1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. deogarh
  5. cyber crime news cyber criminal arrested in deoghar after three months had implicated the young man in his trap

साइबर अपराधी तीन माह बाद देवघर से गिरफ्तार, ऐसे फंसाया था युवक को अपने जाल में

साइबर की टीम ने छापा मार कर किया गिरफ्तार. बरियातू व डोरंडा के लोगों से कर चुका है ठगी

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
साइबर अपराधी तीन माह बाद देवघर से गिरफ्तार
साइबर अपराधी तीन माह बाद देवघर से गिरफ्तार
Prabhat Khabar

देवघर : रांची जिला साइबर सेल ने बरियातू थाना क्षेत्र से 60 हजार की साइबर ठगी के मामले में एक अपराधी सिराज अंसारी को गिरफ्तार किया है़ वह देवघर के मारगो मुंडा थाना क्षेत्र के बनसिम्मी गांव का रहनेवाला है़ सिटी एसपी सौरभ ने सोमवार को प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि 27 अप्रैल को ठगी के संबंध में बरियातू के हैरिटेज कांप्लेक्स निवासी राकेश अग्रवाल ने बरियातू थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी थी.

राकेश के अनुसार उन्हें किसी ने बैंक मैनेजर खुद को कह कॉल किया और एटीएम कार्ड कुछ दिनों में ब्लॉक हो जाने की बात कही. वहीं एटीएम के सुचारु रखने के लिए ओटीपी भेज उक्त नंबर पर एसएमएस या फोन करने को कहा. थाेड़ी देर के बाद एक ओटीपी आया, तो राकेश कुमार ने कॉल करनेवाले काे बता दिया़ ओटीपी बताने के थोड़ी देर बाद उनके अकाउंट से 60 रुपये की निकासी हो गयी़ तब उन्होंने उस नंबर पर कॉल किया, तो वह बंद मिला़ इसके बाद उन्होंने केस दर्ज कराया था.

सिराज अंसारी ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि फोन कर आवाज से वह पहचान जाता है कि कौन सीनियर सिटीजन अथवा वृद्ध है. वे आसानी से उनके शिकार बन जाते हैं. उसने डोरंडा थाना से एक लाख से अधिक तथा बरियातू के 60 हजार रुपये की बात स्वीकारी. साइबर क्राइम की स्पेशल टीम ने तकनीकी शाखा के सहयोग से उक्त मोबाइल के सिम के आधार पर कार्रवाई की.

स्पेशल टीम ने छापेमारी दल का गठन किया. इसके बाद मारगो मुंडा थाना के सहयोग से सिराज को देवघर स्थित बनसिम्मी गांव से गिरफ्तार किया गया़ छापेमारी टीम का नेतृत्व साइबर सेल डीएसपी यशोधरा कर रही थी़ं टीम में नीतीश कुमार, अनुभव सिन्हा, सुमित कुमार लकड़ा और भावेश प्रसाद शामिल थे़

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें