1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. deogarh
  5. madhupur upchunav 2021 upa and nda put on strength struggle between cm hemant soren and former cm babulal marandi smj

Madhupur upchunav 2021 : UPA और NDA ने झोंकी ताकत, सीएम हेमंत व पूर्व सीएम बाबूलाल के बीच होगी जोर आजमाइश

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
मधुपुर उपचुनाव को लेकर सत्ता पक्ष और विपक्ष वोटर्स को अपने पक्ष में करने में जुटे.
मधुपुर उपचुनाव को लेकर सत्ता पक्ष और विपक्ष वोटर्स को अपने पक्ष में करने में जुटे.
प्रभात खबर.

Madhupur upchunv 2021, Jharkhand News (देवघर) : झारखंड के मधुपुर विधानसभा उपचुनाव में प्रचार प्रसार अब जोर पकड़ने लगा है. एक ओर एनडीए खेमा से पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी भाजपा प्रत्याशी की जीत के लिए एड़ी-चोटी एक कर रहे हैं. वहीं, दूसरी ओर पूर्व सीएम बाबूलाल की चाल को शिकस्त देने के लिए सीएम हेमंत सोरेन और उनकी पार्टी कॉरपेट बांबिंग की तैयारी में हैं. सीएम हेमंत खुद 9 से 14 अप्रैल तक मधुपुर विधानसभा क्षेत्र में धुआंधार प्रचार करेंगे, सभाओं को संबोधित करेंगे. इस अवधि में वे मधुपुर में ही कैंप भी करेंगे.

बताया जा रहा है कि पार्टी की ओर से झामुमो सुप्रीमो शिबू सोरेन भी सभाएं करेंगे. यूपीए खेमे से कांग्रेस के मंत्री रामेश्वर उरांव भी चुनाव प्रचार करेंगे. वहीं, भाजपा प्रत्याशी गंगा नारायण सिंह के नॉमिनेशन के बाद से ही लगातार बाबूलाल मधुपुर में कैंप कर रहे हैं. भाजपा के पक्ष में गोड्डा सांसद डॉ निशिकांत दुबे भी देवघर में हैं और चुनाव प्रचार में जुटे हैं. कुल मिलाकर उपचुनाव में इस बार भाजपा और झामुमो दोनों ही दल की ओर से जबरदस्त तैयारी है.

दुमका और बेरमो सीट पर उपचुनाव हारने के बाद भाजपा इस बार मधुपुर सीट को किसी भी कीमत पर गंवाना नहीं चाहती है. वहीं झामुमो अपनी सीटिंग सीट को हर हाल में हासिल करना चाहती है. इस उपचुनाव में सीएम और पूर्व सीएम की प्रतिष्ठा दांव पर है.

मंत्री से विधायक तक गरमी में बहा रहे पसीना

मधुपुर विधानसभा उपचुनाव के प्रचार प्रसार में यूपीए के तमाम विधायक और मंत्री भीषण तपिश में पसीना बहा रहे हैं. पंचायत, गांव से लेकर घर-घर पहुंच रहे हैं. साथ ही सत्ताधारी दल को टक्कर देने के लिए एनडीए ने भी अपने सांसद, विधायक और संगठन के बड़े नेताओं को उतार दिया है. सभी घर-घर, पंचायत-पंचायत घूम रहे हैं, भाजपा डोर-टू-डोर जनसंपर्क पर ज्यादा जोर दे रही है. यूपीए फोल्डर से मंत्री रामेश्वर उरांव, मंत्री बादल, पूर्व मंत्री और मधुपुर विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की टिकट पर जीत की हैट्रिक लगा चुके केएन झा, पूर्व सांसद फुरकान अंसारी, विधायक इरफान सहित कई बड़े नेता डटे हुए हैं. जो वोटों को एकजुट करने में लगे हैं. वहीं एनडीए फोल्डर से बाबूलाल मरांडी के अलावा गोड्डा सांसद डॉ निशिकांत दुबे, सांसद अन्नपूर्णा देवी, राज्यसभा सांसद दीपक प्रकाश, पूर्व मंत्री सह विधायक नीरा यादव, विधायक नारायण दास, अमित मंडल, मनीष जायसवाल सहित कई विधायक दिन-रात कैंप करके एक-एक वोट को सहेज रहे हैं.

एक-एक वोट को सहेजने में जुटे दोनों दल

मधुपुर विधानसभा उप चुनाव में दोनों ही दल एक-एक वोटों को सहेजने में जुटे हैं. इस चुनाव में जातिगत समीकरण और धार्मिक कार्ड खेलने से भी कोई दल पीछे नहीं है. इस चुनाव की एक खासियत यह है कि इस बार मात्र छह प्रत्याशी ही चुनाव मैदान में हैं. जिसमें झामुमो और भाजपा को छोड़ चार निर्दलीय ही हैं. इसलिए इस बार भाजपा-झामुमो के बीच डायरेक्ट फाइट है. ज्ञात हो कि मधुपुर विधानसभा क्षेत्र में अल्पसंख्यक, आदिवासी, ब्राह्मण, भूमिहार, राजपूत, वैश्य, अनुसूचित जाति के वोटर अधिक हैं. जिसमें अल्पसंख्यक, दलित व आदिवासियों की आबादी अधिक है. इसके अलावा यादव, वैश्य, ब्राह्मण, भूमिहार, राजपूत, कायस्थ व अन्य जातियों के मतदाता भी अच्छी संख्या में हैं. इन वोटों को भुनाने में एनडीए और यूपीए खेमा कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहा है.

मधुपुर में जाति आधारित वोटर्स की संख्या (अनुमान के अनुसार)

जाति : वोटर (प्रतिशत में)
अल्पसंख्यक : 30
दलित : 15
आदिवासी : 12
वैश्य : 12
भूमिहार : 10
यादव : 07
ब्राह्मण : 05
राजपूत : 04
कायस्थ : 02
अन्य : 03

कार्यकर्ताओं के साथ वित्त मंत्री ने की बैठक

मधुपुर के स्थानीय शेखपुरा मुहल्ले में महागठबंधन के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए वित्त मंत्री रामेश्वर उरांव ने कहा कि पार्टी प्रत्याशी की जीत तय है. सभी कार्यकर्ता एकजुट होकर काम करें. उन्होंने कहा कि नफरत फैलाने वालो की राजनीति अब चलने वाली नहीं है. उन्होंने कहा कि सभी कार्यकर्ताओं को राज्य सरकार द्वारा किये गये काम के आधार पर मतदान करने की अपील करना है. उन्होंने कहा कि महाग‍ठबंधन की पूंजी हमारा काम है. पिछली सरकार ने हवा में सिर्फ हाथी उड़ाये हैं. काम के नाम पर सिर्फ प्रचार किया है.

वहीं, विधायक प्रदीप यादव ने कहा कि जिस प्रकार हेमंत सरकार ने राज्य हित के लिए कार्य किया है. इससे लगता है कि यह पहली सरकार है जो झारखंडियों के लिए काम कर रही है. उन्होंने कहा कि हाजी हुसैन अंसारी नेक व ईमानदार इंसान थे. उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए यहां की जनता उनके पुत्र को जीता कर भेजे.

पूर्व सीएम ने दर्जनों गांवों में चलाया जनसंपर्क, भाजपा को जिताने की अपील

पूर्व मुख्यमंत्री सह भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने बुधवार को करौं प्रखंड क्षेत्र के नावाडीह, बदिया, कठमिरखी, बिरनगडिया, लाला पोखर, रानीडीह, चकदाहा आदि गांवों का भ्रमण कर भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में वोट देने की अपील की. मौके पर बाबूलाल मरांडी ने चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि अगर यहां की जनता क्षेत्र का विकास चाहती है तो भाजपा के पक्ष में अपना मतदान करें. उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार में पूर्व में कई प्रकार की कल्याणकारी योजनाओं को इस क्षेत्र में चलाने का काम किया है. उन्होंने कहा कि जब से राज्य में महागठबंधन सरकार बनी है. यहां के लोगों का विकास नहीं हुआ है. उन्होंने कहा कि सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए जनता उपचुनाव में मतदान के जरिये इसका जवाब दें. कहा कि पार्टी ने आपको नेता नहीं बल्कि आपके घर का बेटा देने का काम किया है. इस बेटे ने हमेशा से गरीबों की सेवा में अपनी तत्परता दिखायी है. अब जनता को अपना निर्णय लेने की जरूरत है. मौके पर चंदनकियारी विधायक अमर बाउरी ने भी सभा को संबोधित किया. इस अवसर पर जिप सदस्य बलवीर प्रसाद राय, दिलीप यादव समेत पार्टी कार्यकर्ता मौजूद थे.

वादा पूरा करने वाली सरकार, जात-पात से ऊपर उठकर करें मतदान : बादल

मारगोमुंडा के स्थानीय आमबगान में महागठबंधन कार्यकर्ताओं की बैठक कांग्रेस प्रखंड अध्यक्ष जय शंकर शरण की अध्यक्षता में आयोजित की गयी. बैठक में कृषि मंत्री बादल पत्रलेख ने कहा कि इस उपचुनाव में जात पात से उपर उठकर मतदान करना है. उन्होंने कहा कि महागठबंधन प्रत्याशी को इस बार चुनाव जिताये. उन्होंने कहा कि हाजी हुसैन अंसारी ने लोगों की सेवा करते करते दुर्भाग्यवश इनकी मौत हो गयी. इस चुनाव को जीता कर उन्हें श्रद्धांजलि देना है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने अपने वादे के अनुसार 2 लाख किसानों का 8 हजार करोड़ कृषि ऋण माफ कर दिया है. जिसमें भुगतान की प्रक्रिया लगातार चल रही है. कहा कि 15 लाख लोगों का नया राशन कार्ड बनाया गया है.

पूर्व सांसद फुरकान अंसारी ने कहा कि कांग्रेस हमेशा सांप्रदायिकता के खिलाफ रही है. केंद्र सरकार की किसान विरोधी नीतियों के कारण किसान महीनों से सड़कों पर है. उन्होंने कहा कि उपचुनाव में महागठबंधन प्रत्याशी को जीत दिलाने के लिए कार्यकर्ता एकजुट होकर कार्य करें. इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष राजेश ठाकुर, पूर्व प्रदेश सचिव रण विजय सिंह, जिला अध्यक्ष मुन्नम संजय, सोहराब अंसारी, सोहन मुर्मू, मो शमीम, मनीष सिन्हा आदि मौजूद थे.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें