1. home Hindi News
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. sarkari naukri 2020 recruitment process changed in helath hepartment in the hospitals of bihar nurse job vacancy will be in bihar soon read more about job alert in hindi today as bihar latest news today

Sarkari Naukri 2020 : बिहार के अस्पतालों में नर्स सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मियों की बहाली प्रक्रिया में बड़ा बदलाव, पहले चरण में 16 जिलों के अंदर नर्सों की नियुक्ति...

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
सांकेतिक फोटो
सांकेतिक फोटो
Twitter

पटना : कर्मचारी राज्य बीमा निगम के अस्पतालों में नर्स सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मियों की बहाली अब श्रम संसाधन विभाग खुद करेगा. इसको लेकर बहुत जल्द विभाग खाली पदों की संख्या तकनीकी आयोग को अपना प्रस्ताव भेजेगा और उसी के अनुसार विभाग को स्वास्थ्य कर्मी मिलेंगे. अब तक श्रम संसाधन विभाग के अधीन इएसआइसी अस्पतालों को स्वास्थ्य विभाग से प्रतिनियुक्ति के तौर पर नर्स और कर्मी मिलते थे.

यह हो रही है परेशानी

तकनीकी आयोग बनने के बाद सभी विभागों में खाली पदों के हिसाब से बहाली का निर्णय संबंधित विभाग को ही लेने के लिये कहा गया है. इस कारण स्वास्थ्य विभाग ने श्रम संसाधन को प्रतिनियुक्ति पर स्वास्थ्य कर्मी देना बंद कर दिया. साथ ही प्रतिनियुक्ति में विभाग को कम कर्मी मिला करते थे. जिससे मजदूरों का इलाज प्रभावित होता था. ऐसी स्थिति में श्रम संसाधन ने अपने नियमावली में बदलाव कर सीधी बहाली का निर्णय लिया है. इसके लिए आवश्यक संशोधन कर कैडर बनाने का काम शुरू कर दिया गया है.

बीते विधान मंडल के मानसून सत्र में मिली मंजूरी

विभाग ने इसकी शुरुआत नर्सों से की है. एएनएम, जीएनएम के लिए नियमावली में संशोधन कर कैडर बना दिया है. बीते विधान मंडल के मानसून सत्र में इसकी मंजूरी भी मिल गयी.इसके बाद सरकार ने इसे गजट के रूप में भी प्रकाशित कर दिया है.

पहले चरण में 75 नर्सो की बहाली

विभागीय अधिकारियों के अनुसार पहले चरण में 75 नर्सों की बहाली का प्रस्ताव भेजा जा रहा है. विभाग ने इसका रोस्टर क्लीयरेंस करा लिया है. तकनीकी आयोग को आज-कल में प्रस्ताव भेजा जायेगा. आयोग से मिले नर्सों को विभाग के अधीन 16 जिले के 17 अस्पतालों में योगदान कराया जायेगा. आने वाले दिनों में डॉक्टर सहित अन्य स्वास्थ्य कर्मियों की बहाली की जायेगी. इन अस्पतालों में ही बीमा वाले लाखों मजदूरों का इलाज हुआ करता है. विभाग को उम्मीद है कि इस बदलाव का लाभ मजदूरों को इलाज में मिलेगा.

Posted by : Thakur Shaktilochan Shandilya

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें