1. home Hindi News
  2. state
  3. delhi ncr
  4. aam aadmi party news in hindi jai shri ram slogan in delhi not safe aap said bjp government should give one crore amount to family of rinku sharma aam aadmi party news today pkj

क्या दिल्ली में जय श्री राम नारा लगाने वाला सुरक्षित नहीं, आप ने कहा, रिंकू शर्मा के परिजनों को एक करोड़ की राशि दे भाजपा सरकार

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता और विधायक राघव चड्ढा
आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता और विधायक राघव चड्ढा
फाइल फोटो

आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता और विधायक राघव चड्ढा ने कहा कि रिंकू शर्मा के परिजनों का आरोप है कि जय श्रीराम बोलने पर उनकी हत्या की गई, क्या भाजपा के राज में दिल्ली और देश में जय श्रीराम का नारा लगाने वाले सुरक्षित नहीं हैं?

‘आप’ मांग करती है कि भाजपा की केंद्र सरकार रिंकू शर्मा के परिजनों को एक करोड़ रुपए की सहायता राशि दे. उन्होंने कहा, दिल्ली में भाजपा के पास कानून-व्यवस्था है. क्या दिल्ली वालों ने दिल्ली की 100 प्रतिशत सीटें देकर भाजपा की केंद्र में सरकार इसलिए बनवाई थी, ताकि दिल्ली में आए दिन हत्याएं हों.

उन्होंने कहा, बंगाल में जय श्रीराम का नारा लगाने पर भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या होने पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह बोल रहे है, लेकिन दिल्ली में रिंकू शर्मा हत्याकांड पर भाजपा और अमित शाह दोनों चुप हैं.

रिंकू शर्मा हत्याकांड मामले में न तो केंद्रीय गृहमंत्री ने अपनी राजनैतिक जिम्मेदारी निभाई है और न तो पुलिस कमिश्नर ने प्रशासनिक जिम्मेदारी निभाई है, अभी तक उनके परिजनों से मिलने कोई नहीं गया है. आम आदमी पार्टी रिंकू शर्मा के परिजनों को मदद देने का हर संभव प्रयास कर रही है .

आम आदमी पार्टी के मुख्य प्रवक्ता एवं विधायक राघव चड्ढा ने कहा कि दिल्ली में रिंकू शर्मा की हत्या के बाद उनके परिवार वालों के कुछ बयान आ रहे हैं. उनके परिवार वाले और मां-भाई कह रहे हैं कि जय श्रीराम का नारा लगाने पर रिंकू शर्मा की हत्या की गई.

उनकी तरफ से लगातार यह बात कही जा रही है कि जय श्रीराम का नारा लगाने वाले राम भक्त रिंकू शर्मा जी की हत्या हुई है. इसकी जांच होनी चाहिए. हम इससे एक कदम आगे बढ़कर यह आज पूछना चाहते हैं कि परिवार जो कह रहा है, वास्तव में अगर हुआ है, तो इसकी पुख्ता जांच हो और दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिले.

इसके साथ कहीं न कहीं एक ऐसा संकेत जा रहा है और माहौल बन रहा है, जो मैं भारतीय जनता पार्टी और देश के गृहमंत्री अमित शाह के संज्ञान में लाना चाहता हूं. इससे यह नजर आ रहा है कि क्या जय श्री राम का नारा लगाना वाले अब सुरक्षित नहीं है. क्या दिल्ली और भारत में जय श्रीराम का नारा नहीं लगा सकते? क्या उनकी हत्या की जाएगी?

उन्होंने कहा कि दिल्ली के अंदर भारतीय जनता पार्टी की पुलिस है. दिल्ली के अंदर कानून व्यवस्था भाजपा की है. दिल्ली के लोगों ने भाजपा को वोट दिया. दिल्ली में 2014 और 2019 लोकसभा चुनाव में 7 में से सातों लोकसभा सीटें देकर केंद्र में भाजपा की सरकार बनवाई.

अमित शाह को गृहमंत्री और नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री बनाया. क्या यह दिन देखने के लिए बनाया कि कानून व्यवस्था इस प्रकार की हो जाएगी. दिल्ली में आए दिन हत्याएं होंगी? क्या किसी भी धर्म का व्यक्ति सुरक्षित नहीं है? न हिंदू सुरक्षित है, न मुसलमान, सिख, ईसाई सुरक्षित है. भारतीय जनता पार्टी अपने आप को हिंदुओं की पार्टी कहती है. भाजपा के लोग कहते हैं कि वे हिंदुओं के वोट से चुनाव जीते हैं.

मैं पूछना चाहता हूं कि आपके राज में हिंदू सुरक्षित ही नहीं? दिल्ली पुलिस के अधीन वाली कानून व्यवस्था में इस शहर में अगर इस प्रकार से हत्याएं होंगी, तो लोग आपसे सवाल भी पूछेंगे. जय श्रीराम का नारा अगर भारत देश के दिल्ली में बुलंद नहीं होगा, तो कहां बुलंद होगा?

राघव चड्ढा ने भारतीय जनता पार्टी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से कुछ सवाल पूछा.

दिल्ली की कानून व्यवस्था संवैधानिक तौर पर सीधे गृह मंत्रालय यानी केंद्रीय गृहमंत्री के अधीन आती है. कानून व्यवस्था दिल्ली के मुख्यमंत्री और दिल्ली के उपराज्यपाल या किसी अन्य व्यक्ति के अधीन नहीं आती है.

मैं आम आदमी पार्टी की ओर से आज 6 सवाल भारतीय जनता पार्टी और केंद्रीय गृहमंत्री से पूछना चाहता हूं. पहला सवाल, अभी तक केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह रिंकू शर्मा के परिजनों से मिलने क्यों नहीं गए हैं? अभी तक उन्होंने ट्वीट क्यों नहीं किया है? क्या अभी तक उन्होंने इस घटना का संज्ञान नहीं लिया है?

दूसरा सवाल, कानून व्यवस्था सीधे केंद्रीय गृहमंत्री के अधीन आती है. पूरी दिल्ली के अंदर सभी की सुरक्षा हो, कानून व्यवस्था की स्थिति दुरुस्त रहे और अपराध न हों, यह सारी चीजें केंद्रीय गृहमंत्री के अधीन आती हैं. दिल्ली पुलिस के अधीन आती हैं. क्या यह शोभा देता है कि केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह दिल्ली छोड़कर बंगाल में चुनाव प्रचार करें और दिल्ली में इस तरह की घटनाएं घट जाएं.

श्री चड्ढा ने तीसरा सवाल करते हुए कहा, दिल्ली में जैसा परिवार वाले कह रहे हैं कि जय श्रीराम बोलने पर हत्या हुई हैं. भारतीय जनता पार्टी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से पूछना चाहूंगा कि क्या दिल्ली की जनता ने 2014 और 2019 में लोकसभा की सातों सीटें इसलिए भाजपा को दीं थी? क्या इसके लिए दिल्ली की जनता ने आप को वोट दिया था? चौथा सवाल, दिल्ली के पुलिस आयुक्त कहां है.

चौथा सवाल दिल्ली के पुलिस आयुक्त रिंकू शर्मा के परिवार वालों से मिलने क्यों नहीं गए हैं? सरकार की 2 लेयर होती हैं. पहली राजनैतिक और दूसरी प्रशासनिक. राजनैतिक जिम्मेदारी देश केंद्रीय गृहमंत्री की है और प्रशासनिक जिम्मेदारी दिल्ली के पुलिस आयुक्त की है. उनके परिवार वालों से मिलने के दोनों में से अभी तक कोई भी नहीं गया है. मैं पुलिस आयुक्त से पूछना चाहूंगा कि कि आप भी अभी तक उनके परिवार वालों से मिलने क्यों नहीं गए?

पांचवा सवाल? भारतीय जनता पार्टी की प्रचंड बहुमत की केंद्र सरकार रिंकू शर्मा के परिवार वालों के लिए एक करोड रुपए की सहायता राशि की घोषणा कब करेगी? आम आदमी पार्टी की मांग करती है कि भारतीय जनता पार्टी की केंद्र की सरकार 1 करोड़ रुपए की राशि उनके परिवार वालों को देने का काम करे.

राघव चड्ढा ने कहा कि यह दुख तो कोई कम नहीं कर सकता, लेकिन सहायता राशि देकर थोड़ी आर्थिक मदद परिवार वालों की जरूर की जा सकती है. छठवां सवाल, भारतीय जनता पार्टी बंगाल में आरोप लगाती है कि तथाकथित तौर पर भाजपा के कार्यकर्ताओं की हत्याएं हो रही हैं. उनके ऊपर हमले हो रहे हैं.

बीजेपी बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या के ऊपर तो भाजपा बोल रही है. गृहमंत्री स्वयं वहां जाकर इसकी बात कर रहे हैं कि भारतीय जनता पार्टी के लोगों की बंगाल में हत्याएं हो रही हैं. वहां पर जय श्रीराम का जो नारा लगाते हैं, उनकी हत्या हो रही है लेकिन दिल्ली में जब रिंकू शर्मा जी की हत्या होती है तो न भाजपा कुछ बोलती है और न केंद्रीय गृहमंत्री कुछ बोलते हैं. बंगाल में तो बोलते हैं, लेकिन दिल्ली में नहीं बोलते हैं. हम पूछना चाहते हैं कि दिल्ली और बंगाल को लेकर दोहरे मापदंड क्यों हैं. क्या दिल्ली में चुनाव नहीं हैं इसलिए नहीं बोल रहे हैं. यह सवाल आम आदमी पार्टी सीधे तौर पर भाजपा से पूछना चाहती है.

राघव चड्ढा ने कहा कि परिवार वालों को मदद दी जाए. इसके लिए आम आदमी पार्टी हर संभव प्रयास कर रही है. आम आदमी पार्टी की मंगोलपुरी से क्षेत्रीय विधायक राखी बिडलान पीड़ित परिवार वालों के साथ है. जब से यह घटना घटी है, उसी क्षण से उनके साथ हैं. कंधे से कंधा मिलाकर पूरी पार्टी और कार्यकर्ताओं साथ हैं. हर प्रकार की सामाजिक और आर्थिक सहायता पार्टी अपने स्तर पर कर रही है. मैं न्याय और जांच की मांग भी करता हूं.

राघव चड्ढा ने इससे पहले पुलवामा हमले के शहीदों को नमन किया. उन्होंने कहा कि पुलवामा हमले में शहीद हुए भारत के शूरवीर शहीद सैनिकों को नमन करता हूं. आम आदमी पार्टी की ओर से श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं. अमर शहीदों ने देश की सरजमीं की रक्षा करते हुए सर्वोच्च बलिदान दिया. अपने प्राणों की आहुति दी. उन्हें कोटि-कोटि नमन करता हूं.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें