900 करोड़ खर्च कर देते हैं मोबाइल इंटरनेट पर

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

बोकारो: बोकारो के लोग इंफोर्मेशन टेक्नोलॉजी का प्रयोग कर हाईटेक बनते जा रहे हैं. मोबाइल उपभोक्ता अब जम कर इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे हैं. स्मार्ट फोन की बढ़ती बिक्री और फेसबुक व अन्य सोशल नेटवर्किग साइटों के प्रति युवाओं की दीवानगी के कारण बोकारो समेत झारखंड में मोबाइल पर इंटरनेट यूज बढ़ गये हैं.

अभी हर माह झारखंड में प्रति मोबाइल उपभोक्ता करीब 30 रुपये खर्च हो रहे हैं. राज्य में लगभग 2.5 करोड़ मोबाइल उपभोक्ता हैं. इस तरह हर माह मोबाइल उपभोक्ता 75 करोड़ रुपये तथा सालाना 900 करोड़ रुपये केवल इंटरनेट पैक पर खर्च कर रहे हैं. एक साल पहले स्थिति इससे काफी अलग थी.

युवाओं में ज्यादा क्रेज
मोबाइल इंटरनेट यूज करने में सबसे आगे युवा हैं. स्कूलों में क्लास आठ में पढ़नेवाले छात्रों से लेकर कॉलेज जा रहे युवाओं में इसका सबसे ज्यादा क्रेज है. मोबाइल पर वे सोशल नेटवर्किग साइट जैसे फेसबुक, ट्वीटर, चैट ऑन, हाइक आदि के साथ ही वाट्सएप, वाइबर, स्काइप आदि का भी जम कर इस्तेमाल करते हैं. इसके अलावा गेम्स एप्स, गाने भी डाउनलोड करते हैं. दोस्तों से संपर्क में रहने के लिए यह सस्ता व बेहतर साधन बन गया है. शहरी क्षेत्र में यह ट्रेंड लगभग 100 प्रतिशत है.

पॉकेट में दुनिया
मोबाइल पर इंटरनेट के इस्तेमाल के कारण लोगों के पॉकेट में दुनिया समा गयी है. लोग न केवल मोबाइल के माध्यम से मनोरंजन पाते हैं, बल्कि जरूरी काम भी इसी के माध्यम से होने लगे हैं. जैसे मोबाइल में बैंकिंग की सुविधा का लोग खूब फायदा उठा रहे हैं. मोबाइल बैंकिंग से केवल नकद का लेन-देन नहीं हो पाता है, बाकी सारे बैंकिंग कार्य किये जा सकते हैं.

टिकटों बुकिंग हो या ट्रेन पीएनआर की स्थिति सारी जानकारी मोबाइल इंटरनेट के माध्यम से ही मिल जाती है. अपनी पसंद के वालपेपर चाहें या रिंगटोन, ये भी मोबाइल पर ही डाउनलोड हो जाते हैं. मोबाइल पर इंटरनेट के बढ़ते क्रेज को देखते हुए कई सारी मोबाइल वेबसाइट भी बन गयी हैं. यहां से मोबाइल उपभोक्ता फिल्म तक डाउनलोड कर सकते हैं. ज्यादातर मीडिया की भी मोबाइल वेबसाइट अलग से है. क्रिकेट का लाइव स्कोर भी मोबाइल पर संभव हो गया है. लाइव स्कोर ही क्यों, मैचों के लाइव प्रसारण का मजा भी मोबाइल पर मिल रहा है.

क्यों आया बदलाव
मोबाइल इंटरनेट की मांग बढ़ने के पीछे सबसे बड़ा कारण रहा सस्ती कीमत पर स्मार्ट फोन की उपलब्धता. आज बड़ी कंपनियां भी तीन चार हजार रुपये की रेंज से स्मार्ट फोन उतार रही हैं. चाइनीज मोबाइल तो 2200 रुपये से ही मिल जाते हैं. दो साल पहले तक जहां लोग छोटे हैंडसेट की ओर जा रहे थे, वहीं आज बड़ी स्क्रीन वाले हैंडसेट की मांग बढ़ गयी है. तीन से पांच इंच की स्क्रीन आम बात हो गयी है.

    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें