1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. siwan
  5. lockdown 20 bihar crime news update temple priest killed by crushing with brick and stone ruckus in siwan and saran

Lockdown 2.0 Bihar News : मंदिर की छत पर सो रहे महंत की ईंट-पत्थर से कूचकर हत्या, प्राचीन मूर्ति भी ले उड़े अपराधी

By Samir Kumar
Updated Date
घटना स्थल पर जांच करने पहुंचे एसडीपीओ जितेंद्र कुमार व अन्य
घटना स्थल पर जांच करने पहुंचे एसडीपीओ जितेंद्र कुमार व अन्य
Prabhat Khabar

सीवान : लॉकडाउन के दौरान भी बिहार में अपराधियों के हौसले बुलंद है. ताजा मामला सीवान जिले के सिसवन से जुड़ा है. जहां चैनपुर ओपी क्षेत्र के प्राचीन मेंहदार मंदिर क्षेत्र के हनुमानगढ़ी मंदिर की छत पर सो रहे महंत की अज्ञात अपराधियों ने बुधवार की रात्रि में ईंट-पत्थर से कूच कर हत्या कर दी. घटना को अंजाम देने के बाद अपराधियों ने मंदिर की प्राचीन नागेश्वर भगवान की अष्टधातु की मूर्ति सहित करीब आधा दर्जन अष्टधातु की लाखों रुपये की मूर्ति व जेवर लेते गये.

मृत महंत का नाम जोगिंदर शुक्ला उर्फ जनक दास सारण जिले के तरैया थाने के कैथर गांव निवासी सकल शुक्ला के पुत्र थे. घटना की जानकारी सुबह पांच बजे तब हुई जब महंत जी का शिष्य मंदिर पहुंचा. शिष्य ने घटना की जानकारी स्थानीय ग्रामीणों को दी. ग्रामीणों ने इसकी सूचना स्थानीय थाने को दिया.

मृत महंत का नाम जोगिंदर शुक्ला उर्फ जनक दास सारण जिले के तरैया थाने के कैथर गांव निवासी सकल शुक्ला के पुत्र थे. घटना की जानकारी सुबह पांच बजे तब हुई जब महंत जी का शिष्य मंदिर पहुंचा. शिष्य ने घटना की जानकारी स्थानीय ग्रामीणों को दी. ग्रामीणों ने इसकी सूचना स्थानीय थाने को दिया.

करीब 4:00 बजे सुबह में जब वह मंदिर पहुंचा तब मंदिर का मुख्य दरवाजा खुला था तथा सामान बिखरा पड़ा था. बिजली आयी, तो उसने मंदिर में महंत जी को नहीं पाया. इसके बाद उसने गांव के लोगों को सूचना दिया. शिष्य ने गांव के लोगों के सहयोग से महंत जी को मंदिर की छत पर मृत पाया.

शिष्य ने बताया कि महंत जी के सिर पर ईंट एवं पत्थर से प्रहार कर हत्या की हुई प्रतीत हो रही थी. उसने बताया कि मंडी की प्राचीन नागेश्वर भगवान की मूर्ति सहित लाखों रुपये मूल्य की अष्ट धातु की करीब आठ से 10 मूर्तियां अपराधी अपने साथ लेते गये हैं. मंदिर के करीब 100 गज की दूरी पर महंत जी के दूसरे शिष्य धनंजय मिश्रा का घर है. लेकिन, इतनी बड़ी घटना की जानकारी सुबह में हुई.

पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल को भेज दिया. एसडीपीओ जितेंद्र कुमार पांडे इस मामले को सुलझाने में जुटे हैं कि मामला डकैती के दौरान हत्या का है या किसी अन्य कारणों से महंत की हत्या कर घटना को डकैती के दौरान हत्या का रूप दिया गया है. महंत की हत्या के बाद पुलिस संदेह के आधार पर दो लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही हैं. इधर, छपरा से पहुंची डॉग स्क्वायड ने घटनास्थल स्थल का निरीक्षण किया, लेकिन कोई विशेष सफलता हाथ नहीं लगी.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें