1. home Home
  2. state
  3. bihar
  4. patna
  5. public expressed confidence in new faces 19 out of 27 chiefs could not save seats rdy

Bihar Panchayat Chunav Result: नए चेहरों पर जनता ने जताया भरोसा, 27 में से 19 मुखिया नहीं बचा पाये सीट

Bihar Panchayat Chunav Result महुली पंचायत से संजू देवी मुखिया पद पर विजेता रहीं. उन्हें कुल 2118 वोट मिले. उन्होंने कुमारी सरोज सिंह को हराया है, जिन्हें 1572 वोट आये थे. फतेहपुर पंचायत में शीखा देवी मुखिया बनी हैं उन्हें 3074 वोट मिले.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
Bihar Panchayat Chunav
Bihar Panchayat Chunav
Prabhat Khabar

Bihar Panchayat Chunav Result: पटना सदर की सात, फुलवारीशरीफ की 14 और दनियावां की छह पंचायतों के लिए 15 नवंबर को हुई वोटिंग की काउंटिंग 17 नवंबर को की गयी. फुलवारीशरीफ में ज्यादातर पुराने मुखिया अपनी सीट नहीं बचा पाये. दनियावां में तो मात्र एक निवर्तमान ही जीत सके. यही हाल पटना सदर का भी रहा. यहां सात में से पांच पुराने मुखिया को हार का सामना करना पड़ा. फुलवारीशरीफ की गोनपुरा पंचायत से रिवाल्वर रानी के नाम से मशहूर मुखिया आभा देवी चुनाव हार गयी हैं, उन्हें प्रमोद ने हराया.

पटना सदर प्रखंड में कहीं 300 तो कहीं 1300 के अंतर से जीतकर मुखिया बने. सबलपुर पंचायत में मो मसूर आलम मुखिया पद पर विजेता बने हैं, उन्हें कुल 2806 वोट आये हैं. उन्होंने राजू साव को हराया है जिन्हें 1468 वोट ही आये. महुली पंचायत से संजू देवी मुखिया पद पर विजेता रहीं. उन्हें कुल 2118 वोट मिले. उन्होंने कुमारी सरोज सिंह को हराया है, जिन्हें 1572 वोट आये थे. फतेहपुर पंचायत में शीखा देवी मुखिया बनी हैं उन्हें 3074 वोट मिले. उन्होंने 2080 वोट लाने वाली मंजू देवी को हराया है. सोनावा पंचायत में भीम रविदास मुखिया बने हैं, जिन्हें 3280 वोट मिले हैं.

भीम रविदास ने 1905 वोट लाने वाले प्रमोद दास को चुनाव में हराया है. पूनाडीह पंचायत में मनोज कुमार मुखिया चुने गये हैं. उन्हें 2229 वोट मिले. पारस नाथ सिंह को हराया है. मरची पंचायत में परिमल कुमार राय मुखिया चुने गये हैं, उन्हें 1693 वोट मिले हैं. उन्होंने 1375 वोट लाने वाले मंटू कुमार को हराया है. नकटा दियारा पंचायत से राम अवधेश सिंह यादव विजेता रहे हैं, उन्हें 2360 वोट मिले. उन्होंने इस पंचायत में 1373 वोट लाने वाले मनोज प्रसाद को हराया है.

फुलवारीशरीफ. 14 पंचायतों में 9 मुखिया को हार का सामना करना पड़ा है, जबकि पांच ही सीट बचा पाये. मैनपुर अंदा पंचायत से वर्तमान मुखिया सुनीता देवी को हरा सुनील कुमार 365 वोट से विजय हुए. रामपुर फरीदपुर पंचायत से नीरज कुमार दोबारा मुखिया बने. कोरियावां पंचायत से देवंती देवी मुखिया निर्वाचित हुईं. सोरमपुर पंचायत में 620 वोट से मंजू देवी मुखिया निर्वाचित हुईं. सुधीर कुमार उर्फ प्रमोद कुमार आलमपुर गोनपुरा पंचायत से मुखिया चुने गये. प्रमोद ने रिवाल्वर रानी से मशहूर मुखिया आभा देवी को हराया. भुसौला दानापुर से निमिता देवी मुखिया निर्वाचित घोषित हुईं.

नोहसा पंचायत से जीत का सेहरा गुलअफ्शां परवीन के सिर बंधा है. कुरकुरी पंचायत से रवि कुमार लगातार दूसरी बार मुखिया निर्वाचित हुए. वहीं कुरथौल पंचायत से भी गीता देवी लगातार दूसरी बार मुखिया निर्वाचित हो गयी. इधर परसा पंचायत से सुजीत कुमार भी लगातार दूसरी बार निर्वाचित हुए. सुइथा पंचायत से अमित रंजन पिंकू मुखिया निर्वाचित हुए. सुईथा में निकटतम प्रतिद्वंद्वी गौरव कुमार को 13 मतों से हार का मुंह देखना पड़ा. ढिबड़ा पंचायत से सौरभ कुमार मुखिया निर्वाचित हुए. सबसे अंत मे सकरैचा से मंटू कुमार मुखिया निर्वाचित घोषित किये गये. यहां सौरभ कुमार दूसरे नंबर पर रहे जबकि संतोष कुमार तीसरे नंबर पर चले गये.

दनियावां में छह में पांच निवर्तमान मुखिया हारे

पटना सदर की सात, फुलवारीशरीफ की 14 और दनियावां की छह पंचायतों के लिए 15 नवंबर को हुई वोटिंग का रिजल्ट आ गया. इन तीनों प्रखंडों में ज्यादातर नये चेहरे ही चुने गये हैं. पटना सदर की सात पंचायतों में सिर्फ दो के मुखिया ही अपनी सीट बचा पाये. दनियावां में तो सिर्फ एक निवर्तमान मुखिया को जीत मिली. यहां की छह पंचायतों में से पांच में नये चेहरे चुने गये हैं. इसी तरह फुलवारीशरीफ में 14 में 9 निवर्तमान मुखिया चुनाव हार गये हैं.

विस अध्यक्ष के भांजे की पत्नी बनी जिप सदस्य : लखीसराय के जिला पर्षद निर्वाचन क्षेत्र संख्या तीन से विधानसभा अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा के भांजे सह भाजपा नेता हिमांशु कुमार की पत्नी चुनचुन देवी चुनाव जीत गयी हैं. सांसद दिनेश चंद्र के भाई बने बीडीसी सदस्य : सांसद दिनेश चंद्र यादव के भाई रमेश यादव पंचायत समिति सदस्य निर्वाचित हुए हैं. सहरसा के बनमा इटहरी प्रखंड क्षेत्र संख्या पांच से रमेशचंद्र यादव ने 324 मतों से जीत दर्ज की.

सांसद महाबली सिंह के बेटे व पूर्व मंत्री ब्रजिकशोर के भाई बृजकशोर हारे

पंचायत चुनाव के सातवें चरण में कई दिग्गजों के रिश्तेदारों को हार का सामना करना पड़ा. काराकाट से जदयू सांसद महाबली सिंह के बेटे धर्मेंद्र सिंह भगवानपुर पंचायत से और पूर्व मंत्री बृजकशोर बिंद के भाई लालबहादुर बिंद मोकरम पंचायत से मुखिया पद का चुनाव हार गये. फणीश्वरनाथ रेणु की बहू वीणा राय भी हारीं अररिया जिले की औराही पश्चिम पंचायत से फणीश्वरनाथ रेणु की बहू और भाजपा के पूर्व विधायक पद्मपराग वेणु की पत्नी वीणा राय मुखिया का चुनाव हार गयीं. वह तीसरे नंबर पर रहीं. यहां से साजदा खातून ने गीता देवी को 770 मतों से हरा दिया.

Posted by: Radheshyam Kushwaha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें