1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. chatra
  5. naxalites massacre in chatra tspc naxalites set fire to two coal laden vehicles in tandwa chatra aml

चतरा में नक्सलियों का तांडव, टीएसपीसी उग्रवादियों ने टंडवा में कोयला लदे दो वाहनों को फूंका

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
उग्रवादियों ने टंडवा में  कोयला लदे दो वाहनों को फूंका
उग्रवादियों ने टंडवा में कोयला लदे दो वाहनों को फूंका
Prabhat Khabar

Chatra Crime News टंडवा (चतरा) : कोयलांचल में उग्रवादी (Naxalites) व अपराधी समय-समय पर अपनी उपस्थिति का एहसास कराते रहते हैं. मंगलवार की रात आम्रपाली कोल परियोजना (Amrpali Coal Project) से कोयला ढुलाई में लगे दो हाइवा को उग्रवादियों ने फूंक दिया. राहम बाईपास रोड में लगभग दो दर्जन उग्रवादी अचानक आये और कोयला ढुलाई में लगे दो हाइवा को रोक दिया. जिसके बाद हाइवा चालकों को नीचे उतारकर हाइवा से ही डीजल निकाल कर उसमें आग लगा दी. घटना में हाइवा नंबर जेएच 13 एफ 8313 व जेएच 01 डीयू 0915 का केबिन धूं-धूंकर जल गया.

इस दौरान एक अन्य हाइवा को भी उग्रवादियों ने रोकने का प्रयास किया, लेकिन वाहन चालक चकमा देकर भाग निकला. इस दौरान उग्रवादियों ने हवाई फायरिंग भी की. इधर सूचना के एक घंटे अंदर पुलिस घटनास्थल पर पहुंचकर फायर ब्रिगेड की मदद से आग बुझाई. पुलिस ने घटनास्थल से चार खोखा भी बरामद किया. पुलिस ने आसपास क्षेत्रो में सर्च अभियान चलाया.

घटना के बाद टीएसपीसी उग्रवादियों ने घटनास्थल पर पर्चा छोड़कर घटना की जिम्मेवारी ली है. एक बार पुन: उग्रवादियों की धमक से कोयलांचल में दशहत का माहौल है. मालूम हो कि आम्रपाली कोल परियोजना से फुलबसीया रेलवे साइडिंग कोयला ढुलाई प्रतिदिन की जाती है. जिसमें राहम बाईपास काफी सुनसान जगह है. जिसका फायदा उग्रवादियों ने उठाया.

एसपी ने लिया घटना का जायजा

एसपी ऋषव कुमार झा ने मंगलवार को घटनास्थल पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली. कंपनी के लोगों व वाहन चालकों से घटना से संबंधित पूछताछ की. मौके पर अभियान एएसपी निगम प्रसाद, एसडीपीओ विकास कुमार पांडेय, थाना प्रभारी प्रमोद कुमार समेत कई उपस्थित थे.

पर्चा में क्या लिखा

हाइवा में आग लगाये जाने की जिम्मेवारी टीएसपीसी उग्रवादियों ने लिया है. घटनास्थल पर टीएसपीसी उग्रवादियों के द्वारा पर्चा छोड़ा गया है. पर्चा के माध्यम से टीएसपीसी उतरी दक्षिणी एरिया कमेटी के अमरजीत जी ने घटना की जिम्मेवारी ली है. पर्चा में सभी ठेकेदारो को बिना आदेश के कार्य नहीं करने की चेतावनी दी गयी. साथ ही संगठन की बात नहीं मानने पर फौजी कार्रवाई करने की बात कही है. 90 प्रतिशत स्थानीय लोगों को काम देने को कहा गया है. इसके अलावे माइनिंग क्षेत्र में संगठन का निर्देश नहीं मानने पर जानमाल के नुकसान की चेतावनी दी गयी है.

Posted By: Amlesh Nandan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें