1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. siwan
  5. siwan sharab kand one died under suspicious circumstances in siwan one lost his eyesight liquor rdy

Bihar News: सीवान में संदिग्ध परिस्थिति में एक की मौत, एक ने गंवायी आंखों की रोशनी, गांव में मचा कोहराम

सीवान में संदिग्ध परिस्थिति में एक की मौत हो गयी है. वहीं एक व्यक्ति की आंखों की रोशनी चली गयी है. मृतक की पहचान मछौता गांव निवासी रामप्रीत यादव के 50 वर्षीय पुत्र परमात्मा यादव के रूप में हुई है.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
रोते-बिलखते परिजन
रोते-बिलखते परिजन
सोशल मीडिया

सीवान. दरौंदा थाना क्षेत्र के मछौता गांव में बुधवार की शाम में संदिग्ध परिस्थिति में एक व्यक्ति की मौत हो गयी. वहीं एक अन्य व्यक्ति गोरखपुर के एक निजी अस्पताल में आंखों की रोशनी गंवाने के बाद जिंदगी एवं मौत से जूझ रहा है. मृतक की पहचान मछौता गांव निवासी रामप्रीत यादव के 50 वर्षीय पुत्र परमात्मा यादव के रूप में हुई है. पीड़ित व्यक्ति खूबलाल यादव के 50 वर्षीय पुत्र पिंटू यादव की हालत गंभीर बनी हुई है. जिसका इलाज उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के एक निजी अस्पताल में चल रहा है. मृतक के परिजन शराब पीकर मरने की बात कह रहे है. इधर घटना की जानकारी के बाद दरौंदा थानाध्यक्ष कैप्टन शाहनवाज मौके पर पहुंच कर मामले की जांच कर रहे है.

मृतक के डेड बॉडी का पोस्टमार्टम कराया जायेगा

घटना की जानकारी होने पर एसपी शैलेश कुमार सिन्हा ने गंभीरता से लेते हुए कहा कि मृतक के डेड बॉडी का पोस्टमार्टम किया जायेगा. मृतक की पत्नी चिंता देवी ने बताया कि उनके पति परमात्मा यादव को मछौता गांव के कुछ लोगों ने मंगलवार की शाम जहरीली शराब पिला दी. रात में खाना खाकर विश्राम करने के लिए लेटे तो कुछ देर बाद उनकी तबीयत बिगड़ने शुरू हो गयी. मृतक की पत्नी ने बताया कि उनके शरीर लगातार चक्कर दे रहे था. उसे इलाज के लिए निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया़. जहां उसकी स्थिति बिगड़ती चली गयी. बताया जाता है कि बुधवार को परमात्मा यादव की मौत हो गयी. मृतक के परिजनों के अनुसार ये लोग नियमित शराब पीते थे.

दोषियों पर कार्रवाई करने की मांग

शराब पीने के बाद परमात्मा यादव की मृत्यु होने के बाद उनके परिजन शव को दरवाजे पर रखकर विलाप करने लगे. मृतक के परिजन दोषियों पर कार्रवाई की मांग कर रहे है. मृतक की मां पानमति देवी ने बताया कि मेरे लड़के परमात्मा यादव को पहले से कोई बीमारी नहीं थी. मंगलवार की शाम सात बजे गांव के ही जगदीश ने उसे जहरीली शराब पिला दी. उसके कुछ घंटों के बाद ही परमात्मा यादव की तबीयत खराब होना शुरू हो गया था. ग्रामीणों का आरोप था कि पुलिस स्थानीय जनप्रतिनिधि द्वारा परिजनों पर पोस्टमार्टम नहीं कराने के लिए दबाव बनाया जा रहा था.

नौ मार्च को ढेबर गांव में भी तीन लोगों की हुई थी मौत

नौ मार्च को दरौंदा थाने के ढेबर गांव में 12 घंटों में तीन लोगों की संदेहास्पद स्थिति में शराब पीने से मौत हो जाने के बाद गांव में अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया था. मृतकों में ढेबर गांव निवासी स्व. राम प्रसन्न मांझी के 65 वर्षीय पुत्र अवध किशोर मांझी, लालधर मांझी का 30 वर्षीय पुत्र कमलेश मांझी व स्व लाल मोहम्मद का पुत्र नूर मोहम्मद शामिल था. घटना की सूचना मिलते ही जब मीडिया कर्मी ढेबर गांव पहुंचे तो मृतक के परिजनों एवं ग्रामीणों ने बताया कि तीनों व्यक्तियों की मौत देसी शराब पीने से हुई है. प्रशासनिक व पुलिस अधिकारियों से मृतकों के परिजनों ने बीमारी के कारण पेट में दर्द होने से मौत का कारण बताया. ग्रामीणों का आरोप था कि स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने पुलिस कार्रवाई का भय दिखाकर जल्द अंतिम संस्कार करने पर परिजनों को मजबूर कर दिया था.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें