1. home Hindi News
  2. state
  3. bureaucrats sreedharan bjp kerala ldf udf amit shah ksl

श्रीधरन जैसे ब्यूरोक्रेटस भाजपा में इसलिए हैं, क्योंकि केरल का भला नहीं कर सकते LDF-UDF : अमित शाह, मुख्यमंत्री पर साधा निशाना, कहा...

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
केरल में जनसभा को संबोधित करते गृह मंत्री व भाजपा नेता अमित शाह
केरल में जनसभा को संबोधित करते गृह मंत्री व भाजपा नेता अमित शाह
सोशल मीडिया

तिरुवनंतपुरम : विधानसभा चुनाव को लेकर केरल पहुंचे केंद्रीय गृह मंत्री सह भाजपा नेता अमित शाह ने राज्य में बदलाव की बात कहते हुए मुख्यमंत्री पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि केरल में बदलाव का समय आ गया है. ई श्रीधरन जैसे वरिष्ठ ब्यूरोक्रेटस भी भाजपा में इसलिए होते हैं, क्योंकि एलडीएफ और यूडीएफ अब केरल का भला नहीं कर सकते. उन्होंने कहा कि केरल एक जमाने में विकास और टूरिज्म के मॉडल के रूप में सबसे ज्यादा शिक्षित और शांतिप्रिय प्रदेश के रूप में जाना जाता था. लेकिन, एलडीएफ और यूडीएफ ने केरल को भ्रष्टाचार का अड्डा बना दिया है.

भाजपा नेता ने मुख्यमंत्री पर निशाना साधते हुए कहा कि मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन से जवाब मांगा कि सोना घोटाले के मुख्य आरोपित आपके कार्यालय में काम करते थे या नहीं? क्या आपकी सरकार ने आरोपित को तीन लाख रुपये का मासिक पारिश्रमिक दिया है? आपके प्रधान सचिव ने इन आरोपितों की मदद के लिए फोन कॉल किये या नहीं?

साथ ही उन्होंने कहा कि क्या आरोपित महिला ने राज्य निधियों और प्रधान सचिव की अनुमति पर विदेश यात्राएं कीं? यह आरोपित महिला नियमित रूप से मुख्यमंत्री आवास पर क्यों आयीं? कुछ पत्रकारों ने कहा कि केरल के मुख्यमंत्री कहते हैं कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) भेदभाव के साथ जांच कर रही है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कार्यालय, प्रधान सचिव द्वारा प्रोत्साहित महिला तस्करी में शामिल हो, उस मुख्यमंत्री को फिर से चुनने का क्या मतलब है?

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि एलडीएफ सरकार ने पूरे प्रशासन को अपने कैडर में बदलने का काम किया है. अपनी पार्टी के कैडर को सरकारी पद दिलाने के लिए पब्लिक सर्विस कमीशन को रिमोट कंट्रोल से लेफ्ट पार्टियां चलाती हैं. एलडीएफ सरकार ने पूरे प्रशासन को अपने संवर्ग में बदल दिया है. वामपंथी दल अपने कैडर को सरकार के पद प्रदान करने के लिए रिमोट कंट्रोल के माध्यम से लोक सेवा आयोग चलाते हैं. इस कारण, पीसीएस में उच्च रैंक प्राप्त करने के बावजूद, कोई नौकरी नहीं मिलने से छात्र ने आत्महत्या कर ली! क्यों? केवल इसलिए कि वह कैडर नहीं था?

भाजपा नेता ने कहा कि केरल में दो बाढ़ आयी हैं और 500 से अधिक लोगों ने अपनी जानें गंवाई हैं. वामपंथी सरकार हमारी सेना को बहुत देर से बुलाती है, केवल अपने राजनीतिक लाभ के लिए. उन्हें केरल के लोगों के जीवन की परवाह नहीं है. हाल ही में, पीएम मोदी ने केरल के लिए 2,000 मेगावाट एचवीडीसी पहल का उद्घाटन किया है. इस परियोजना में उपयोग किये जा रहे सभी घटक स्वदेशी हैं. 'आत्मनिर्भर भारत' का इससे बेहतर उदाहरण नहीं हो सकता. कासरगोड में 50 मेगावाट क्षमता की एक और सौर योजना केंद्रीय सरकार द्वारा विकसित की गयी है.

अमृत योजना के तहत 1100 करोड़ रुपये की लागत से शहरों को अपग्रेड करने का काम चल रहा है. नेशनल हाईवे के लिए 65,000 करोड़ रुपये केरल के लिए देने का काम नरेंद्र मोदी की सरकार ने किया है. कोच्चि मेट्रो के विकास के लिए 1957 करोड़ रुपये केंद्र सरकार ने भेजे हैं. केरल में बदलाव लाने का समय आ गया है. ई श्रीधरन जैसे वरिष्ठ नौकरशाह भी भाजपा में शामिल हो रहे हैं, क्योंकि वे जानते हैं कि भाजपा केवल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केरल को और विकसित करने में मदद कर सकती है. एलडीएफ-यूडीएफ नहीं कर सकता.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें