1. home Hindi News
  2. state
  3. delhi ncr
  4. delhi cm arvind kejriwal inaugurates new genome sequencing lab at ilbs for detection of covid 19 new variants smb

सीएम केजरीवाल ने दूसरी जीनोम सीक्वेंसिंग लैब का किया उद्घाटन, कहा- नए वेरिएंट के बारे में तुरंत मिलेगी जानकारी

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
CM Arvind Kejriwal Inaugurates New Genome Sequencing Lab At ILBS
CM Arvind Kejriwal Inaugurates New Genome Sequencing Lab At ILBS
ANI

New Genome Sequencing Lab At ILBS दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal) ने भविष्य की तैयारियों के मद्देनजर गुरुवार को आईएलबीएस में कोविड-19 जीनोम सीक्वेंसिंग की दूसरी लैब का उद्घाटन किया. इसी के साथ कोरोना के नए वेरिएंट की जांच के लिए दिल्ली सरकार के पास अब दो लैब हो गई हैं. न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, इस अवसर पर सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आईएलबीएस में भी अब जीनोम सीक्वेंसिंग लैब की शुरुआत हो गई है. ये लैब काफी एडवांस है और इस तरह की लैब नॉर्थ इंडिया की पहली लैब है.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि इससे दिल्ली वालों को काफी फायदा होगा. यहां 3 से 4 दिन में रिजल्ट आ जाएगा. उन्होंने कहा कि अगर कोई नए वेरिएंट आता है तो हमें तुरंत पता चल जाएगा. इससे पहले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को इसी तरह की एक लैब का एलएनजेपी में उद्घाटन किया था. सीएम केजरीवाल ने कहा कि इन लैब की मदद से कोरोना के किसी भी नए वेरिएंट की पहचान और उसकी गंभीरता का पता लगाया जा सकेगा और हम इससे बचाव को लेकर रणनीति बना पाएंगे.

सीएम केजरीवाल ने कहा कि कोरोना काल में विज्ञान की इस तकनीक से दिल्लीवासियों को काफी फायदा मिलेगा. वहीं मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, आईएलबीएस के निदेशक डॉ. शिव कुमार सरीन ने कहा कि कोरोना संक्रमित व्यक्ति के आरएनए को उसके वायरस पर सीक्वेंस करा कर पता लगा सकते हैं कि वायरस ने अपना स्वरूप बदला है या नहीं. उन्होंने कहा कि हमारे पास हर सप्ताह तीन सौ सैंपल को सीक्वेंस करने की क्षमता है और इसका परिणाम भी पांच से सात दिन में आ जाएगा. आईएलबीएस के निदेशक ने इस दौरान लैब की विशेषताएं और वेरिएंट या म्युटेंट के बारे में जानकारी दी.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें