1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. saharsa
  5. the in laws died for dowry police said get treatment first then write an fir asj

दहेज के लिए ससुरालवालों ने किया मरनासन्न, पुलिस ने कहा- पहले इलाज करा लो, फिर लिखेंगे प्राथमिकी

दहेज प्रताड़ना का एक मामला प्रकाश में आया है. पीड़िता थाने में मामला दर्ज कराने पहुंची, लेकिन पुलिस ने यह कहते हुए मामला दर्ज नहीं किया कि पहले इलाज करा लो फिर लेंगे आवेदन. कार्रवाई नहीं होने के कारण मौत से लड़ रही पीड़िता के परिजन दर दर भटक रहे है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
अपराध
अपराध
फाइल

सहरसा. दहेज प्रताड़ना का एक मामला प्रकाश में आया है. पीड़िता थाने में मामला दर्ज कराने पहुंची, लेकिन पुलिस ने यह कहते हुए मामला दर्ज नहीं किया कि पहले इलाज करा लो फिर लेंगे आवेदन. कार्रवाई नहीं होने के कारण मौत से लड़ रही पीड़िता के परिजन दर दर भटक रहे है.

जानकारी के अनुसार दहेज दानवों ने 35 वर्षीय अफसाना खातून से मारपीट की. इससे वो बुरी तरह जख्मी हो गयी है. गंभीर स्थिति को देख ससुराल पक्ष के लोग उसे घर छोड़कर फरार हो गया. आस पास के लोगों ने किसी प्रकार उसके मायके वालों को सूचना देकर बुलाया. आनन-फानन में जख्मी महिला को मधेपुरा अस्पताल ले गया, जहां डॉक्टरों ने बेहतर ईलाज के लिए उसे डीएमसीएच रेफर कर दिया है.

आर्थिक तंगी के कारण दरभंगा के बदले सहरसा सदर अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है. घटना के करीब 10 दिन बाद पुलिस ना तो जख्मी का फर्द बयान लेने आयी और ना ही आवेदन लेना मुनासिब समझा. अंत में थक हार कर पीड़िता न्याय के लिए एडवोकेट संगीता सिंह से मिलकर न्यायालय पहुंची.

पीड़ित महिला अफसाना खातून जो सदर थाना क्षेत्र के नियमा टोला वार्ड नंबर 15 की रहने वाली बतायी जा रही है. उसका ससुराल मधेपुरा जिले के तुनयाही सूखाशान है. ससुराल वाले उससे बार बार साढ़े तीन लाख रुपया और जमीन की मांग करते थे. नहीं देने पर जान से मारने की धमकी और दूसरी शादी कर लेने की बात कहते थे. पति मोहमद सुभान की डिमांड पूरा नहीं करने पर बीते 8.11.21 को ससुराल वालों ने महिला की पिटाई की, जिससे उसकी हालत गंभीर बन गयी है.

पीड़िता की भाई मोहम्मद मुबारक की माने तो दहेज के कारण उसकी बहन की यह हालत बना दी गयी है. उसने कहा कि हमलोग 6 महीने पहले 70 हजार रुपया बिजनेस के लिए दे दिए थे, इसके बाद भी मांग कम नहीं हुई. घटना को लेकर थाना गये तो थाना अध्यक्ष बोला कि पहले इलाज करवाओ तब आवेदन लेंगे.

इनपुट- मुकेश कुमार सिंह

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें