1. home Hindi News
  2. state
  3. delhi ncr
  4. delhi cm arvind kejriwal daughter harshita kejriwal online duping case news three arrested by delhi police smb

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की बेटी ऑनलाइन फ्रॉड का हुई थीं शिकार, तीन गिरफ्तार, एक अब भी फरार

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
हर्षिता केजरीवाल को ठगने के आरोप में तीन गिरफ्तार
हर्षिता केजरीवाल को ठगने के आरोप में तीन गिरफ्तार
ANI FILE PIC

Harshita Kejriwal Latest News दिल्ली के मुख्यमंत्री (Delhi CM) और आम आदमी पार्टी (AAP) के संयोजक अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) की बेटी हर्षिता केजरीवाल से कथित रूप से ऑनलाइन ठगी मामले में पुलिस ने सोमवार को तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. दिल्ली पुलिस ने बताया कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की बेटी को इन आरोपियों ने कथित रूप से 34,000 रुपये ठग लिये थे. इस संबंध में सात फरवरी को आईपीसी की संबंधित धाराओं के तहत प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी.

एक आरोपी अब भी फरार

समाचार एजेंसी भाषा के अनुसार, दिल्ली पुलिस ने बताया कि इस मामले में तकनीकी निगरानी के आधार पर भरतपुर-मथुरा सीमा से साजिद (26), कपिल (18) और मनविंदर सिंह (25) को गिरफ्तार किया गया है. साजिद हरियाण के नूह का निवासी है, जबकि कपिल और सिंह मथुरा के रहने वाले हैं. पुलिस के अनुसार मुख्य आरोपी वारिस (25) अब भी फरार है.

कमीशन की खातिर करते थे काम

दिल्ली पुलिस के अनुसार, आरोपियों ने एक ई-कॉमर्स प्लेटफार्म पर खरीददार के रूप में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की बेटी हर्षिता केजरीवाल से संपर्क किया था. जिन्होंने एक सोफा बिकी के लिए इस मंच पर डाला था. बताया जा रहा है कि तीनों कमीशन की खातिर वारिस के लिए काम करते थे. मनविंदर ने फर्जी दस्तावेजों के आधार पर कपिल एवं साजिद के लिए बैंक खाते खुलवाये जिसके लिए उसे कमीशन मिला. ठगी गयी राशि वारिस के खाते में अंतरित की गयी.

ई-कॉमर्स पर बिक्री के लिए डाला था सोफा, ऐसे दिया वारदात को अंजाम

पुलिस के अनुसार पीड़िता ने ई-कॉमर्स पर सोफा बिक्री के लिए डाला था. एक व्यक्ति ने इसे खरीदने की बात करते हुए पीड़िता से संपर्क किया था. इस व्यक्ति ने पीड़िता के खाते विवरण की पुष्टि के लिए प्रारंभ में मामूली राशि उनके खाते में अंतरित की. इस व्यक्ति ने मुख्यमंत्री की बेटी को क्यूआर कोड (QR Code) भेजा और उसे स्कैन करने के लिए कहा ताकि निर्धारित मूल्य उनके खाते में भेजा जा सके. लेकिन, पैसा आने के बाद उसके खाते से 20,000 रुपये कट गये. जब विक्रेता ने यह बात खरीददार को बतायी तो उसने विक्रेता से कहा कि उसने गलती से उसे गलत क्यूआर कोड भेज दिया, इसलिए अब वह उन्हें एक अन्य लिंक भेजेगा तथा वह उसी प्रक्रिया को दोहराएं. विक्रेता द्वारा अन्य क्यूआर कोड को स्कैन करने पर फिर 14 हजार रुपये कट गये.

Upload By Samir kumar

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें