1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. dhanbad
  5. clash between villagers and ecls security team in jharkhand firing women narrowly escaped gur

झारखंड में ग्रामीणों एवं इसीएल की सुरक्षा टीम के बीच भिड़ंत, फायरिंग में बाल-बाल बची महिला

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
फायरिंग के बाद आक्रोशित ग्रामीण
फायरिंग के बाद आक्रोशित ग्रामीण
प्रभात खबर

निरसा : इसीएल मुगमा एरिया के कापासारा आउटसोर्सिंग कोलियरी में ग्रामीणों एवं इसीएल की सुरक्षा टीम के बीच भिड़ंत हो गयी. ग्रामीणों ने सुरक्षा टीम की गाड़ी का शीशा तोड़ दिया और गाड़ी को घेर लिया. इस दौरान जीएम सिंह के बॉडीगार्ड ने फायरिंग कर दी. बताया जाता है कि इसमें एक महिला बाल-बाल बची है. आपको बता दें कि विरोध करने वाले ग्रामीण आउटसोर्सिंग में अवैध खनन का काम करते थे. जिस गाड़ी को ग्रामीणों ने घेरा था, उस गाड़ी में जीएम बीसी सिंह मौजूद थे. उन्होंने कहा है कि ग्रामीणों का आरोप सही नहीं है. फायरिंग से किसी को नुकसान नहीं हुआ है.

आरोप है कि फायरिंग की गई गोली एक महिला की बायें हाथ को छूकर निकल गयी. गुस्साए लोगों ने कोलियरी का उत्पादन व ट्रांसपोर्टिंग ठप कर दी और धरना पर बैठ गये. लोग जीएम को हटाने की मांग कर रहे हैं. घटना की सूचना पर निरसा, गलफरबाड़ी, कुमारधुबी पुलिस, इसीएल सुरक्षा टीम एवं सीआइएसएफ की टीम मौके पर पहुंच गयी है.

ऑउटसोर्सिंग पूरी तरह पुलिस छावनी में तब्दील गयी है. ग्रामीणों ने कहा कि कुछ महिलाएं सुबह कोलियरी कोयला चुनने गयी थीं. इसी दौरान जीएम पहुंचे और कोयला चुनने से मना किया. विरोध करने पर बॉडीगार्ड ने फायरिंग कर दी. ग्रामीणों ने कहा कि वे अब कापासारा से तब तक नहीं हटेंगे, जब तक जीएम बीसी सिंह का तबादला न हो जाए.

जीएम बीसी सिंह का कहना है कि सोमवार की सुबह वे कापासारा आउटसोर्सिंग चेकिंग के लिए गए थे. उसी दौरान कुछ लोगों ने उन्हें घेरकर गाड़ी पर हमला कर दिया. जानलेवा हमले का प्रयास किया गया. बचाव में हवाई फायरिंग करनी पड़ी. फायरिंग में किसी को नुकसान नहीं हुआ है. ग्रामीणों द्वारा जो आरोप लगाया गया है वह गलत है.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें