यौन उत्पीड़न केस : विधायक प्रदीप यादव की गिरफ्तारी के लिए रांची में छापेमारी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

देवघर/ रांची : जेवीएम नेत्री से यौन उत्पीड़न के केस में देवघर पुलिस की टीम ने एजी मोड़ के समीप स्थित विधायक प्रदीप यादव के आवास में छापेमारी की. छापेमारी रविवार की शाम करीब छह बजे की गयी. छापेमारी का नेतृत्व केस की आइओ साइबर थाने की इंस्पेक्टर संगीता कुमारी कर रही थी.

मौके पर आरोपित विधायक प्रदीप अपने सरकारी आवास में नहीं मिले. इस वजह से पुलिस उन्हें गिरफ्तार नहीं कर सकी. पुलिस प्रदीप यादव की गिरफ्तारी के लिए उनके दूसरे ठिकाने के बारे में जानकारी एकत्र करने का प्रयास कर रही है. देवघर पुलिस ने प्रदीप के सरकारी आवास की तलाशी नहीं ली. क्योंकि पुलिस के पास आवास सर्च करने का वारंट नहीं था. देवघर एसपी नरेंद्र कुमार सिंह ने कहा कि गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की गयी थी, लेकिन आवास में नहीं मिलने के कारण गिरफ्तार नहीं किया जा सका.

डोरंडा पुलिस कर रही थी सहयोग

देवघर पुलिस के सहयोग के लिये रांची की डोरंडा पुलिस भी साथ में थी. शनिवार को जेवीएम के पौड़ैयाहाट विधायक प्रदीप यादव के खिलाफ देवघर सीजीएम कोर्ट से गिरफ्तारी वारंट जारी हुआ था. केस में 28 जून को प्रदीप यादव के खिलाफ वारंट जारी करने के लिए केस की आइओ इंस्पेक्टर संगीता कुमारी ने न्यायालय में आवेदन दी थी.
वारंट जारी करने के लिए पुलिस ने न्यायालय को बताया था कि नोटिस और मौखिक निर्देश के बावजूद प्रदीप यादव ने केस में प्रयुक्त मोबाइल पुलिस के पास जांच के लिए जमा नहीं कराया.
  • यौन उत्पीड़न के केस में शनिवार को न्यायालय से जारी हुआ था वारंट
  • प्रदीप के दूसरे ठिकाने के बारे में जानकारी जुटा रही पुलिस
इस कारण मोबाइल की फोरिंसिक जांच नहीं हो पायी. इस वजह से अनुसंधान में बाधा उत्पन्न हो रही है. केस में पीड़ित महिला ने अपनी जान का खतरा होने और सुरक्षा प्रदान करने को लेकर पूर्व में पुलिस को एक आवेदन दिया था. केस में गवाह अजय मंडल का भी एक आवेदन प्राप्त हुआ है, जिसमें उन्हें बयान बदलने की धमकी दी गयी है. इसके साथ ही उनके द्वारा सुरक्षा की मांग की गयी.
इस वजह से गिरफ्तारी वारंट जारी किया जाये. पुलिस के अनुसार वारंट जारी होने के बाद शनिवार को देवघर एसपी के निर्देश पर केस की अाइओ वारंट लेकर रांची पहुंची और छापेमारी करने उनके आवास गयी. गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की सूचना केस की अाइओ ने डोरंडा पुलिस को भी दी है. देवघर पुलिस की इस छापेमारी टीम में एसआइ एके टोपनो सहित सशस्त्र पुलिस बल भी शामिल थे.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें