1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. weapons were being manufactured under the guise of gun factory chapakal factory found in khusroopur and khagaria asj

खुसरूपुर व खगड़िया में मिली गन फैक्टरी, चापाकल फैक्टरी की आड़ में बन रहे थे हथियार

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
हथियार
हथियार
प्रभात खबर

पटना : पटना जिले के खुसरूपुर व खगड़िया के मुफस्सिल थाना क्षेत्र में अवैध रूप से चल रही मिनी गन फैक्टरी का खुलासा हुआ है. एसटीएफ के साथ स्थानीय पुलिस की छापेमारी के दौरान टीम ने दोनों जगहों से 49 अर्धनिर्मित पिस्टल, भारी मात्रा में बंदूक बनाने का कच्चा माल बरामद किया गया है. साथ ही मौके पर 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया. एसटीएफ के अनुसार खुसरूपुर थाने के इशोपुर गांव से 21 अर्धनिर्मित पिस्टल, एक लेथ मशीन, तीन मिलिंग मशीन, एक ड्रिल मशीन के साथ भारी मात्रा में बंदूक बनाने वाला कच्चा माल बरामद किया गया है.

एक साल से चल रहा था कारोबार

जानकारी के अनुसार यहां चापाकल फैक्टरी की आड़ में मिनी गन फैक्टरी चल रही थी और उसमें हथियार बनाये जा रहे थे. बताया जाता है कि फैक्टरी को चापाकल बनाने के नाम पर एक साल पहले खोला गया था. यहां से एसटीएफ ने चार लोगों की गिरफ्तारी की है. वहीं, खगड़िया के मुफस्सिल थाना क्षेत्र से छापेमारी के दौरान 28 सेट अर्धनिर्मित पिस्टल, दो मिलिंग मशीन, एक लेथ व एक ड्रिल मशीन के साथ भारी मात्रा में बंदूक बनाने का कच्चा माल को बरामद किया गया है. यहां से छह लोगों की गिरफ्तारी की गयी है.

गुप्त सूचना पर हो रही थी रेकी

एसटीएफ गुप्त सूचना के आधार पर बीते कई दिनों से इन जगहों की रेकी कररहा था. जानकारी के अनुसार यहां से बंदूक बना कर राज्य व राज्य के बाहर भीसप्लाइ की जाती थी. खुसरूपुर से गिरफ्तार किये गये मोहम्मद मनुवर, मोहम्मदइमरान, मोहम्मद सोनू, मोहम्मद सकील सभी मुंगेर के हजरतगंज बारा केकासिम बाजार के रहने वाले हैं. यह फैक्टरी खुसरूपुर थाना क्षेत्र के पैगंबरपुरनिवासी मधुसूदन यादव की जमीन पर चल रही थी.

मुंगेर जिले के थे बंदूक बनाने वाले

खुसरूपुर में बंदूक बनाने वाले सभी मुंगेर जिले के निवासी हैं. वहीं, खगड़िया मेंगिरफ्तार सभी छह लोग-संतोष कुमार शर्मा, मोहम्मद अरमान, मोना, मोहम्मद मिराज, मोहम्मद सलिम और अनिल कुमार शर्मा भी मुंगेर जिले के रहने वाले हैं.फिलहाल पुलिस गिरफ्तार किये गये कारीगरों से कड़ी पूछताछ कर सरगना तक पहुंचने की कवायद में जुटी है. गिरफ्तार कारीगरों के बयान के बाद ही पूरे मामले का खुलासा हो सकेगा.

posted by ashish jha

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें