1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. coronavirus outbreak in jharkhand corona positive rate of infection coronavirus spread in jharkhand coronavirus hindi news

Coronavirus Outbreak in Jharkhand : संक्रमण की यही रही रफ्तार, तो अगले 12 दिनों में आंकड़ा होगा 17 हजार के पार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
संक्रमण की यही रही रफ्तार, तो अगले 12 दिनों में आंकड़ा होगा 17 हजार के पार
संक्रमण की यही रही रफ्तार, तो अगले 12 दिनों में आंकड़ा होगा 17 हजार के पार
Prabhat Khabar

सुनील चौधरी, रांची : झारखंड में पिछले 12 दिनों में कुल कोरोना पॉजिटिव मरीज की संख्या दोगुनी हो गयी. 11 जुलाई को झारखंड में कुल 3663 पॉजिटिव केस मिल चुके थे. पर इसके ठीक 12वें दिन कुल पॉजिटिव की संख्या 7250 हो गया. यानी 11 जुलाई से लगभग दोगुना. झारखंड में एक समय दोगुना होने की दर 31 दिन थी. धीरे-धीरे जांच बढ़ती गयी, साथ ही संक्रमितों की संख्या भी बढ़ती गयी. स्थिति यह हो गयी है कि अब 12 से 13 दिनों में ही दोगुने संख्या में मरीज मिलने लगे हैं.

स्वास्थ्य विभाग का अनुमान है कि अगले 12 दिनों में यानी 10 मई के आसपास मरीज की संख्या 17 हजार से अधिक होगी. झारखंड में मार्च में केवल एमजीएम जमशेदपुर और रिम्स रांची में ही जांच की व्यवस्था थी. तब दो सौ से तीन सौ सैंपल की जांच हो पाती थी. उस दौरान पॉजिटिव केस भी कम मिलते थे. अप्रैल में पीएमसीएच धनबाद में भी जांच शुरू हो गयी. मई में टीएमएच जमशेदपुर, इटकी आरोग्यशाला और कुछ निजी लैब में भी जांच आरंभ हो गयी.

मई में प्रतिदिन औसतन 15 से 20 पॉजिटिव मिलते थे. इसके बाद जून में कुछ जिलों में ट्रूनेट मशीन से भी जांच आरंभ हुई. साथ ही कुछ निजी लैब और जुड़े. फिर भी औसतन 2500 से तीन हजार सैंपल की जांच हो पाती थी. तब जून में औसतन 50 से 70 केस प्रतिदिन मिल रहे थे. जुलाई में सभी 24 जिलों में ट्रूनेट मशीन से जांच होने लगी. जुलाई में प्रतिदिन औसतन पांच हजार से छह हजार सैंपल की जांच होने लगी, तो मरीजों की संख्या में भी बेतहाशा वृद्धि हुई है.

इस तरह बढ़ते गये मरीज

दिनांक संख्या

31 मार्च 01

02 अप्रैल 02

06 अप्रैल 04

09 अप्रैल 13

15 अप्रैल 29

24 अप्रैल 59

30 अप्रैल 110

दिनांक संख्या

17 मई 223

27 मई 458

05 जून 922

16 जून 1839

11 जुलाई 3663

23 जुलाई 7250

28 जुलाई 9679

कम्यूनिटी ट्रांसमिशन नहीं : स्वास्थ्य सचिव डॉ नितिन कुलकर्णी ने कहा है कि यह सही है कि जुलाई में केस की संख्या बढ़ी है. पर जुलाई में सबसे अधिक जांच भी हो रही है. जल्द ही इसे सीएचसी स्तर पर भी शुरू किया जायेगा. राज्य में अभी कम्यूनिटी ट्रांसमिशन की स्थिति नहीं है. जल्द ही एक बार फिर सिरो सर्वे कराया जायेगा.

Post by : Pritish Sahay

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें