1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. the number of roads increase in seven big cities of bihar master plan for next 20 years made in six months asj

बिहार के सात बड़े शहरों में बढ़ेगी सड़कों की संख्या, छह माह में बनेगा अगले 20 साल का मास्टर प्लान

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
सांकेतिक
सांकेतिक
फाइल

पटना. अगले 20 साल तक राज्य के सात बड़े शहरों के विकास को ध्यान में रखकर वहां सड़कों की संख्या बढ़ाने के लिए अगले छह महीने में मास्टर प्लान तैयार किया जायेगा. वहीं, बिहिया-जगदीशपुर-पीरो-बिहटा, अमरपुर-अकबरनगर, घोंघा-पंजवारा, उदाकिशनगंज-भटगावां, कादिरगंज-खैरा सड़कों का निर्माण मई तक पूरा कर लिया जायेगा.

दीघा-रोटरी का काम 15 मार्च तक और दीघा-एएन सिन्हा संस्थान गंगा पाथ-वे जुलाई तक पूरा हो जायेगा. गया-राजगीर-बिहारशरीफ एनएच-82 का काम इस साल पूरा हो जायेगा. कच्ची दरगाह-बिदुपुर पुल 2022 तक बन जायेगा. साथ ही बख्तियारपुर-ताजपुर सड़क का फिर से टेंडर होगा.

एमजी सेतु के समानांतर नये फोरलेन पुल का निर्माण जल्द शुरू होगा. यह जानकारी नये पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने बीएसआरडीसीएल सहित विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक के बाद संवाददाता सम्मेलन में दी. इस दौरान अपर मुख्य सचिव अमृत लाल मीणा भी मौजूद थे.

अगले 20 साल की कार्ययोजना बनेगी

मंत्री नितिन नवीन ने कहा कि बड़े शहरों में आने-जाने के लिए केवल एक ही मुख्य सड़क है. ऐसे में बेहतर यातायात की सुविधा के लिए सड़कों की संख्या बढ़ाने की जरूरत है. इसके लिए अगले 20 साल में शहरों के विकास को ध्यान में रखकर सड़कों की संख्या बढ़ाने के लिए बिहार रोड मास्टर प्लान तैयार किया जायेगा. इसमें 20 साल की कार्ययोजना बनायी जायेगी. फिलहाल बड़े शहरों में पटना, भागलपुर, मुजफ्फरपुर, कटिहार, गया, दरभंगा और मोतिहारी मुख्य रूप से शामिल हैं. पटना के लिए विशेष कार्ययोजना बनेगी.

इंजीनियरों को निर्माण स्थल पर रोजाना जाने का निर्देश

विभागीय अधिकारियों और अभियंताओं को मंत्री नितिन नवीन ने परियोजना स्थल का फील्ड विजिट करने का निर्देश दिया. इसका मकसद समय पर निर्माण कार्य पूरा करवाकर राज्य के किसी भी कोने से पांच घंटे में पटना पहुंचना है.

उन्होंने वरीय अभियंताओं को सप्ताह में कम से कम दो बार, जीएम स्तर के अधिकारियों को सप्ताह में एक बार फील्ड विजिट करने का निर्देश दिया. कोविड-19 के कारण केंद्र ने ठेकेदारों को कुछ रियायत देने की घोषणा की है. उसे लागू करने का प्रस्ताव बनाया जा रहा है, जिससे ठेकेदारों को वित्तीय मदद मिल सके.

बख्तियारपुर-ताजपुर सड़क का फिर से होगा टेंडर

पथ निर्माण मंत्री ने कहा कि बख्तियारपुर-ताजपुर फोरलेन सड़क निर्माण में कई समस्याएं थीं. इसका निर्माण नवयुगा कंपनी करवा रही थी, लेकिन दो साल से काम बंद था. इस कंपनी के साथ काम करने में कई समस्याएं थीं, ऐसे में इस सड़क का फिर से टेंडर कर निर्माण एजेंसी का चयन किया जायेगा. गौरतलब है कि यह सड़क करीब 10 साल से निर्माणाधीन है.

इसी साल शुरू होगा यातायात

नितिन नवीन ने बताया कि बिहार राज्य पथ विकास निगम लिमिटेड (बीएसआरडीसीएल) की योजनाओं में से सात सड़कों का निर्माण इस साल पूरा कर यातायात शुरू हो जायेगा. इनमें पटना में गंगा पाथ-वे के पहले चरण का काम जुलाई तक पूरा हो जायेगा. इसमें दीघा से एएन सिन्हा संस्थान तक करीब 5.9 किमी लंबाई में सड़क बन जायेगी. इसके अलावा बिहिया-जगदीशपुर-पीरो-बिहटा, अमरपुर-अकबरनगर, घोंघा-पंजवारा, उदाकिशनगंज-भटगावां, कादिरगंज-खैरा सड़कों का निर्माण मई तक पूरा हो जायेगा.

Posted by Ashish Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें