कुंती निवास पर नजर रख रहा संदिग्ध पकड़ाया

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

धनबाद: दो-तीन दिनों से कुंती निवास पर नजर रखने के संदेह में एक युवक मंगलवार को पकड़ा गया. पूर्व विधायक कुंती देवी की सूचना पर रात नौ बजे सरायढेला पुलिस युवक को थाना ले गयी. युवक अपना नाम राम प्रताप सिंह, पिता राम बहादुर सिंह, पता रघुनाथपुर, सीवान (बिहार) बता रहा है.

राम प्रताप कुंती निवास के पीछे स्थित बैंक कॉलोनी में अधिवक्ता सत्येंद्र पंडित के घर में रह रहा था. तीन दिन पहले ही उसने किराये पर कमरा लिया था. तीन हजार रुपये प्रतिमाह किराया देने की बात तय हुई थी. उसने खुद को छात्र बताया था. आरोप है कि तीन दिनों से वह कुंती निवास के आगे-पीछे घूम रहा था. लोगों से कुंती निवास व सिंह मैंशन के बारे में जानकारी जुटा रहा था. शाम को वह घंटों कुंती निवास के सामने चक्कर काटता था. किसी ने इसकी सूचना विधायक संजीव की मां कुंती देवी व भाई मनीष को दी. कुंती देवी ने फोन कर मामले की जानकारी एसएसपी को दी.

सतर्कता बरत रहा है सिंह मैंशन : नीरज सिंह हत्याकांड को लेकर पूर्व विधायक कुंती देवी व उनके पुत्र मनीष समेत अन्य पहले से परेशान हैं. हत्या मामले में विधायक संजीव सिह जेल में हैं. सिंह मैंशन व मनीष पर खतरे की आशंका के मद्देनजर पुलिस की ओर से सुरक्षा उपलब्ध करायी गयी है. मनीष को भी एहतियात बरतने को कहा गया है. ऐसे में कुंती निवास पर नजर रखने की सूचना से सिंह मैंशन के लोगों में हड़कंप मचा हुआ है. पुलिस के आने से पूर्व सिंह मैंशन से जुड़े लोगों ने भी युवक के बारे में छानबीन की है. पुलिस मामले की छानबीन कर रही है. प्रारंभिक जांच में अभी तक किसी संदिग्ध गतिविधि का पता नहीं चल पाया है.

जाली ड्राइविंग लाइसेंस, जाली आधार कार्ड मिला

एसएसपी के आदेश पर सरायढेला थाना की पुलिस कुंती निवास के समीप पहुंच युवक को पकड़ ले गयी. युवक के पास से एक मोबाइल फोन, जाली ड्राइविंग लाइसेंस, जाली आधार कार्ड समेत अन्य कागजात मिले हैं. ड्राइविंग लाइसेंस बलिया (यूपी से निर्गत) है. पूछताछ में युवक कभी छात्र तो कभी मार्केटिंग का स्टाफ बता रहा था. कभी बेरोजगार होने व नौकरी की तलाश में धनबाद आने की बात कह रहा था. मकान मालिक अधिवक्ता को युवक ने पहले कहा था कि तीन-चार साथी मेरा और आयेगा तो कितना किराया लगेगा. अधिवक्ता के घर के तीसरे तल्ले पर युवक रह रहा था. वहां से कुंती निवास के अंदर की गतिविधियां भी देखी जा सकती है.

बांह में गोली का निशान!

युवक की दायीं बांह में एक पुराने घाव का निशान है. कहा जा रहा है कि यह गोली लगने का निशान है. जबकि युवक का कहना है कि क्रिकेट खेलने के दौरान बॉल से चोट लगने की वजह से जख्म हुआ था. पुलिस जांच में पता चला है कि युवक का आधार कार्ड बेंगलुरु में बना है. पता सीवान का है.

नीरज हत्याकांड से सबक

उल्लेखनीय है कि नीरज हत्याकांड को अंजाम देने वाले शूटर भी कुसुम बिहार में सीएफआरआइ के रिटायर्ड डिप्टी डायरेक्टर राम अह्लाद राय के घर में किराया लेकर ठहरे हुए थे. सभी ने अपना नाम व पता गलत बताया था. घटना के बाद पता चला कि शूटर वहां किराये के मकान में थे.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें