1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. deogarh
  5. jharkhand me kab khulega mandir there is a delay in opening the doors of baba temple know from when the devotees able to worship smj

Jharkhand : बाबा मंदिर का कपाट खुलने में है देरी, जानें कब से श्रद्धालु कर पायेंगे पूजा

झारखंड में धार्मिक स्थलों को खोलने संबंधी आपदा प्रबंधन के फैैसले के बाद भी श्रद्धालुओं के लिए देवघर के बाबा मंदिर खोलने पर संशय बरकरार है. NIC की ओर से अब तक E-Pass संबंधित वेबसाइट को मंजूरी नहीं मिली है. इस कारण 17 सितंबर से बाबा मंदिर नहीं खुल पायेंगे.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बाबा मंदिर का कपाट खुलने में अभी है देरी. तकनीकी दिक्कत आ रही है सामने.
बाबा मंदिर का कपाट खुलने में अभी है देरी. तकनीकी दिक्कत आ रही है सामने.
फाइल फोटो.

Jharkhand News (देवघर) : झारखंड सरकार ने मंगलवार को आपदा प्रबंधन की बैठक में बाबा मंदिर खोलने का निर्णय ले लिया, लेकिन तीन दिन बाद भी अब तक बाबा मंदिर आम श्रद्धालुओं के लिए नहीं खोला जा सका. प्रशासनिक स्तर पर 14 सितंबर को पहले दावा किया गया कि 16 सितंबर से मंदिर में आम श्रद्धालु प्रवेश कर पायेंगे.

हालांकि, 15 सितंबर को ई-पास की व्यवस्था शुरू नहीं हो पायी. इस दिन दावा किया गया कि NIC की ओर से अब तक ई-पास से संबंधित वेबसाइट को मंजूरी नहीं मिली है. इस कारण अब 17 सितंबर से बाबा मंदिर आम श्रद्धालुओं के लिए खुलेगा. पर, 16 सितंबर की देर शाम तक भी प्रशासनिक स्तर पर फिर से NIC की मंजूरी नहीं मिलने की बात कही गयी. इससे 17 सितंबर को भी मंदिर का कपाट आम श्रद्धालुओं के लिए खोले जाने पर संशय है. अब मंदिर कब खुलेगा, इसकी सही जानकारी कोई भी नहीं दे पा रहा. इससे स्थानीय तीर्थ पुरोहित, व्यवसायियों और आम भक्तों में रोष है.

अप्रूवल के बाद ही जारी होगा लिंक

बाबा मंदिर खोलने को लेकर डीसी मंजूनाथ भजंत्री ने कहा कि वेबसाइट की सिक्यूरिटी अॉडिट में NIC की ओर से देरी हो रही है. हम लोग लगे हुए हैं. लगातार NIC के संपर्क में हैं. जैसे ही अप्रूूवल मिल जायेगा, लिंक सार्वजनिक कर दिया जायेगा और लोग अॉनलाइन ई-पास बना सकेंगे. डीसी ने यह भी कहा है कि प्रशासन ने बाबा मंदिर खोलने, सुरक्षा आदि की सारी तैयारी कर रखी है. जैसे ही लिंक अप्रूवल मिल जायेगा, श्रद्धालुओं को निबंधन शुरू हो जायेगा.

उन्होंने कहा कि भक्तों की आस्था को वे समझते हैं, लेकिन कोविड गाइडलाइन और कुछ शर्तें हैं, जिसे वेबसाइट में ई-पास के लिए जरूरी किया गया है, उस तकनीकी चीजों को ठीक करने में देरी हो रही है, ताकि श्रद्धालुओं को अॉनलाइन वेबसाइट के जरिये ई-पास लेने में परेशानी नहीं हो. इसलिए आम श्रद्धालुओं के लिए बाबा मंदिर को रि-ओपेन करने में थोड़ा विलंब हो रहा है.

क्यों बढ़ जा रहा है डेट

सरकार के निर्णय के दूसरे दिन ही देवघर जिला प्रशासन ने बाबा मंदिर को आम श्रद्धालुओं के लिए रि-ओपेन करने की तैयारी शुरू कर दी थी. डीसी के निर्देश पर कोविड गाइडलाइन के तहत जो भी जरूरी परिवर्तन वेबसाइट में ई-पास के लिए करना था, उसे करके एनआइसी को अप्रूवल के लिए भेजा गया. लेकिन एनआइसी ने वेबसाइट में जो भी इनपुट नये डाले गये हैं, उसकी सिक्यूरिटी अॉडिट में देरी कर दी. नतीजा है कि प्रशासन के मंदिर खोलने की तैयारी हर दिन आगे बढ़ जा रही है. .

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें