1. home Hindi News
  2. state
  3. delhi ncr
  4. auto taxi strike taxis autos and minibuses will not run in delhi due to rising inflation prt

Delhi Auto Taxi Strike: आज दिल्ली की सड़कों पर नहीं दौड़ेंगी टैक्सी, ऑटो और मिनी बस, यूनियन का चक्का जाम

देश में इन दिनों महंगाई में जोरदार इजाफा हुआ है. डीजल-पेट्रोल से लेकर सीएनजी के दाम आसमान पर पहुंच गए है. वहीं, महंगाई से त्रस्त होकर दिल्ली में ऑटो, टैक्सी और मिनी बस चालकों के विभिन्न संगठनों ने आज यानी सोमवार को हड़ताल करने का फैसला किया है.

By Agency
Updated Date
Delhi Auto Taxi Strike
Delhi Auto Taxi Strike
Twitter

Auto Taxi Strike in Delhi: देश में इन दिनों महंगाई में जोरदार इजाफा हुआ है. डीजल-पेट्रोल से लेकर सीएनजी के दाम आसमान पर पहुंच गए है. वहीं, महंगाई से त्रस्त होकर दिल्ली में ऑटो, टैक्सी और मिनी बस चालकों के विभिन्न संगठनों ने आज यानी सोमवार को हड़ताल करने का फैसला किया है. चालकों‍ की हड़ताल से यात्रियों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है.

गौरतलब है कि, दिल्ली में ऑटो, टैक्सी और मिनी बस चालकों की हड़ताल फिलहाल एकदिवसीय रखी गई है. हालांकि, सर्वोदय ड्राइवर एसोसिएशन दिल्ली का कहना है कि वे सोमवार से 'अनिश्चितकालीन' हड़ताल पर जा रहे हैं. लेकिन, अन्य संगठनों की ओर से अभी कुछ भी नहीं कहा गया है. लेकिन अगर हड़ताल लंबा खिंचता है दिल्ली में आवगमन ठप्प हो जाएगा.

दरअसल सभी चालक संगठन बढ़ती महंगाई के चलते नाराज हैं. चालकों का कहना है कि, उन्हें घर चलाने में भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में हड़ताली चालक संगठन किराया दरों में बढ़ोतरी और सीएनजी की कीमतों में कमी किए जाने की मांग कर रही हैं.

इधर, दिल्ली सरकार की तरफ से समयबद्ध तरीके से किराया संशोधन पर विचार करने के लिए एक समिति बनाने की घोषणा की गई है. इसके बाद भी चालक संगठनों ने हड़ताल का ऐलान कर दिया है. वहीं, हड़ताल को लेकर सर्वोदय ड्राइवर एसोसिएशन दिल्ली के अध्यक्ष कमलजीत गिल ने कहा कि, ईंधन की कीमतों में कमी और किराए में संशोधन कर हमारी मदद के लिए सरकार की ओर से कोई कदम न उठाए जाने पर हमने आज यानी सोमवार से चालक संगठन अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने का फैसला किया है.

वहीं, दिल्ली ऑटो रिक्शा संघ के महासचिव राजेंद्र सोनी ने कहा, ‘‘हम जानते हैं कि दिल्ली सरकार कोई समिति बना रही है लेकिन हमें अपनी समस्याओं का समाधान चाहिए जो नजर नहीं आ रहा है. हमारी मांग है कि सरकार (केंद्र और दिल्ली) सीएनजी की कीमतों पर 35 रुपये प्रति किलोग्राम की सब्सिडी प्रदान करे.'' वहीं, सीएनजी की कीमतों पर सब्सिडी की मांग को लेकर सैकड़ों ऑटो, टैक्सी और कैब चालकों ने हाल ही में दिल्ली सचिवालय पर विरोध प्रदर्शन किया था.

सोनी ने कहा, हम हर रोज घाटे में चल रहे अपने ऑटो और कैब नहीं चला सकते क्योंकि सीएनजी की कीमतें सरपट दौड़ रही हैं. कीमतों में बढ़ोतरी का विरोध करने के लिए यह एक प्रतीकात्मक विरोध है. शहर में सार्वजनिक परिवहन प्रणाली के पूरक के रूप में 90,000 से अधिक ऑटो और 80,000 से अधिक पंजीकृत टैक्सी हैं. एसटीए ऑपरेटर्स एकता मंच के महासचिव श्यामलाल गोला ने कहा कि किराए में संशोधन और सीएनजी की कीमतें घटाए जाने की मांग के समर्थन में लगभग 10,000 आरटीवी बसें भी बंद रहेंगी.

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें