1. home Home
  2. state
  3. delhi ncr
  4. coronation will be closed in delhi due to lack of vaccine this evening vaccination of people in the age group of 18 to 44 arvind kejriwal ksl

कोरोना वैक्सीन की कमी से दिल्ली में आज शाम से बंद हो जायेगा 18 से 44 आयु वर्ग के लोगों का वैक्सीनेशन, सीएम केजरीवाल ने PM Modi को लिखा पत्र

दिल्ली सरकार ने 18 से 44 वर्ष की आयु के लोगों के लिए प्रदेश में चल रहे वैक्सीनेशन अभियान को वैक्सीन की कमी बताते हुए बंद कर दिया गया है. साथ ही केंद्र सरकार से दिल्ली को कोरोना वैक्सीन उपलब्ध कराने की अपील की. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेन्स कर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए उक्त बातें कहीं.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
प्रेस कॉन्फ्रेन्स करते दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल
प्रेस कॉन्फ्रेन्स करते दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल
ANI

नयी दिल्ली : दिल्ली सरकार ने 18 से 44 वर्ष की आयु के लोगों के लिए प्रदेश में चल रहे वैक्सीनेशन अभियान को वैक्सीन की कमी बताते हुए बंद कर दिया गया है. साथ ही केंद्र सरकार से दिल्ली को कोरोना वैक्सीन उपलब्ध कराने की अपील की. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेन्स कर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए उक्त बातें कहीं. साथ ही उन्होंने कोविड-19 वैक्सीन की स्थिति पर प्रधानमंत्री को पत्र लिखा है.

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को कहा कि कोरोना के खिलाफ वैक्सीन ही सबसे बड़ा हथियार है. केंद्र सरकार से अपील है कि दिल्ली को वैक्सीन उपलब्ध कराएं. साथ ही कहा कि आज से दिल्ली में युवाओं का वैक्सीनेशन बंद हो गया है. केंद्र सरकार ने युवाओं के लिए जितने वैक्सीन भेजे थे, सभी खत्म हो गये हैं. कुछ डोज बचे हुए हैं, जो आज शाम तक खत्म हो जायेंगे.

उन्होंने केंद्र सरकार से अपील करते हुए कहा है कि तुरंत दिल्ली को वैक्सीन उपलब्ध कराएं, जिससे युवाओं को वैक्सीन दी जाये. उन्होंने कहा कि आज वैक्सीन की कमी की वजह से देश में बेहद मुश्किल हालात हो गये हैं. अगर देश में किसी परिवार के सामने ये धर्मसंकट खड़ा हो जाये कि वो खुद वैक्सीन ले या अपने परिवार के युवाओं के लिए छोड़ दें, तो इससे ज्यादा दुखद कुछ नहीं हो सकता.

मुख्यमंत्री ने बताया कि दिल्ली को प्रतिमाह कुल 80 लाख वैक्सीन की जरूरत है. इसके बावजूद मई माह में दिल्ली को मात्र 16 लाख वैक्सीन ही मिल सकी. जून में भी केंद्र सरकार ने दिल्ली के कोटे को घटा कर आठ लाख कर दिया है. दिल्ली के सभी युवाओं को वैक्सीन देने के लिए अब भी करीब ढाई करोड़ वैक्सीन की जरूरत पड़ेगी. मालूम हो कि दिल्ली में अब तक 50 लाख लोगों को ही वैक्सीन दी जा सकी है.

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि केंद्र की ओर से मिल रही वैक्सीन की रफ्तार ऐसी है कि दिल्ली के सभी युवाओं को वैक्सीन देने में करीब ढाई साल लग जायेंगे. अभी कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की बात कही जा रही है. ऐसे में कितने लोग मौत के मुंह में जा सकते हैं. दिल्ली में अस्पताल, बेड, आईसीयू और वेंटिलेटर जैसी मेडिकल सुविधाओं पर काम हो रहा है. लेकिन, कोरोना संक्रमण के घातक परिणाम से बचने के लिए वैक्सीनेशन ही सबसे कारगर और असरदार हथियार है.

वैक्सीनेशन के लिए केंद्र सरकार को दिये चार सुझाव

  • कोवैक्सीन बनानेवाली भारतीय बायोटेक कंपनी का फॉर्मूला दूसरी कंपनियों को उपलब्ध करा कर युद्धस्तर वैक्सीन का उत्पादन शुरू कराया जाये.

  • विदेश से कोरोना वैक्सीन भारत लाने और इस्तेमाल करने की अनुमति दी जाये. इसके लिए विदेशी वैक्सीन निर्माताओं से केंद्र स्वयं बात करे. राज्य सरकारों पर ना छोड़े.

  • जिन राज्यों में जनसंख्या के मुकाबले अधिक वैक्सीन हैं, उसे दूसरे राज्यों को उपलब्ध कराया जाये.

  • विदेशी वैक्सीन की कंपनियों को भारत में भी उत्पादन की अनुमति दी जाये.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें