाकर्मियों से भी कलम बंद बयान लिया.

मृतक मोहित के परिजन और सहयाेगियों से लाठी से बात करते झरिया थाना इंस्पेक्टर पीके सिंह.
मृतक मोहित के परिजन और सहयाेगियों से लाठी से बात करते झरिया थाना इंस्पेक्टर पीके सिंह.
ट्विटर.

मालूम हो कि आऊटसोर्सिंग कार्यरत कर्मी मोहित कुमार की हत्या के बाद बुधवार को मुआवजा और घटना के संबंध में जानकारी मांग रहे मृतक के परिजनों पर झरिया थाना इंस्पेक्टर पीके सिंह के द्वारा लाठीचार्ज किया गया है. इस संबंध में सिंदरी DSP ने परियोजना में कार्यरत आउटसोर्सिंग कंपनी प्रबंधन से मृतक कर्मी के विषय में जानकारी मांगी. इस दौरान बोरागढ़ ओपी प्रभारी सौरभ चौबे से घटना के विषय में क्रमवार जानकारी लिया. DSP ने आउटसोर्सिंग कंपनी के निजी सुरक्षाकर्मियों से भी कलम बंद बयान लिया.

पुलिस के द्वारा लाठीचार्ज करने का निर्णय किस परिस्थिति में लिया गया इस पर जांच करते हुए उन्होंने आउटसोर्सिंग कंपनी में लगे CCTV फुटेज को भी देखा. वहीं, धनबाद SDM सबसे पहले एना परियोजना के BCCL कार्यालय पहुंचे. उन्होंने BCCL पदाधिकारियों से आउटसोर्सिंग के काम करने के तरीके के विषय में जानकारी मांगी.

उन्होंने कहा कि आउटसोर्सिंग कंपनी प्रबंधन अपने कर्मी की मृत्यु के बाद उनके परिजनों को तरीके से संतुष्ट नहीं कर पाये. अगर कर्मी परियोजना में कार्य करने आते हैं, तो आउटसोर्सिंग कंपनी का कानूनन क्या दायित्व बनता है. इस पर उन्होंने सवाल- जवाब तलब किया. इस दौरान आउटसोर्सिंग कंपनी के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे. उन्होंने कहा कि पूरे मामले पर शीघ्र रिपोर्ट बनाकर सीनियर ऑफिसर को सूचित किया जायेगा.

क्या है पूरा मामला

एना आउटसोर्सिंग के हाजिरी बाबू मोहित कुमार (25 वर्ष ) की हत्या कर मंगलवार को उसका शव अपराधियों ने निमियाघाट थाना क्षेत्र में फेंक दिया था. इस पर न्याय और मुआवजा की मांग को लेकर बुधवार की दोपहर 12 बजे मृतक के परिजन और उसके सहयोगी मोहित कुमार का शव एंबुलेंस में लेकर एना आरके ट्रांसपोर्ट आउटसोर्सिंग परियोजना स्थल पर पहुंचे. इसके बाद मृतक के आश्रित को मुआवजा देने और मोहित की हत्या की जांच की मांग को लेकर परियोजना में उत्पादित बाधित कर दिया था. कुछ देर बाद आउटसोर्सिंग प्रबंधन अभिषेक सिंह और बोर्रागढ़ ओपी प्रभारी सौरभ चौबे के बीच कैंप में बातचीत होने लगी.

इसी बीच दोपहर 12:30 बजे झरिया थानेदार पीके सिंह जिला के अतिरिक्त पुलिस बल को लेकर मौके पर पहुंचे और प्रदर्शन कर रहे लोगों पर लाठीचार्ज कर दिया. इससे शव के साथ प्रदर्शन कर रहे लोगों में अफरा-तफरा मच गयी. इस घटना में मृतक के भाई संजय श्रीवास्तव, रोहित श्रीवास्तव, पवन विश्वकर्मा, विक्की, दीप, सुरेश, रवि सिंह, छोटू सहित अन्य लोग घायल हो गये. लाठीचार्ज के बाद मृतक के परिजन मोहित के शव को लेकर ईस्ट बसुरिया चले गये.

शर्मनाक और अमानवीय घटना है : मंत्री

झारखंड के परिवहन मंत्री चंपई सोरेन ने इस मामले को गंभीरता से लिया. उन्होंने ट्वीट कर इस घटना को शर्मनाक और अमानवीय करार दिया. ट्वीट कर उन्होंने कहा कि राज्य में ऐसी घटनाओं को कभी स्वीकार नहीं किया जा सकता है. उन्होंने इस मामले की जांच कर जल्द कार्रवाई करते हुए सूचित करने को कहा है.

सिंदरी SDPO को मिला जांच का जिम्मा

झरिया पुलिस द्वारा लाठीचार्ज की घटना को लेकर मंत्री के ट्वीट पर जिला पुलिस ने जवाब देते हुए कहा कि पूरे मामले की जांच का जिम्मा सिंदरी SDPO को दिया गया है और उसके बाद आगे की कार्यवाही की जायेगी.

भाजपा ने बताया खाकी की गुंडागर्दी

झरिया पुलिस के लाठीचार्ज मामले पर भाजपा ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. ट्वीट कर भाजपा प्रदेश प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने कहा कि देखिए अबुआ राज में खाकी की गुंडागर्दी. जिसके भाई की हत्या हुई उसको ही पुलिस अधिकारी ने गालियां देकर लाठीचार्ज कर दिया. अविलंब कार्रवाई हो वरना ऐसी दमनकारी अधिकारियों के खिलाफ भाजपा कार्यकर्ता सड़क पर उतरेंगे.

कंपनी के नियमानुसार मिलेगा मुआवजा

आउटसोर्सिंग प्रबंधक रवि अग्रवाल ने कहा कि कंपनी के इंचार्ज राकेश रंजन से मोहित कुमार ने छुट्टी ली थी. 2 घंटे बाद भी मोहित के ड्यूटी पर नहीं आने पर राकेश रंजन ने कई बार मोहित को फोन किया. लेकिन, उसने फोन रिसीव नहीं किया. बाद में मोहित नहीं लौटा. श्री अग्रवाल ने कहा कि कंपनी के नियमानुसार मृतक के परिजन को मुआवजा दिया जायेगा.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें