1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. deogarh
  5. everyone went to dumka by brothers car on monday morning news of everyones death the people of the salaunatand neighborhood were inconsolable deoghar accident smr

देवघर हादसा : सोमवार सुबह ही भाई के कार से सभी गये थे दुमका, सभी की मौत की आयी खबर, सलौनाटांड़ मुहल्ले के लोग गमगीन

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
देवघर हादसा
देवघर हादसा
संकेतिक तस्वीर

संत फ्रांसिस स्कूल, देवघर के अॉनलाइन क्लासेस के प्रभारी सह डिजी क्लासेस के इंचार्ज सलोनाटांड़ निवासी शांतनु सिंह सहित उनकी मां, बहन तथा बहन के दो बच्चों की सड़क दुर्घटना में मौत से शहरवासी अचंभित हैं. किसी को विश्वास नहीं हो रहा है कि एक साथ एक ही परिवार के पांच लोगों समेत छह की मौत हो गयी.

यह हादसा दुमका जिले के जामा थाना से महज 200 मीटर की दूरी पर हुई. घटना के बाद सलोनाटांड मुहल्लेवासी गमजदा हो गये, जब उन्हें पता चला कि मुहल्ले का शांतनु उर्फ सन्नी के अलावा उनकी मां पुटुल देवी उर्फ अर्चना सिंह, बहन नेहा कुमारी उर्फ नन्ही सहित उसके दोनों बच्चे तीन साल का लड़का और एक साल की लड़की और भाई का गाड़ी चला रहे चालक की मौत हो गयी.

सबसे पहले घटना की जानकारी मुहलल्ले की सत्यभामा देवी व गुंजन देवी के अलावा बंटी उर्फ नन्दन सिंह, उज्ज्वल सिंह, उत्तम कुमार, भविष्य कुमार, सोनू कुमार आदि को हुई. उन्हें टीवी पर चल रहे समाचार व आस पड़ोस के लोगों के माध्यम से जानकारी मिली. वे सभी शांतनु के घर के बाहर जमा होने लगे. हालांकि घर में कोई भी सदस्य नहीं थे. बाहर दरवाजे पर बड़ा सा ताला लटका हुआ था.

सभी घटना को लेकर आश्चर्य चकित थे. मुहल्लेवासियों का कहना था कि सोमवार सुबह ही सभी भाई के कार पर सवार होकर दुमका के लिए गये थे. उससे पहले तक रोजाना दोनों छोटे छोटे भांजा व भांजी की आवाज घर के सामने से गुजरने वालों को सुनाई देती थी. मुहल्लेवासियों ने कहा कि शांतनु सहित परिवार के सभी लोग मां, बहन मिलनसार थे. उनके पिता दिवंगत मंटु सिंह भी जमीन व अन्य छोटे व्यवसाय से जुड़े हुए थे. आठ नौ साल पहले उनका निधन बीमारी की वजह से हो गया था. मूल रूप से वे लखीसराय जिले के मनोरमपुर गांव के रहनेवाले थे.

posted by : sameer oraon

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें