1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. chatra
  5. jharkhand naxal news naxalite organization tspc suffered a major setback in chatra jharkhand rewarded naxalite commander of 15 lakh mukesh ganjhu surrendered with weapons grj

Jharkhand Naxal News : झारखंड में नक्सली संगठन टीएसपीसी को बड़ा झटका, 15 लाख का इनामी नक्सली कमांडर मुकेश गंझू ने किया सरेंडर

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Jharkhand Naxal News : 15 लाख का इनामी नक्सली कमांडर मुकेश गंझू ने किया सरेंडर
Jharkhand Naxal News : 15 लाख का इनामी नक्सली कमांडर मुकेश गंझू ने किया सरेंडर
फाइल फोटो

Jharkhand Naxal News, Chatra News, चतरा (दीनबंधु) : झारखंड की चतरा पुलिस को नक्सलियों के खिलाफ चलाये जा रहे अभियान में लगातार सफलता मिल रही है. इसी क्रम में प्रतिबंधित नक्सली संगठन टीएसपीसी के रिजनल कमांडर मुकेश गंझू ने पुलिस के समक्ष सरेंडर (आत्मसमर्पण) कर दिया. 15 लाख का इनामी नक्सली मुनेश्वर उर्फ मुकेश गंझू ने हथियार के साथ सरेंडर किया. इस नक्सली के आत्मसमर्पण की आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. दर्जनों नक्सल मामलों में वांछित नक्सली का झारखंड, बिहार, उड़ीसा व छत्तीसगढ़ समेत विभिन्न राज्यों की पुलिस के अलावा टेरर फंडिंग के मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए को भी तलाश थी.

प्रतिबंधित नक्सली संगठन टीएसपीसी के रिजनल कमांडर मुकेश गंझू ने पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया. वह संगठन में द्वितीय कमांडर था. पुलिस के लगातार दबाव में आकर उसने आत्मसमर्पण किया है. उस पर हत्या, मारपीट, लेवी, रंगदारी लेने का मामला विभिन्न थानों में दर्ज है. मुकेश का आत्मसमर्पण करना नक्सलियों को बड़ा झटका माना जा रहा है.

नक्सलियों के विरुद्ध पुलिसिया सख्ती का असर चतरा में दिख रहा है. 15 लाख के इनामी नक्सली मुनेश्वर उर्फ मुकेश गंझू ने हथियार के साथ पुलिस के समक्ष सरेंडर किया. एसपी ऋषभ झा के निर्देश पर एएसपी अभियान निगम प्रसाद व एसडीपीओ अविनाश कुमार के नेतृत्व में पुलिस की विशेष टीम गुप्त स्थान पर पूछताछ कर रही है.

नक्सली के आत्मसमर्पण की आधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है. नक्सली संगठन टीएसपीसी का सेकेंड सुप्रीमो है. एसपी ने चार दिन पूर्व ही इसकी तस्वीर जारीकी थी. इनाम राशि का बढ़ायी गयी थी. दर्जनों नक्सल मामलों में वांछित नक्सली का झारखंड, बिहार, उड़ीसा व छत्तीसगढ़ समेत विभिन्न राज्यों की पुलिस के अलावा टेरर फंडिंग के मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए को भी तलाश थी. मुकेश बचपन से ही नक्सली संगठन से जुड़ा था. बाल दस्ता में था. 2005 मे माओवादी संगठन छोड़कर टीएसपीसी संगठन बनाया था. जिससे 15 वर्षों तक जुड़ा रहा.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें