1. home Hindi News
  2. state
  3. delhi ncr
  4. covid 19 home minister amit shah special emphasis on rapid antigen test in delhi ncr meeting with chief minister yogi adityanath and arvind kejriwal coronavirus pandemic

Covid-19: रैपिड एंटीजन टेस्ट पर अमित शाह का जोर, जानें मुख्यमंत्रियों संग बैठक में क्या कहा

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Home Minister Amit Shah And Health Minister Dr. Harsh Vardhan.
Home Minister Amit Shah And Health Minister Dr. Harsh Vardhan.
Photo : PTI

नयी दिल्ली : गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली और एनसीआर में कोरोनावायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों पर चिंता जतायी है और कहा कि हमें ज्यादा से ज्यादा लोगों का रैपिड एंटीजन टेस्ट करना होगा. शाह आज दिल्ली, उत्तर प्रदेश और हरियाणा के मुख्यमंत्रियों के साथ बात कर रहे थे. उन्होंने कहा कि संक्रमित लोगों को तुरंत अस्पताल भेजा जाए, जिससे मृत्यु दर में कमी आयेगी.

गृह मंत्री अमित शाह कोविड-19 के प्रसार की दर पर अंकुश लगाने के लिए रैपीड एंटीजन टेस्ट किट का उपयोग करने के पक्ष में हैं. गृह मंत्रालय की ओर से बताया गया कि ये किट पर्याप्त मात्रा में उत्तर प्रदेश, हरियाणा को उपलब्ध करायी जा सकती हैं. गृह मंत्री अमित शाह ने कोविड-19 के मरीजों को शीघ्र अस्पताल में भर्ती कराने का सुझाव दिया ताकि मृत्यु दर कम की जा सके.

गृह मंत्री अमित शाह ने आरोग्य सेतु ऐप और इतिहास ऐप का व्यापक उपयोग करने का सुझाव दिया ताकि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में कोविड-19 के मामलों का पता लगाया जा सके. उन्होंने मुख्यमंत्रियों से कहा कि उत्तर प्रदेश और हरियाणा के मरीज एम्स-टेलीमेडिसिन परामर्श का लाभ ले सकते हैं, दोनों राज्यों के छोटे अस्पताल टेली-वीडियोग्राफी मार्गदर्शन ले सकते हैं.

शाह ने राष्ट्रीय राजधानी और इसके आसपास के क्षेत्रों में कोविड-19 की स्थिति पर चर्चा के लिए गुरुवार को दिल्ली, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्रियों के साथ एक बैठक की. दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले तेज गति से बढ़े हैं, जिस कारण केंद्रीय गृहमंत्री ने स्थिति से निपटने के लिए और स्वास्थ्य ढांचे को बेहतर बनाने के लिये कदम उठाये हैं.

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि शाह ने दिल्ली-एनसीआर में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा की. बैठक में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन भी मौजूद थे. एनसीआर में हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान के कुछ जिले आते हैं. इनमें मुख्य रूप से गौतम बुद्ध नगर(नोएडा) और गाजियाबाद, दोनों उत्तर प्रदेश में पड़ते हैं तथा हरियाणा में पड़ने वाले गुड़गांव और फरीदाबाद शामिल हैं.

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वीडियो कांफ्रेंस के जरिये बैठक में शामिल हुए. दिल्ली में बुधवार तक कोविड-19 से 89,000 लोग संक्रमित हो चुके हैं और 2,803 लोगों की मौत हुई है. उत्तर प्रदेश में कोविड-19 के मामले बढ़ कर 24,056 हो गये हैं जबकि अब तक 718 लोगों की मौत हुई है. एनसीआर में पड़ने वाले राज्य के गौतम बुद्ध नगर जिले में अब तक 2,362 मामले सामने आये हैं और 22 लोगों की जान जा चुकी है.

वहीं, गाजियाबाद में संक्रमण के अब तक 851 मामले सामने आये हैं और 56 लोगों की मौत हुई है. हरियाणा में कोविड-19 के कुल 14,941 मामले सामने आये हैं और इस महामारी से राज्य में 240 लोगों की मौत हुई है. गुड़गांव में 92 और फरीदाबाद में 80 लोगों की मौत हुई है. दोनों जिलों को मिला कर 9,300 से अधिक मामले सामने आये हैं.

Posted By: Amlesh Nandan Sinha.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें