1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. vaishali
  5. three died due to drinking alcohol in bihar police administration officials reached the spot for investigation rjs

बिहार में शराब पीने से तीन की मौत!, पुलिस प्रशासन के अधिकारी जांच के लिए घटनास्थल पर पहुंचे

बिहार के वैशाली में शराब पीने से तीन लोगों की मौत होने की सूचना है. मामले की सूचना मिलने के बाद पुलिस और प्रशासन के अधिकारी जांच के लिए घटनास्थल पर पहुंच गए हैं.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
बिहार में शराब पीने से तीन की मौत
बिहार में शराब पीने से तीन की मौत
प्रभात खबर

गुंजन

वैशाली. शराब पीने से एक बार फिर तीन लोगों की मौत हो गई है. मौत की सूचना मिलने के बाद घटनास्थल पर मेडिकल टीम और जिला प्रशासन के अधिकारी पहुंचकर मामले की जांच कर रहे है. प्रशासन फिलहाल इसकी पुष्टि नहीं कर रही है. प्रशासन का कहना है कि जांच रिपोर्ट आने के बाद ही हम इसपर कुछ बोलेंगे. मृतक के परिजन भी मौत का कारण हार्ट अटैक बता रहे हैं, लेकिन ग्रामीणों का आरोप है कि तीनों की मौत शराब पीने से हुई है. फिलहाल, पातेपुर प्रखंड के तीसीऔता थाना क्षेत्र में महज एक किलोमीटर के दायरे में तीन लोगों की मौत के बाद पुलिस महकमे में खलबली मची हुई है. स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ महुआ एसडीपीओ, एएलटीएफ व बड़ी संख्या में रैफ जवान मौके पर पहुंच गये हैं.

24 घंटे के अंदर तीन व्यक्तियों के संदिग्ध मौत के बाद पूरे क्षेत्र में हड़कंप मच गई है. सबसे पहले थाना क्षेत्र के सुभंकरपुर टिकॉलि गांव निवासी भोला झा के पुत्र निक्षत्र झा की मौत शुक्रवार की रात हो गई, दूसरी मौत महथि गांव निवासी शिवशंकर सिंह के पुत्र अरविंद सिंह की मौत शनिवार की रात तथा तीसरी मौत पदमौल गांव निवासी स्व0 रामस्वरूप सिंह के पुत्र मनोज सिंह की हो गई है. इधर, ग्रामीणों का कहना है कि तीनों की मौत जहरीली शराब पीने से हुई है. नक्षत्र झा को लोगो ने शराब के नशे में सड़क के किनारे छटपटाते देखा भी था. वही मृतक के परिजनों द्वारा तीनो के मौत का कारण हार्ट अटैक बताया जा रहा है. तीसीऔता थानाध्यक्ष रविन्द्र पाल मौके पर पहुंच कर लोगो का बयान लेने के बाद वापस थाने लौट गए है.

मालूम हो कि बीते 12 अक्टूबर को राजापाकर थाना के बैकुंठपुर गांव में 53 वर्षीय व्यक्ति की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गयी थी जबकि एक युवक गंभीर रूप से बीमार पड़ गया था. परिजनों ने शराब पीने से मौत का आरोप लगाया था. पुलिस की छापेमारी में गांव के बगीचे से होमियोपैथिक दवाएं की बोतलें बरामद की गयी थी. इस दवा की मदद से शराब तैयार किया जाता था. तत्कालीन थानाध्यक्ष को इस घटना के बाद लाइन हाजिर कर दिया गया था. वहीं राघोपुर प्रखंड की चकसिंगार पंचायत की दलित बस्ती में 25 और 26 अगस्त को 24 घंटे के अंदर पांच लोगों की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गयी थी. पांचों के परिजनों ने जहरीली शराब से मौत का आरोप लगाया था.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें