1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. purnea
  5. bihar news the liquor mafia tied the young man to the rail tracks in purnea leg cut off by the train caused uproar skt

बिहार में शराब माफिया ने युवक को रेल पटरी से बांधा, ट्रेन से कटा पैर, हंगामा

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
सड़क पर उतरी महिलाएं
सड़क पर उतरी महिलाएं
प्रभात खबर

पूर्णिया में शराब माफिया ने दुस्साहस का परिचय देते हुए एक युवक को रेल पटरी से बांध दिया. ट्रेन गुजरने से उस युवक का बायां पैर कट गया. देर रात हुई इस घटना के विरोध में सोमवार को सैकड़ों की तादाद में महिलाएं सड़क पर उतर आयीं और दीवानगंज चौक पर पूर्णिया-कटिहार मुख्यमार्ग को ठप कर दिया. घंटों मशक्कत के बाद भी पुलिस उग्र महिलाओं को समझाने में नाकाम रही. देर शाम तक हंगामा चलता रहा. इस संबंध में पूर्णिया सदर के एसडीपीओ आनंद कुमार पांडे ने बताया कि पीड़ित का पैर ट्रेन से कटा है. मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जा रही है.

शराब बनाने वाले धंधेबाजों ने मारपीट कर रेलवे पटरी में बांधा

पीड़ित उमेश सहनी के साथ गांव के शराब बनाने वाले धंधेबाजों ने पहले बेरहमी के साथ मारपीट की. फिर उसे रेलवे पटरी में बांध दिया था. घटना के बाद परिजनों को सूचना मिली तो उसे उठा कर उपचार के लिये अस्पताल ले गये. घायल उमेश साहनी ने परिजनों को बताया कि आरोपितों ने उसे जबरन शराब पिलायी. फिर उसे रेलवे पटरी में बांध दिया.

आक्रोशित भीड़ ने मुख्यमार्ग को अवरुद्ध किया

इस घटना को लेकर सुबह में लोग आक्रोशित हो गये और महिलाओं के साथ मुख्यमार्ग को अवरुद्ध कर दिया. हंगामे की सूचना मिलने पर सदर एसडीपीओ आनंद कुमार पांडे, मुफस्सिल थानाध्यक्ष आदित्य कुमार, बीडीओ अजय कुमार, एक्साइज इंस्पेक्टर सुमन कांत झा पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गये. स्थानीय जनप्रतिनिधियों के सहयोग से महिलाओं को समझाने का प्रयास किया मगर देर शाम तक हंगामा बदस्तूर जारी रहा.

उग्र महिलाओं ने धंधेबाजों के घरों पर बोला धावा, दर्जनों गैलन शराब की नष्ट

आक्रोशित महिलाओं ने शराब बनानेवालों की बस्ती पर धावा बोल दिया. जिन टोलों में शराब बनाया व बेचा जा रहा था, उन टोलों के प्रत्येक घर पर जाकर देशी शराब के सैकड़ों गैलन घर से बरामद किया. फिर दीवानगंज चौक पर रख कर सभी शराब के गैलन को नष्ट किया. महिलाओं ने आरोप लगाया कि एक्साइज विभाग की टीम और मुफस्सिल थाना की टीम गांव में देशी शराब के विरुद्ध छापामारी अभियान चलाती है. कितने ही शराब को नष्ट भी करती है. कई लोगों को पकड़ कर भी ले जाती है पर पैसा लेकर छोड़ भी देती है. इसके कारण धड़ल्ले से देशी शराब का कारोबार किया जा रहा है.

धड़ल्ले से फल फूल रहा है शराब का कारोबार

महिलाओं ने बताया कि एक बार पूर्व में भी जीविका दीदी ने सैकड़ों गैलन देशी शराब को जब्त कर मुख्य सड़क को जाम किया था. उस वक्त प्रशासन ने आश्वासन दिया था कि अब इस गांव में शराब नहीं बनेगी. यह कहने पर जाम तोड़ा गया था. लेकिन प्रशासन का आश्वासन कोरा साबित हुआ. शराब का कारोबार धड़ल्ले से फल फूल रहा है.

Posted by: Thakur Shaktilochan

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें