1. home Home
  2. state
  3. delhi ncr
  4. delhi breaking news reports 1st death due to dengue this year total cases at 723 amh

Delhi News : दिल्ली में डेंगू से पहली मौत, 723 मामलों की पुष्टि

नगर निकायों के आंकड़ों के मुताबिक राष्ट्रीय राजधानी में अब तक डेंगू के 723 मामलों की पुष्टि हो चुकी हैं जिनमें से 140 से अधिक मामले अक्टूबर में आए हैं.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
delhi dengue cases this year
delhi dengue cases this year
pti

Delhi News : देश की राजधानी दिल्ली में डेंगू धीरे-धीरे पैर पसारने लगा है. यहां इस साल डेंगू से मौत का पहला मामला सामने आया है. नगर निकाय ने जानकारी दी है कि डेंगू के कुल मरीजों की संख्या 723 हो गई है. इधर पूर्वी दिल्ली नगर निगम ने डेंगू का मुकाबला करने के लिए अपनी कोशिशें तेज कर दी हैं और इसी कड़ी में सोमवार से रेडियो के जरिये नया जागरूकता अभियान शुरू किया गया.

नगर निकायों के आंकड़ों के मुताबिक राष्ट्रीय राजधानी में अब तक डेंगू के 723 मामलों की पुष्टि हो चुकी हैं जिनमें से 140 से अधिक मामले अक्टूबर में आए हैं. पूर्वी दिल्ली नगर निगम के न्यायाधिकार क्षेत्र में अब तक डेंगू के करीब 80, मलेरिया के 20 और चिकनगुनिया के दो मामले आ चुके हैं.

डेंगू के खिलाफ अभियान तेज

पूर्वी दिल्ली के महापौर श्याम सुंदर अग्रवाल ने कहा है कि हमने डेंगू के खिलाफ अपनी कोशिशें तेज कर दी हैं क्योंकि इस साल अधिक बारिश की वजह से बड़ी संख्या में मामले सामने आ रहे हैं. रेडियो के जरिये अभियान की रूपरेखा तैयार है. इसमें घर में किसी भी तरह से मच्छर को पनपने से रोकने के लिए एहतियात बरतने के संदेश हैं. इसके अलावा हमारे डेंगू मच्छर प्रजनन जांच (डीबीसी) कर्मी घर-घर जाकर जांच कर रहे हैं कि कहीं डेंगू मच्छर तो पनप नहीं रहे हैं ताकि उनके प्रसार को रोका जा सके. अब तक कर्मियों ने करीब 40 लाख घरों का निरीक्षण किया है.

डेंगू के मच्छर ऐसे पनपते हैं

गौरतलब है कि डेंगू के मच्छर साफ ठहरे पानी में पनपते हैं जबकि मलेरिया के मच्छर गंदे पानी में प्रजनन करते हैं. आमतौर पर मच्छर जनित बीमारियां जुलाई से नंवबर तक सामने आती हैं लेकिन यह अवधि मध्य दिसंबर तक भी जा सकती है. वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रेडियो अभियान के लिए घरों में एहतियात बरतने संबंधी संदेश महापौर की आवाज में पहले ही रिकॉर्ड की जा चुकी है. पूर्वी दिल्ली नगर निगम ने इस संदेश के प्रसारण के लिए कई निजी रेडियो स्टेशनों के साथ करार किया है.

भाषा इनपुट के साथ

Posted By : Amitabh Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें