1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. purnea
  5. purnea students of khagaria engineering college in purnea create ruckus ksl

Purnea: पूर्णिया में खगड़िया इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्रों का बवाल, आगजनी कर जाम की पूर्णिया-भागलपुर सड़क

पूर्णिया में अपनी मांगों को लेकर मंगलवार को इंजीनियरिंग के छात्र सड़क पर उतर आये और टायर जलाकर प्रदर्शन किया.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Purnea: पूर्णिया में मांगों को लेकर प्रदर्शन करते खगड़िया राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्र.
Purnea: पूर्णिया में मांगों को लेकर प्रदर्शन करते खगड़िया राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्र.
प्रभात खबर

Purnea: पूर्णिया में अपनी मांगों को लेकर मंगलवार को इंजीनियरिंग के छात्र सड़क पर उतर आये और टायर जलाकर प्रदर्शन किया. सड़क पर आगजनी और बवाल से पूर्णिया-भागलपुर रोड पर काफी देर तक आवागमन ठप हो गया. बताया जाता है कि प्रदर्शनकारी सभी छात्र खगड़िया के राजकीय अभियंत्रण महाविद्यालय के हैं.

मालूम हो कि खगड़िया जिले के अलौली प्रखंड के रौन पंचायत में राजकीय अभियंत्रण महाविद्यालय का भवन निर्माण कार्य चल रहा है. इस कारण से राजकीय अभियंत्रण महाविद्यालय की पढ़ाई तत्काल रूप से पूर्णिया में संचालित की जा रही है. बताया जा रहा है कि प्रदर्शनकारी छात्रों की मांग है कि कॉलेज को अविलंब खगड़िया में संचालित किया जाये.

Purnea: पूर्णिया में मांगों को लेकर प्रदर्शन करते खगड़िया राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्र.
Purnea: पूर्णिया में मांगों को लेकर प्रदर्शन करते खगड़िया राजकीय इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्र.
प्रभात खबर

बताया जाता है कि खगड़िया राजकीय अभियंत्रण महाविद्यालय करीब आठ एकड़ में फैला है. इसके भवन निर्माण का कार्य साल जून 2020 में शुरू हुआ था. वहीं, भवन निर्माण के लिए समयसीमा करीब डेढ़ साल निर्धारित की गयी थी. लेकिन, अब भी भवन निर्माण का कुछ काम शेष है. इसलिए अब भी पूर्णिया में ही पढ़ाई संचालित की जा रही है.

करीब 73 करोड़ लागत से खगड़िया में राजकीय अभियंत्रण महाविद्यालय का भवन निर्माण कराया जा रहा है. लेकिन, भवन निर्माण कर रही कंपनी राजवीर कंस्ट्रक्शन एजेंसी कोरोना संक्रमण काल के कारण समय पर काम पूरा नहीं कर सकी. वहीं, अतिक्रमण के कारण भी काम पूरा करने में व्यवधान उत्पन्न हुआ. हालांकि, प्रशासनिक हस्तक्षेप के बाद अतिक्रमित भूमि कंपनी को सौंपी जा चुकी है.

कुल नौ भवनों वाले इंजीनियरिंग कॉलेज अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होगा. इसके लिए प्रशासनिक भवन, शैक्षणिक भवन, कार्यशाला भवन, छात्रावास के साथ-साथ प्राचार्य क्वॉर्टर का भी निर्माण कराया जा रहा है. टाइप-ए और टाइप-बी तीन-तीन मंजिला होंगी. वहीं, तृतीय और चतुर्थ वर्ग के कर्मियों के लिए भी क्वॉर्टर का निर्माण कराया जाना है. साथ ही पार्किंग की भी व्यवस्था होगी.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें