1. home Hindi News
  2. state
  3. haryana
  4. haryana corona cases latest news updates migrant workers in gurugram leaving for their native places amid increasing covid19 cases smb

कोरोना की दूसरी लहर का कहर जारी, लॉकडाउन लगने के डर से अपने गांव वापस लौट रहे प्रवासी, गुरुग्राम बस स्टैंड में भी दिखा कुछ ऐसा नजारा

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Migrant Workers In Gurugram Leaving For Their Native Places
Migrant Workers In Gurugram Leaving For Their Native Places
ANI

Coronavirus India Lockdown Haryana Migrant Workers News देशभर में कोरोना वायरस की दूसरी लहर का कहर जारी है. भारी संख्या में लोग कोरोना संक्रमित हो रहे है. ऐसे में कई राज्यों में लॉकडाउन लगने के डर से प्रवासी लोग अपने-अपने गांव वापस लौट रहे है. हरियाणा के गुरुग्राम में भी कुछ ऐसा ही नजारा देखने को मिल रहा है. समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट में बताया गया है कि हरियाणा के गुरुग्राम में प्रवासी लोग कोरोना के मामले बढ़ने की वजह से लॉकडाउन लगने को लेकर चिंतित हैं. इसी के मद्देनजर प्रवासी लोग अपने घर वापस जाते दिखाई दे रहे है.

एएनआई से बातचीत में एक व्यक्ति ने कहा कि हो सकता है लॉकडाउन लग जाए और पिछली बार की तरह दिक्कत आ जाए. इसी को ध्यान में रखते हुए हमलोग घर वापस लौट रहे रहे हैं. उसने बताया कि बसों का किराया भी बढ़ता जा रहा है. बीते दिनों महाराष्ट्र में लॉकडाउन लगाए जाने की संभावना के मद्देनजर प्रवासी लोगों में पिछली बार की तरह ही फंस जाने का डर साफ तौर पर दिखाई दिया. इसी कारण प्रवासी मजदूरों में घर वापसी की होड़ मच गई. रेलवे स्टेशनों और बस अड्डों पर प्रवासियों का जमावड़ा लगने की कई खबरें सामने आईं. प्रवासी लंबी लाइनों में अपनी ट्रेनों और बसों का इंतजार करते दिखे. कुछ ऐसा ही नजारा दिल्ली, पूणे समेत देश के अन्य बड़े शहरों में दिखाई दिया.

इन सबके बीच, हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुडा ने रविवार को बताया कि वे और उनकी पत्नी की कोरोना वायरस टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई है और वे मेदांता अस्पताल में भर्ती हैं. वहीं, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर केंद्र सरकार के अस्पतालों में 10 हजार में से कम से कम सात हजार बेड कोरोना मरीज़ों के लिए रिजर्व करने और तुरंत ऑक्सीजन मुहैया कराने की अपील की है.

वहीं, भारत ने दुनिया में सबसे तेजी से 92 दिनों में 12 करोड़ वैक्सीनेशन किया गया. केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान और उत्तर प्रदेश ने अकेले कोरोना वायरस वैक्सीन की एक-एक करोड़ से ज्यादा डोज लगाई हैं. जबकि, महाराष्ट्र के नागपुर में कोरोना के मामले बढ़ने के बाद अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी होने की खबर सामने आ रही है. न्यूज एजेंसी एएनआई से बातचीत में एक व्यक्ति ने कहा कि आठ दिन से मरीज लेकर घूम रहा हूं. कहा जाता है आप ऑक्सीजन और रेमडेसिविर लाइये तभी बेड मिलेगा. एंबुलेंस वाले बोलते हैं आपके पास बेड होगा तभी हम आएंगे नहीं तो नहीं आएंगे.

उल्लेखनीय है कि देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस की 26,84,956 वैक्सीन लगाई गईं. जिसके बाद कुल वैक्सीनेशन का आंकड़ा 12,26,22,590 पहुंच गया है. वहीं, भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 2,61,500 नए मामले सामने आए है. जबकि, इस अवधि में 1,501 नई मौतों के बाद कुल मौतों की संख्या 1,77,150 हो गई है. देश में सक्रिय मामलों की कुल संख्या 18,01,316 है और डिस्चार्ज हुए मामलों की कुल संख्या 1,28,09,643 है.

Upload By Samir

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें