1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. deogarh
  5. deoghar ropeway accident update 1 killed dozens injured 40 still trapped due to collapse of roller srn

देवघर में बड़ा हादसा, त्रिकूट रोप-वे का रोलर टूटने से 1 की मौत, दर्जनों घायल, 40 अब भी फंसे

कल शाम देवघर त्रिकूट रोपवे हादसे में 1 मौत की सूचना मिल रही है, जबकि दर्जनों लोग इसमें घायल हैं. दरअसल कल पहाड़ की चोटी पर स्थित रोप-वे के यूटीपी स्टेशन का रोलर अचानक टूट गया

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
Jharkhand news: देवघर त्रिकूट रोप-वे हादसा
Jharkhand news: देवघर त्रिकूट रोप-वे हादसा
प्रभात खबर.

देवघर : त्रिकूट रोपवे में रविवार की शाम बड़ा हादसा हो गया. करीब 4:30 बजे रोपवे जैसे ही डाउन स्टेशन से चालू हुआ कि पहाड़ की चोटी पर स्थित रोप-वे के यूटीपी स्टेशन का रोलर अचानक टूट गया. इसके बाद रोप-वे की 23 ट्रॉलियां एक झटके में सात फीट नीचे लटक गयीं. वहीं, सबसे पहले ऊपर की एक ट्रॉली 40 फीट नीचे खाई में गिर गयी, जिसमें पांच लोग सवार थे. स्थानीय लोगों और रोप-वे कर्मियों ने मिलकर उस ट्रॉली में फंसे पांच लोगों को बाहर निकाला.

हादसे के दौरान इसमें सबसे नीचे की दो ट्रॉली पत्थर से जोरदार ढंग से टकरा गयी. इन दोनों ट्रॉलियों में सवार सभी लोग बुरी तरह घायल हो गये. इस हादसे में पथरड्डा, सारठ की रहनेवाली सुमंती देवी-पति स्व राजकुमार पुजहर की मौत हो गयी. बताया जाता है कि इस हादसे में ट्रॉली के अंदर फंसे सभी लोग घायल हैं. इसमें एक बच्ची समेत तीन की हालत बेहद गंभीर है. घायलों में अधिकांश लोग बिहार के हैं.

स्थानीय लोगों की मदद से एनडीआरआफ ने चलाया रेस्क्यू :

इस घटना के बाद नीचे ऑफिस में कार्यरत रोप-वे के प्रबंधन के सभी कर्मी व अधिकारी भाग निकले. स्थानीय नागरिक उपेंद्र कापरी ने नीचे की तीन ट्रॉलियों से कुर्सी के सहारे एक दर्जन लोगों को बाहर निकाला. प्रशासन को सूचना मिलने के बाद डीसी मंजूनाथ भजंत्री, एसपी सुभाष चंद्र जाट व एनडीआरएफ की टीम पहुंची.

करीब तीन घंटे के बाद मेंटेनेंस रोप-वे को चालू किया गया. खराबी के कारण शुरू में मेंटेनेंस रोप-वे को चालू नहीं किया जा सका था. इसके बाद बचाव-कार्य चालू हुआ. इसके बाद मेंटेनेंस रोप-वे से ही ऊपरवाली ट्राॅली से नीचे गिरे घायलों को लाया जा सका. रात 10 बजे तक छह ट्रॉली से करीब 20 लोगों को निकाला जा सका. इसमें से गंभीर रूप से घायल नौ लोगों को सदर अस्पताल भेजा गया.

एनडीआरएफ की टीम ने स्थानीय लोगों की मदद से मेंटेनेंस ट्रॉली के जरिये फंसे हुए पर्यटकों को नीचे लाने का काम किया. रात होने से रेस्क्यू में दिक्कत आ रही थी. त्रिकूट रोप-वे के साइट इंचार्ज ने राज्य सरकार से हवाई सहायता की मांग की है.

घायल बच्ची के परिजन का पता नहीं

एक डेढ़ साल की गंभीर रूप से घायल बच्ची को अस्पताल लाया गया. उसके परिजन का पता नहीं चल पा रहा था. बच्ची का चेहरा आधा कट गया था. हालत गंभीर है.

घायलों की सूची

1. गोविंद भोक्ता, सलोनाटांड़, गिरिडीह

2. भूपेंद्र वर्मन, कोकराझाड़, असम

3. दीपिका वर्मन, कोकराझाड़, असम

4. अज्ञात एक वर्षीय बच्ची

5. नौ वर्षीया रूपा कुमारी, करमाटांड़, जामताड़ा

6. सोनी देवी, तिरनगर

7. रमन कुमार श्रीवास्तव, लहेरीसराय, दरभंगा

8. सुधा रानी-पति रमन कुमार श्रीवास्तव, लहेरियासराय, दरभंगा

9. खूशबू रानी-पिता रमन कुमार श्रीवास्तव, लहेरियासराय, दरभंगा

झारखंड सरकार ने केंद्र से मदद मांगी

त्रिकूट पर्वत पर हुए हादसे में फंसे लोगों को बचाने के लिए झारखंड सरकार ने केंद्र से मदद मांगी है. रोप-वे पर फंसे हुए लोगों को नीचे उतारने के लिए राज्य सरकार ने केंद्रीय गृह मंत्रालय से सहायता का आग्रह किया है. राज्य के पर्यटन सचिव अमिताभ कौशल ने बताया कि राज्य सरकार के पास फंसे हुए पर्यटकों को उतारने के लिए विशेषज्ञ नहीं हैं. उन्होंने कहा कि भारत सरकार से पर्यटकों को सुरक्षित नीचे उतारने के लिए हेलीकॉप्टर और विशेषज्ञ देने का आग्रह किया गया है.

Posted By: Sameer Oraon

Prabhat Khabar App :

देश-दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, मोबाइल, गैजेट, क्रिकेट की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें