1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. deogarh
  5. jharkhand news treatment home guard death in police custody family commotion in deoghar sadar hospital si suspended smj

पुलिस कस्टडी में इलाजरत होमगार्ड जवान की मौत, परिजनों का देवघर सदर हॉस्पिटल में हंगामा, SI सस्पेंड

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
पुलिस कस्टडी में इलाजरत होमगार्ड जवान की मौत पर सदर हॉस्पिटल में परिजनों ने जमकर किया हंगामा.
पुलिस कस्टडी में इलाजरत होमगार्ड जवान की मौत पर सदर हॉस्पिटल में परिजनों ने जमकर किया हंगामा.
प्रभात खबर.

Jharkhand News, Deoghar News, देवघर : पुलिस कस्टडी में सदर हॉस्पिटल में इलाजरत मोहनपुर थाना क्षेत्र के लेटवावरण गांव निवासी होमगार्ड जवान शालिग्राम यादव की मौत शुक्रवार की सुबह हो गयी. शालिग्राम पुलिस अधीक्षक कार्यालय में कार्यरत थे. घटना के बाद मृतक के परिजनों ने पुलिस पर हिरासत में लेकर प्रताड़ित किये जाने का आरोप लगाते हुए सदर हॉस्पिटल में जमकर हंगामा किया. इसके बाद SI यशवंत सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है. वहीं, DIG ने मामले की हाई लेवल जांच के लिए SIT का गठन कर दिया है.

मोहनपुर गैंगरेप मामले में शालिग्राम के बेटे को मुख्य आरोपी बनाया गया था. आरोपी बेटे को सरेंडर करने दबाव के लिए शालिग्राम को हिरासत में लिया गया था. इसके बाद पुलिस कस्टडी में सदर हॉस्पिटल में इलाजरत शालिग्राम यादव की मौत हो गयी. मौत के बाद सदर हॉस्पिटल में जमकर हंगामा किया गया.

परिजनों ने पुलिस पर लगाये गंभीर आरोप

होमगार्ड जवान की मौत के बाद सदर हॉस्पिटल में परिजनों ने हंगामा करते हुए पुलिस पर गंभीर आरोप लगाये. परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने शालिग्राम को प्रताड़ित किया तथा जबरन जहरीला पदार्थ खिला दिया. अस्पताल में अपने पिता के शव के साथ लिपट कर रोते हुए मृत होमगार्ड जवान की पुत्री रिंकू देवी ने बताया कि उसके पिता एसपी कार्यालय में ही काम करते थे. मरने से पहले किसी बात की आशंका होने पर उसके पिता ने आज सुबह उसे व उसकी छोटी बहन को बताया कि एसपी ने अपने पुलिस पदाधिकारियों को उसे पकड़ कर पिटाई करने का निर्देश दिया, ताकि होमगार्ड अपने पुत्र को पुलिस के समक्ष प्रस्तुत कर सके. ऐसा नहीं करने पर पहले तो उनके पिता को मोहनपुर पुलिस के पदाधिकारियों ने पिटाई की और उसके बाद पटक कर जहरीला पदार्थ खिला दिया. इस वजह से उसकी मौत हो गयी. परिजनों के जोरदार हंगामा के बाद सदर अस्पताल को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया.

दूसरी बार शालिग्राम को लिया गया था हिरासत में

मोहनपुर थाना क्षेत्र में बीते शनिवार की सुबह हुए एक गैंगरेप के मामले में संदिग्ध आरोपित के पिता शालिग्राम यादव को पुलिस ने पूछताछ के लिए रविवार को उठाया था. परिजनों का कहना है कि दो दिनों तक पूछताछ के बाद उन्हें बुधवार को छोड़ दिया गया था. इसके बाद गुरुवार की सुबह एक बार फिर से पुलिस ने उन्हें उठाया व 24 घंटे के अंदर बेटे को पुलिस के समक्ष प्रस्तुत करने को लेकर दबाव बनाया. इस दौरान गुरुवार की शाम उनकी तबीयत बिगड़ गयी व आनन-फानन में पुलिस के एक पदाधिकारी ने उन्हें अपने वाहन से पहले उसे मोहनपुर सीएचसी पहुंचाया, मगर सीएचसी प्रबंधन ने उसे सदर अस्पताल में इलाज के लिए ले जाने की सलाह दी.

तबीयत ज्यादा बिगड़ने की स्थिति में गुरुवार की शाम समय उसे सदर अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया. ऑन डयूटी चिकित्सक ने उपचार शुरू किया. उपचार के क्रम में चिकित्सक ने जहरीला पदार्थ खाने की आशंका जताते हुए बैद्यनाथधाम अोपी पुलिस को मामले से अवगत कराया. इस बीच शुक्रवार की सुबह सदर अस्पताल में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गयी.

मामले की होगी जांच : SDO

हंगामा की सूचना के बाद देवघर SDO दिनेश यादव अस्पताल पहुंचे. SDO ने बताया कि प्रथम दृष्टतया इस बात की जानकारी मिली है कि मृतक पहले से बीमार था और सदर अस्पताल में इलाज के क्रम में उसकी मौत हो गयी. इस मामले की जांच करायी जायेगी. इसके लिए मोहनपुर CO प्रीतिलता किस्कू को बतौर मजिस्ट्रेट जांच कर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया.

DIG ने किया SIT का गठन

संताल परगना रेंज, दुमका के डीआइजी सुदर्शन मंडल ने कहा कि मोहनपुर कांड का मामला गंभीर है. एसआइटी में शामिल मोहनपुर थाना प्रभारी सहित नगर थाने के एसआइ यशवंत कुमार, कुंडा थाने के एसआइ प्रवीण कुमार को तत्काल लाइन क्लोज कर दिया गया है. मामले की उच्चस्तरीय जांच करायी जा रही है. रिपोर्ट प्राप्त होते ही निलंबन की कार्रवाई की जायेगी.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें