1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. tej pratap yadav met his father said raghuvansh uncle is our guardian lalu said take caution in making a statement ksl

तेज प्रताप यादव ने पिता से की मुलाकात, कहा- रघुवंश चाचा हमारे अभिभावक, लालू बोले- बयान देने में बरतें सावधानी

By Agency
Updated Date
लालू प्रसाद यादव से मुलाकात के पहले कोविड-19 टेस्ट कराते तेज प्रताप यादव
लालू प्रसाद यादव से मुलाकात के पहले कोविड-19 टेस्ट कराते तेज प्रताप यादव
सोशल मीडिया

रांची : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद के बड़े पुत्र तेज प्रताप यादव ने गुरुवार को यहां अपने पिता से मुलाकात की और कहा कि रघुवंश प्रसाद सिंह उनके अभिभावक हैं और वह किसी से नाराज नहीं हैं. लालू प्रसाद यादव चारा घोटाला मामले में चौदह वर्ष की कैद की सजा पाने के बाद न्यायिक हिरासत में यहां रिम्स में भर्ती हैं.

लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे एवं बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप आज यहां रिम्स निदेशक के बंगले में यह मुलाकात की. उन्होंने लगभग ढाई घंटे की मुलाकात के बाद बंगले से बाहर निकलते हुए कहा, ''रघुवंश चाचा (रघुवंश प्रसाद सिंह) नाराज नहीं हैं. वह हमारे अभिभावक हैं. रघुवंश चाचा से लगातार बातचीत हो रही है.''

तेज प्रताप अपराह्न लगभग डेढ़ बजे लालू प्रसाद से मिलने पहुंचे. उनकी कोरोना वायरस संक्रमण के लिए रैपिड एंटीजेन जांच की गयी, जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उन्हें मिलने की अनुमति दी गयी. राजद के सूत्रों के अनुसार लालू प्रसाद ने तेज प्रताव से स्पष्ट तौर पर कहा कि बिहार चुनाव के समय कोई भी बयान देने में वह सावधानी बरतें.

मालूम हो कि लोजपा के टिकट पर वैशाली से 2014 का लोकसभा चुनाव जीतनेवाले रामा किशोर सिंह को राजद में शामिल किये जाने की तैयारी को देखते हुए रघुवंश प्रसाद सिंह ने राजद के उपाध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था. रामा किशोर सिंह ने 2014 में रघुवंश प्रसाद सिंह को ही वैशाली में पराजित किया था.

इस बीच, तेज प्रताप के साथ रिम्स पहुंचने पांच दर्जन गाड़ियों के काफिले से वहां जाम लग गया. इसके बाद आम लोगों ने राजद नेताओं का जमकर विरोध किया और रिम्स परिसर में आम लोगों और राजद नेताओं के बीच झड़प हो गयी. बाद में पुलिस ने वहां पहुंच कर राजद नेताओं की सड़क के बीच में खड़ी गाड़ियों को हटवाया जिससे स्थिति सामान्य हुई.

भाजपा के प्रवक्ता प्रतुल शाहदेव ने मुख्यमंत्री से इस मामले में हस्तक्षेप करके राजद नेताओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग की और कहा कि तेज प्रताप और अन्य राजद नेताओं ने आपदा प्रबंधन अधिनियम के प्रावधानों का खुला उल्लंघन किया है, लिहाजा उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें